Pages Navigation Menu

Breaking News

मोदी मंत्रिमंडल : 43 मंत्रियों की शपथ, 36 नए चेहरे, 12 का इस्तीफा

 

भारत में इस्लाम को कोई खतरा नहीं, लिंचिंग करने वाले हिन्दुत्व के खिलाफ: मोहन भागवत

देश में समान नागरिक संहिता हो; दिल्ली हाईकोर्ट

सच बात—देश की बात

बरेली में नाइट कर्फ्यू ,कक्षा 12 तक के स्कूल-कॉलेज बंद

night_curfew_in_bareilly_21538466तेजी से बढ़ रही कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के मद्देनजर डीएम नितीश कुमार ने नगर निगम क्षेत्र में शुक्रवार से रात नौ से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू लगाने का आदेश दिया है। कक्षा एक से 12 तक के सभी स्कूल-कॉलेज भी अग्रिम आदेशों तक के लिए बंद कर दिए हैं। उन्होंने बताया कि 20 अप्रैल के बाद परिस्थितियों के आधार पर आदेश पर पुनर्विचार किया जाएगा। हालांकि, स्कूलों को बोर्ड की प्रयोगात्मक परीक्षाएं कोविड नियमें के तहत कराने की छूट दी गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार शाम प्रमुख जनपदों के डीएम से वीडियो कांफ्रेंसिंग कर कोरोना संक्रमण की समीक्षा की थी। बरेली में संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ने पर डीएम ने शुक्रवार से रात्रि कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया है।उन्होंने बताया कि कक्षा एक से 12 तक के सभी सरकारी और गैर सरकारी स्कूल-कॉलेज अग्रिम आदेशों तक बंद रहेंगे, लेकिन परीक्षाएं या प्रयोगात्मक परीक्षाएं कोविड प्रोटोकाल का अनुपालन करते हुए कराई जा सक ती हैं। रात्रि कर्फ्यू के दौरान स्टेट और नेशलन हाईवे पर वाहनों का आवागमन जारी रहेगा। आवश्यक वस्तुओं, दवा, सब्जी, फल, दूध, रसोई गैस आदि लाने ले जाने पर रोक नहीं होगी।

रात्रि कालीन ड्यूटी करने वाले सरकारी, अर्द्धसरकारी कर्मचारियों, निजी क्षेत्र के कार्मिकों को आवागमन में छूट रहेगी। इनका परिचयपत्र ही पास के रूप में मान्य होगा। इसके अलावा रेलवे स्टेशन, बस अड्डे अथवा एयरपोर्ट आने-जाने वालों को टिकट दिखाने पर नहीं रोका जाएगा। पेट्रोल पंप और सीएनजी स्टेशन पूर्ववत खुले रहेंगे। औद्योगिक कारखाने भी कोविड प्रोटोकाल का अनुपालन सुनिश्चित करते हुए चलते रहेंगे, इनके कर्मियों को रात्रिकालीन शिफ्ट के लिए परिचय पत्र दिखाने पर आवागमन की अनुमति दी जाएगी।कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए नगर निगम क्षेत्र में शुक्रवार से रात नौ बजे से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू लगाने के साथ ही कक्षा एक से 12 तक की सभी सरकारी और गैर सरकारी शिक्षण संस्थाओं को बंद करने के आदेश दिए हैं। 20 अप्रैल के बाद परिस्थितियों के आधार पर इस आदेश पर पुनर्विचार किया जाएगा।

 

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »