Pages Navigation Menu

Breaking News

संघ कार्यालय पर संघी-कांग्रेसियों ने फहराया तिरंगा
पंपोर में मुठभेड़ में तीनों आतंकवादी मारे गए  
वाराणसी में केजरीवाल को दिखाए काले झंडे

भारत बंद के दौरान सड़कों पर दिखी गुंडागर्दी

bharat-bandh (1)पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस ने आज(सोमवार) देशभर में बंद का ऐलान किया । कांग्रेस का दावा है कि 21 दलों ने बंद का समर्थन किया है। बिहार में राजद, हम, सीपीआई और पप्पू यादव की जन अधिकार पार्टी ने कांग्रेस के भारत बंद का समर्थन किया है। राजद कार्यकर्ता सुबह से ही सड़क पर उतर आए और कई जगहों पर चक्काजाम कर दिया। कार्यकर्ताओं ने कई जगहों पर ट्रेनें भी रोक दी। भारत बंद की वजह से लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।राजधानी पटना में डाकबंगला चौराहा के पास पप्पू यादव के कार्यकर्ताओं ने सिटी बस को रोक दिया और यात्रियों को उतारकर बस में तोड़फोड़ की। लोगों ने बस में लगे सभी शीशे तोड़ डाले।इनकम टैक्स गोलंबर पर बंद करा रहे पप्पू यादव के समर्थकों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया।

आराभोजपुर में राजद कार्यकर्ताओं ने कोईलपुर पुल पर चक्काजाम कर दिया। इसके अलावा मुगलसराय और पटना की तरफ जाने वाली ट्रेनों को भी रोक दिया।शेखपुराशेखपुरा में भी भारत बंद का व्यापक असर देखा जा रहा है। भाकपा कार्यकर्ता पोस्टर-बैनर लेकर शेखपुरा रेलवे स्टेशन पहुंच गए और किऊल-गया-झाझा पैसेंजर ट्रेन को रोककर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। देश में बढ़ती महंगाई के खिलाफ राजद-कांग्रेस समर्थकों ने यातायाता ठप कर दिया है। कांग्रेस विधायक सुदर्शन कुमार और राजद के प्रदेश नेता विजय सम्राट भी प्रदर्शन में शामिल हुए मुजफ्फरपुर राजद और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सीतामढ़ी-मुजफ्फरपुर मार्ग के बेदौल चौक के पास एनएच 77 पर सुबह 7 बजे ही सड़क जाम कर दिया। समर्थकों ने कोवाही चौक के पास भी चक्काजाम कर दिया। नेशनल हाइवे पर चक्काजाम की वजह से लोगों को भारी परेशानी हो रही है।बाढ़-मोकामा पटनासिटी, अगमकुआं थाना क्षेत्र के कुम्हरार के पास राजद कार्यकर्ताओं ने रेल ट्रैक पर आगजनी कर दिया और ट्रेनों पर पथराव भी कर दिया। पथराव में कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।सीवान सीवान के दरौंदा में कांग्रेस और राजद कार्यकर्ता पोस्टर बैनर लेकर सड़कों पर उतर आए और रोड जाम कर दिया। कार्यकर्ताओं ने मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।बंद की वजह से कई ट्रेनें लेट इसके अलावा राजद और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भागलपुर, बक्सर, गोपालगंज, मधेपुरा, गया, सुपौल, सहरसा, मधेपुरा में भी टायर जलाकर प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने राजेंद्र नगर टर्मिनटल और आरा स्टेशन के पास ट्रेन रोक दिया। इस वजह से पटना-मुगलसराय रूट पर ट्रेनों का परिचालन बाधित हुआ है। दिल्ली अप/डाउन की काफी ट्रेनें लेट हुई हैं।जीएसटी के दायरे में लाएं पेट्रोल-डीजल कांग्रेस नेताओं की मांग है कि पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाना चाहिए, क्योंकि तेल की कीमतें बढ़ने से महंगाई बढ़ती है। कांग्रेस का कहना है कि लगातार बढ़ रही पेट्रोलियम पदार्थों की कीमत से जनता परेशान है। सरकार गरीबों पर सीधी मार कर रही है। महंगाई आसमान छू रही है और सरकार कहती है अच्छे दिन आ गए। पटना के सभी निजी स्कूल बंद भारत बंद के मद्देनजर एहतियातन राजधानी के सभी निजी स्कूल बंद कर दिए गए हैं। डॉन बॉस्को, नोट्रेडम, सेंट माइकल हाई स्कूल, कार्मेल हाई स्कूल, सेंट जोसफ कॉन्वेंट, लोयोला समेत सभी स्कूल बंद रहेंगे। सेंट माइकल स्कूल में सोमवार को आयोजित होने वाली परीक्षाएं बाद में होंगी।

कांग्रेस सहित करीब 20 छोटी-बड़ी पार्टियों ने सोमवार को पेट्रोल और डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों के विरोध में भारत बंद का आह्वान किया है। हालांकि पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस और दिल्ली की सत्ता पर काबिज आम आदमी पार्टी इस बंद में शामिल नहीं हैं। बंद का देशभर में मिलाजुला असर देखने को मिल रहा है। इस अवसर पर नयी दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित विरोध प्रदर्शन में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश से दावा किया कि पूरा विपक्ष नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ एकजुट हो गया है. उन्होंने वादा किया कि वर्ष 2019 के आम चुनावों में विपक्षी दल मिलकर नरेंद्र मोदी की सरकार को हरा देंगे. सत्ता से हटा देंगे.पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह भी मोदी सरकार पर जमकर बरसे. कहा कि मोदी सरकार ने कई ऐसे काम किये हैं, जो देशहित में नहीं थे. उन्होंने कहा कि इस सरकार को बदलने का वक्त आ गया है. उन्होंने विपक्ष से अपील की कि एनडीए सरकार को सत्ता से बेदखल करने और लोकतंत्र को बचाने के लिए सभी पार्टियां आपसी मतभेद को भूलकर एकजुट हो जायें.‘भारत बंद’ का समर्थन करने वालों में शरद पवार की एनसीपी, डीएमके, पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा की जनता दल (सेक्युलर), राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना, शरद यादव की लोकतांत्रिक जनता दल, आरजेडी, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम), बीएसपी, सीपीआई, सीपीएम, पीडब्लूपी, शेतकरी कामगार पार्टी, आरपीआई (जोगेंद्र कवाडे गुट) और राजू शेट्टी की स्वाभिमानी शेतकरी पार्टी का समर्थन हासिल है। इन सबके अलावा कांग्रेस का दावा है कि कई चैंबर ऑफ कॉमर्स और कई मजदूर संगठनों का भी उसे साथ मिला है।

पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस, नवीन पटनायक की बीजू जनता दल, महाराष्ट्र सरकार में बीजेपी की सहयोगी शिवसेना, नीतीश कुमार की जनता दल (यू) और दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) ने इस बंद का विरोध किया है। आम आदमी पार्टी (आप) ने रविवार को ही स्पष्ट कर दिया था कि वह कांग्रेस द्वारा बुलाए गए सोमवार के भारत बंद में शामिल नहीं होगी। वहीं, पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस ने कहा है कि जिन मुद्दों पर बंद बुलाया जा रहा है, वह उस पर साथ है, लेकिन पार्टी सुप्रीमो और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की घोषित नीति के मुताबिक वह राज्य में किसी तरह की हड़ताल के खिलाफ है। आप के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा, ‘हालांकि मुद्दा सही है, लेकिन कांग्रेस को तेल की कीमतों में बढ़ोतरी और रुपये में गिरावट के मुद्दे पर बंद का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। इस बात को हजम कर पाना कठिन है कि कांग्रेस भारत बंद का आह्वान कर रही है।’ भारद्वाज ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि वह कांग्रेस की नीतियों को आगे बढ़ा रही है। वहीं शिवसेना ने भारत बंद में हिस्सा लेने के कांग्रेस के अनुरोध को रविवार को ठुकरा दिया था। कांग्रेस के आग्रह पर जवाब देते हुए शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि शिवसेना बंद में हिस्सा नहीं लेगी।

ओडिशा में सत्ताधारी बीजू जनता दल (बीजेडी) ने रविवार को ही तेल कीमतों में वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस के भारत बंद का समर्थन नहीं करने का ऐलान किया था। हालांकि पार्टी ने कहा कि वह ईंधन कीमतों में वृद्धि के खिलाफ है। बीजेडी प्रवक्ता सस्मित पात्रा ने कहा, ‘हम पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में भारी वृद्धि के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए पिछले तीन दिनों से पूरे राज्य में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।’ सरकार ने बंद को देखते हुए विद्यार्थियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सोमवार को स्कूल बंद रखने का ऐलान किया है।वहीं कांग्रेस के नक्शेकदम पर चलते हुए समाजवादी पार्टी (एसपी) भी सोमवार 10 सितंबर को पेट्रोलियम पदार्थों के बढ़ते दामों और मंहगाई समेत विभिन्न मुद्दों को लेकर पूरे उत्तर प्रदेश धरना-प्रदर्शन करेगी। एसपी के राष्ट्रीय सचिव राजेंद्र चौधरी ने रविवार को कहा था कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर एसपी प्रदेश में किसानों की परेशानियों, पेट्रोलियम पदार्थों के बढ़ते दाम एवं मंहगाई, कानून व्यवस्था की बदहाली, बढ़ते भ्रष्टाचार और छात्रों-नौजवानों के दमन के खिलाफ सोमवार को हर जिला तथा तहसील मुख्यालय पर धरना-प्रदर्शन करेगी। इस कार्यक्रम के कारण सोमवार को लखनऊ में होने वाली एसपी जिला एवं महानगर अध्यक्षों और महासचिवों की बैठक भी रद्द कर दी गई है।

बता दें कि पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ने और डॉलर की अपेक्षा रुपये की कीमत कम होने के विरोध में कांग्रेस ने सोमवार को भारत बंद का आवाह्न किया। कांग्रेस नेता अजय माकन ने रविवार को कहा थाकि पार्टी चाहती है कि डीजल और पेट्रोल को वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के अंतर्गत लाया जाए जिससे इनकी कीमतों में 15 से 18 रुपये की कमी आएगी। उन्होंने कहा कि केंद्रीय उत्पाद शुल्क और राज्यों में अत्यधिक वीएटी (वैट) दरों में तत्काल कमी लाई जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि केंद्र ने पिछले चार साल में ईंधन पर उत्पाद शुल्क लगाकर 11 लाख करोड़ रुपये की कमाई की है और सरकारी खजाना भरने के लिए यह राशि आम आदमी से ली है। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आरोप लगाया था कि मोदी सरकार ने पिछले 52 महीनों में देश के लोगों से 11 लाख करोड़ रुपए ‘लूटे’ हैं और बीजेपी सरकार चलाने की बजाय ‘मुनाफाखोर कंपनी’ चला रही है। सुरजेवाला ने कहा था, ’बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पेट्रोल और डीजल की आसमान छूती कीमतों का कोई जिक्र नहीं किया गया, क्योंकि उन्हें लोगों के दुख-दर्द से कोई मतलब ही नहीं है।’ कांग्रेस ने बंद के दौरान अपने कार्यकर्ताओं को शांति बनाए रखने के लिए कहा है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *