Pages Navigation Menu

Breaking News

संघ कार्यालय पर संघी-कांग्रेसियों ने फहराया तिरंगा
पंपोर में मुठभेड़ में तीनों आतंकवादी मारे गए  
वाराणसी में केजरीवाल को दिखाए काले झंडे

मोदी मंत्रिमंडल में फेरबदल के संकेत

modi-amit-shah-social1कैबिनेट विस्तार की संभावनाओं को आज (31 अगस्त) तब और बल मिला जब वित्त मंत्री ने पत्रकारों को कहा कि अब वो ज्यादा दिन तक रक्षा मंत्री नहीं रहने वाले हैं। बता दें कि मनोहर पर्रिकर के गोवा के मुख्यमंत्री बनने के बाद अरुण जेटली पर रक्षा मंत्रालय का भी जिम्मा है। सूत्रों के मुताबिक उनसे एक या दो मंत्रालयों का जिम्मा लेकर उनका भार कम किया जा सकता है। इस बीच बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को भी लेकर अफवाहों का बाजार गरम है। कयास लगाये जा रहे हैं कि अमित शाह 2019 के आम चुनाव से पहले सरकार में शामिल हो सकते हैं। इस बीच अमित शाह ने कैबिनेट में फेरबदल और गुजरात चुनाव को लेकर गुरुवार 31 अगस्त को आठ केन्द्रीय मंत्रियों से मुलाकात की। इनमें वरिष्ठ मंत्री एवं गुजरात के चुनाव प्रभारी अरूण जेटली के अलाव केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, पी पी चौधरी, जितेन्द्र सिंह, निर्मला सीतारमण शामिल हैं । बैठक में संगठन मंत्री रामलाल एवं वरिष्ठ नेता भूपेन्द्र यादव भी मौजूद थे।

केन्द्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल की संभावनाओं के तार अब तिरुपति बालाजी से जुड़ गये हैं। दरअसल राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शुक्रवार (1 सितंबर) और शनिवार को तिरुपति बाला जी के दौरे पर हैं। यहां शुक्रवार को राष्ट्रपति श्री वेंकटेश्वरा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस और श्री पद्मावती मेडिकल कॉलेज फॉर वूमेन की नयी बिल्डिंग का उद्घटान करेंगे। 3 सितंबर यानी कि रविवार को दिल्ली लौटने से पहले राष्ट्रपति तिरुमाला में श्री वराहस्वामी मंदिर में पूजा अर्चना करेंगे। इसलिए केन्द्रीय कैबिनेट में विस्तार या तो शनिवार शाम या फिर रविवार सुबह को हो सकता है। रेडिफ डॉट कॉम के मुताबिक ये जानकारी पीएमओ दफ्तर से मिली है। रविवार दोपहर बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 3 से 5 सितंबर तक के लिए ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने जा रहे हैं।

1. मोदी और शाह अच्छा परिणाम देने वाले मंत्रियों पर दांव खेल सकते हैं ताकि सरकार के बचे दो साल में ज्यादा से ज्यादा काम को अंजाम दिया जा सके. सूत्रों के मुताबिक परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को बड़ी भूमिका दी जा सकती है.

2. एआईएडीएमके बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए का हिस्सा बन सकती है और उसे केंद्रीय मंत्रिमंडल में एक कैबिनेट मंत्री सहित तीन सीटें ऑफर की जा सकती हैं.

3 जनता दल यूनाइटेड ने भी एनडीए में शामिल होने का ऐलान कर दिया है. उसे दो सीटें दी जा सकती हैं. चूंकि ये दोनों मंत्री बिहार के होंगे, इसलिए इस राज्य के दूसरे मंत्रियों को बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है.

4. एनडीए के कुछ वरिष्ठ मंत्रियों को राज्यपाल बनाकर भेजा जा सकता है. सूत्रों के मुताबिक इस समय राज्यपाल के छह पद खाली हैं, जिन्हें भरने के लिए उम्रदराज हो चुके मंत्रियों को आगे किया जा सकता है.

 5. पिछले महीने वेंकैया नायडू केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा देकर उपराष्ट्रपति चुने गए. उनके शहरी आवास मंत्रालय को एक वरिष्ठ मंत्री की दरकार है.

6. नायडू के शहरी विकास और आवास तथा गरीबी उन्मूलन मंत्रालय को ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को सौंपा गया है जबकि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी को मिला है.

7. तोमर और ईरानी के साथ-साथ वित्त मंत्री अरुण जेटली और विज्ञान एवं तकनीकी मंत्री हर्षवर्धन भी अतिरिक्त विभागों के प्रभार संभाल रहे हैं.

8. जेटली को मनोहर पर्रिकर के गोवा वापस लौटने के बाद रक्षामंत्री बनाया गया था तथा हर्षवर्धन को अनिल माधव दवे के निधन के बाद पर्यावरण मंत्रालय सौंपा गया था.

9. कर्नाटक जैसे राज्य जहां जल्द ही चुनाव होने हैं, वहां का प्रतिनिधित्व मंत्रिमंडल में बढ़ाया जा सकता है.

10. मोदी सरकार के कार्यकाल का ये तीसरा मंत्रिमंडल फेरबदल है. इसे लेकर पीएम मोदी, अमित शाह और आरएसएस के बीच लगातार मंथन हुआ है.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *