Pages Navigation Menu

Breaking News

संघ कार्यालय पर संघी-कांग्रेसियों ने फहराया तिरंगा
पंपोर में मुठभेड़ में तीनों आतंकवादी मारे गए  
वाराणसी में केजरीवाल को दिखाए काले झंडे

रायबरेली के NTPC प्लांट में मरने वालों की संख्या 26

ntpc-plant-blast_650x400_71509549084उत्तर प्रदेश के रायबरेली में बुधवार को बड़ा हादसा हुआ। नेशनल थर्मल पॉवर कॉरपोरेशन (एनटीपीसी) के ऊंचाहार प्लांट में बॉयलर का पाइप फट गया था। हादसे में मरने वालों की संख्या गुरुवार को बढ़कर 26 हो गई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 200 से अधिक लोग इसमें घायल हुए। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी इसी को ध्यान में रखते हुए अपना गुरजात दौरा बीच में छोड़ा और घायलों और मृतकों के परिजनों से मिलने रायबरेली पहुंचे। यहां उन्होंने उनका हाल-चाल लिया और उन्हें हर संभव मदद का आश्वासन दिया। राहुल से पहले उनकी मां और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी इस घटना पर खेद जताया था। रायबरेली से सांसद सोनिया ने कहा था कि वह पीड़ित परिवार वालों के दुख में साथ हैं। वह उनकी मदद के लिए तत्पर रहेंगी। हालांकि, सोनिया खुद घायलों से मिलने आना चाहती थीं, लेकिन तबीयत में गड़बड़ी के कारण वे आ न सकीं। यही नहीं, उनके निजी सचिव ने अस्पताल में घायलों का हाल-चाल लिया था। उधर, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस घटना पर दुख प्रकट किया था।उधर, घटना के बारे में सुबह तक जिलाधिकारी संजय कुमार ने बताया था हादसे में 22 लोगों की मौत हुई है। जबकि 66 लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। एनडीआरएफ का दस्ता राहत और बचाव कार्य में जुटा हुआ है। हादसे की जांच के लिए एक टीम का गठन किया है, जिसमें मजिस्ट्रेट और टेक्निकल अधिकारी हैं।रायबरेली के ऊंचाहार स्थित एनटीपीसी प्लांट में बॉयलर फट गया था। अब तक इसमें 26 लोगों की मौत हुई है। जबकि 66 लोगों के गंभीर रूप से घायल होने की खबर आई है। जिला प्रशासन ने बुधवार देर रात 18 मौतों की पुष्टि की थी। अधिकारियों के मुताबिक, घायलों को जिला अस्पताल के साथ साथ इलाहाबाद के अस्पताल और लखनऊ के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है। इनमें से कई की हालत नाजुक है। बताया जा रहा है कि जिस वक्त यह हादसा हुआ, उस वक्त प्लांट में करीब 150 मजदूर काम कर रहे थे। जहां यह हादसा हुआ, वहां 500 मेगावाट बिजली का उत्पादन होता है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *