Pages Navigation Menu

Breaking News

संघ कार्यालय पर संघी-कांग्रेसियों ने फहराया तिरंगा
पंपोर में मुठभेड़ में तीनों आतंकवादी मारे गए  
वाराणसी में केजरीवाल को दिखाए काले झंडे

नीतीश ने बनाई जदयु- भाजपा सरकार

modi-nitish_660_122712121122महागठबंधन सरकार से इस्तीफा देने के बाद गुरुवार को नीतीश कुमार ने राज्य में छठी बार बतौर सीएम पद की शपथ ली। उनके अलावा बीजेपी नेता सुशील मोदी डिप्टी सीएम बने। बिहार के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने दोनों को शपथ दिलाई। शपथ ग्रहण समारोह के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर दोनों को बधाई दी।इसके साथ ही उन्होंने बिहार के उज्जवल भविष्य की कामना की। समारोह में केन्द्रीय मंत्री जेपी नड्डा और भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री अनिल जैन भी शामिल हुए। मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद नीतीश कुमार ने कहा मैंने बिहार के हित में फैसला लिया है, समय आने पर सबको जवाब दूंगा। वहीं डिप्टी सीएम सुशील मोदी बोले कि विकास हमारी प्राथमिकता है, बिहार को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे।

राहुल ने साधा सीएम नीतीश कुमार पर निशाना 

nitishsushilpti_5नीतीश कुमार के बीजेपी के साथ गठबंधन करने के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने उनपर निशाना साधा है। पत्रकारों के साथ बातचीत में राहुल ने कहा कि मुझे कुछ महीने पहले नीतीश कुमार मिले थे। राहुल गांधी ने कहा, ‘मुझे पहले से ही पता था ये खिचड़ी पक रही है। तीन से चार महीने पहले से ये सब चल रहा था। सत्ता के लिए कुछ भी कर सकते हैं।’बता दें कि बुधवार को इस्तीफा देने के बाद नीतीश कुमार ने कहा था, जैसे हालात बिहार में बन रहे थे काम करना मुश्किल हो रहा था। ऐसे में ये कदम उठाना जरूरी था। उन्होंने आगे कहा कि अब बिहार की राजनीति में नए अध्याय की शुरुआत होगी। लालू यादव ने नीतीश कुमार के फैसले के बाद उनपर पलटवार किया और कहा ये सब पहले से ही सेट था, उन्होंने मुझे धोखा दिया। महागठबंधन की सरकार को अगले पांच साल तक बिहार में सत्ता चलाने के लिए जनता ने चुना था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

तेजस्वी ने दावा पेश करने के लिए समय मांगा

राजद राज्य में सरकार बनाने का दावा पेश करेगी। इसके लिए पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी से समय मांगा है। तेजस्वी ने ट्वीट कर राज्यपाल से समय मांगने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा है कि विधानसभा में सबसे बड़ा दल होने के नाते राजद को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया जाना चाहिए। भाजपा के साथ जाने से नाराज जदयू विधायक भी उनके इस मुहिम में साथ देंगे। उन्होंने दावा किया कि शरद यादव जैसे कई बड़े नेता नीतीश कुमार के इस रुख से नाराज हैं।इससे पहले नीतीश कुमार ने बुधवार शाम 6:30 बजे राज्यपाल से मुलाकात कर अपना इस्तीफा सौंप दिया था। इसके साथ ही राज्य में पिछले 20 माह से चल रहा जदयू-राजद और कांग्रेस का महागठबंधन टूट गया। राजभवन से लौटने के बाद नीतीश कुमार ने मीडिया से बातचीत में कहा कि जैसा माहौल चल रहा था उसमें काम करना मुश्किल हो गया था। मैंने अपनी अंतरात्मा की आवाज पर इस्तीफा दिया है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *