Pages Navigation Menu

Breaking News

सीबीआई कोर्ट ;बाबरी विध्वंस पूर्व नियोजित घटना नहीं थी सभी 32 आरोपी बरी

कृष्ण जन्मभूमि विवाद- ईदगाह हटाने की याचिका खारिज

सिनेमा हॉल, मल्टीप्लैक्स, इंटरटेनमेंट पार्क 15 अक्टूबर से खोलने की इजाजत

पीएम नरेंद्र मोदी ने किया तीन कोविड हाईटेक लैब का उद्घाटन

MODIनई दिल्‍ली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार शाम देश के तीन प्रमुख शहरों में वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए कोरोना हाईटेक टेस्टिंग सेंटरों का उद्घाटन किया। पीएम मोदी का कहना था कि नोएडा, मुंबई और कोलकाता में बनी ये हाईटेक लैब न केवल कोरोना से बल्कि दूसरी बीमारियों के खिलाफ जंग में भी मददगार साबित होंगी। पीएम ने भरोसा दिलाते हुए कहा कि देश के वैज्ञानिक कोरोना की असरदार वैक्‍सीन बनाने पर तेजी से काम कर रहे हैं।प्रधानमंत्री ने कहा, ‘दिल्‍ली-एनसीआर, मुंबई और कोलकाता आर्थिक गतिविधियों के सेंटर हैं। यहां देश के लाखों युवा अपने करियर, अपने सपनों को पूरा करने आते हैं। अब तीनों जगह टेस्‍ट की उपलब्‍ध क्षमता में 10 हजार टेस्‍ट की क्षमता और जुड़ने जा ही है।’

दूसरी बीमारियों के इलाज में भी मददगार
इन क्षेत्रों में हाईटेक लैब की स्‍थापना पर मोदी ने कहा, ‘अब इन शहरों में टेस्‍ट ओर ज्‍यादा हो सकेंगे। ये हाईटैक लैब सिर्फ कोरोना तक ही सीमित नहीं हैं बल्कि, हेपेटाइटिस बी, हेपेटाइटिस सी, एचआईवी और डेंगू सहित दूसरी बीमारियों के लिए भी यहां सुविधा उपलब्‍ध होगी।आज जिन कोरोना की हाइटेक टेस्टिंग लैब का उद्घाटन हुआ है उससे यूपी, महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल को काफी फायदा होगा।’

‘सही समय पर सही फैसले के नतीजे बेहतर’
इन सेंटरों की स्‍थापना पर आईसीएमआर और दूसरी संस्‍थाओं के विशेषज्ञों केा बधाई देते हुए मोदी ने कहा, ‘देश में जिस तरह सही समय पर सही फैसले लिए गए आज उसी का परिणाम है कि भारत अन्‍य देशों के मुकाबले काफी बेहतर हालत में। देश में कोरोना से होने वाली मौतें काफी काम हैं। वहीं रिकवरी रेट अन्‍य देशों के मुकाबले बहुत ज्‍यादा है और दिनोंदिन उसमें सुधार हो रहा है। भारतमें कोरोना से स्‍वस्‍थ होने वाले मरीजों की संख्‍या करीब 10 लाख पहुंचने वाली है।’

‘देश में 11 लाख से ज्‍यादा आइसोलेशन बेड’
मोदी का कहना था कि कोरोना के खिलाफ इस बड़ी और लंबी लड़ाई के लिए जरूरी था देश में तेजी के साथ कोरोना से जुड़ी बुनियादी सुविधाएं तैयार हों। इसलिए केंद्र ने शुरू में ही 15 हजार करोड़ रुपये के पैकेज का ऐलान किया था। इसी के कारण चाहे आइसोलेशन सेंटर हो, कोविड स्पेशल हॉस्पिटल हो, टेस्टिंग, ट्रेसिंग और ट्रैकिंग से जुड़ा नेटवर्क हो, भारत ने बहुत ही तेज़ गति से अपनी क्षमताओं का विस्तार किया। आज भारत में 11 हजार से ज्यादा कोविड फसिलिटिज हैं, 11 लाख से ज्यादा आइसोलेशन बेड हैं।’कोरोना महामारी के खिलाफ देश की उपलब्धियों को जिक्र करते हुए मोदी ने कहा, ‘जनवरी में हमारे पास कोरोना के टेस्ट के लिए जहां मात्र एक सेंटर था, आज करीब 1300 लैब्स पूरे देश में काम कर रही हैं। आज भारत में 5 लाख से ज्यादा टेस्ट हर रोज हो रहे हैं। आने वाले हफ्तों में इसको 10 लाख प्रतिदिन करने की कोशिश हो रही है।’

कोरोना के खिलाफ भारत की सक्‍सेस स्‍टोरी
उन्‍होंने आगे कहा, ‘कोरोना महामारी के दौरान हर कोई सिर्फ एक ही संकल्प के साथ जुटा है कि एक-एक भारतीय को बचाना है। इस संकल्प ने भारत को हैरतअंगेज परिणाम दिए हैं। विशेषकर पीपीई, मास्क और टेस्ट किट्स को लेकर भारत ने जो किया, वो एक बड़ी सक्‍सेस स्‍टोरी है।”सिर्फ 6 महीना पहले देश में एक भी पीपीई किट निर्माता नहीं था। आज 1200 से ज्यादा निर्माता हर रोज 5 लाख से ज्यादा पीपीई किट बना रहे हैं। एक समय भारत N-95 मास्क भी बाहर से ही मंगवाता था। आज भारत में 3 लाख से ज्यादा N-95 मास्क हर रोज बन रहे हैं।’

‘तैयार हुआ देश में विशाल मानव संसाधन’
एक और बड़ा चैलेंज था, कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए देश में मानव संसाधन को तैयार करना। जितने कम समय में हमारे पैरामेडिक्स, आशावर्कर्स, एएनएम, आंगनबाड़ी और दूसरे हेल्‍थ और नागरिक कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित किया गया, वह भी अभूतपूर्व है।

संक्रमण के खिलाफ जनता को किया अलर्ट
आने वाले त्‍यौहारों को लेकर मोदी बोले, ‘आने वाले समय में बहुत से त्यौहार आने वाले हैं। हमारे ये उत्सव, उल्लास का कारण बनें, लोगों में संक्रमण न फैले इसके लिए हमें हर सावधानी रखनी है। हमें ये भी देखते रहना होगा कि उत्सव के इस समय में गरीब परिवारों को परेशानी ना हो।’

‘जब तक वैक्‍सीन नहीं सोशल डिस्‍टेंसिंग जरूरी’
उन्‍होंने आगे कहा, ‘हमारे देश के Talented वैज्ञानिक कोरोना वैक्सीन के लिए तेज़ी से काम कर रहे हैं। लेकिन जब तक कोई प्रभावी दवा या वेक्सीन नहीं बनती, तब तक मास्क, 2 गज़ की दूरी, Hand Sanitization ही हमारा विकल्प है।’

मुख्‍यमंत्रियों ने जताया आभा
यूपी, महाराष्‍ट्र और पश्चिम बंगाल के मुख्‍यमंत्रियों ने इन हाईटेक कोरोना टेस्‍ट सेंटरों के खोले जाने पर पीएम मोदी को धन्‍यवाद दिया। यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने कोरोना के खिलाफ प्रधानमंत्री की लगतार कोशिशों के लिए कृतज्ञता जताते हुए कहा कि इन लैबों के बन जाने से कोरोना की जांच में लगने वाला समय काफी कम हो जाएगा। महाराष्‍ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने मुश्किल समय में प्रधानमंत्री के सुदृढ़ नेतृत्‍व की तारीफ करते की। पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने राज्‍यों के प्रति प्रधानमंत्री के सहयोगी रवैये की तारीफ की।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *