Pages Navigation Menu

Breaking News

लव जेहाद: उत्तर प्रदेश में 10 साल की सजा का प्रावधान

पाकिस्तान संसद ने माना, हिंदुओं का कराया जा रहा जबरन धर्मातरण

जम्‍मू-कश्‍मीर में 25 हजार करोड़ का भूमि घोटाला

सब्जियों के दाम ने किया हाल बेहाल

vegitableनई दिल्ली धीरे-धीरे प्याज का भाव चढ़ता जा रहा है। महानगरों में यह 70 रुपये पार तक पहुंच चुका है। चेन्नै के खुदरा बाजार में प्याज की कीमतें मंगलवार को 73 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गई। यह दिल्ली, मुंबई जैसे महानगरों में प्याज का सबसे महंगा दाम है। केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने इस संबंध में आंकड़े जारी किए हैं। प्याज की कीमतें बढ़ने की वजह उत्पादक क्षेत्रों में बारिश होने से आपूर्ति बाधित होना है।छोटे शहरों की बात करें तो हिसार, सिरसा व फतेहाबाद जिलों के साथ-साथ प्रदेश के कई अन्य जिलों में भी महंगे हुए प्याज ने लोगों के आंसू निकालने शुरू कर दिए हैं। एक हफ्ता पहले 40 रुपये किलो बिक रहा प्याज मंगलवार को सब्जी मंडी में 70 रुपये किलो बिका। सब्जी मंडी के आढ़तियों के मुताबिक नासिक से प्याज की सप्लाई बंद होने की वजह से हरियाणा में प्याज के दाम तेजी से बढ़ रहे हैं। आढ़तियों की मानें तो त्योहारी और शादियों के सीजन में प्याज के भाव और बढ़ने की संभावना है।आलू के दामों ने भी लोगों की रसोई का बजट बिगाड़ना शुरू कर दिया है। आलू 40 रुपये किलो तक बिक रहा है। सर्दी की शुरुआत में आलू की नई फसल आने से रेट कम हो जाते थे, लेकिन अबकी बार लॉकडाउन के कारण फसल किसानों ने देरी से लगाई, जिसके कारण अभी नया आलू मार्केट में नहीं आया है। इससे आलू महंगे दाम पर बिक रहा है।इसके अलावा 15 दिन पहले 60 रुपये किलो बिकने वाला टमाटर अब बढ़कर 80 रुपये किलो, फूल गोभी 35 से बढ़कर 50 रुपये किलो, घीया 25 से बढ़कर 50 रुपये किलो और तोरी 35 से बढ़कर 60 रुपये किलो के भाव बिक रही है। इतना ही नहीं 20 रुपये किलो बिकने वाला पेठा अब बढ़कर 30 रुपये किलो, भिंडी 35 से बढ़कर 60 रुपये, बैंगन 25 से बढ़कर 60 रुपये, खीरा 45 से बढ़कर 65 रुपये किलो बिक रहा है।

दिल्ली में प्याज 50 के पार
आंकड़ों के मुताबिक मंगलवार को दिल्ली में प्याज का खुदरा भाव 51 रुपये प्रति किलोग्राम, कोलकाता में 65 रुपये प्रति किलोग्राम और मुंबई में 67 रुपये प्रति किलोग्राम रहा। व्यापारियों का मानना है कि दक्षिण और पश्चिमी क्षेत्रों में भारी वर्षा से आपूर्ति बाधित हुई है और इससे खरीफ की फसल की आवक प्रभावित हुई है। यह आपूर्ति आने वाले हफ्तों में पूरी तरह से बहाल होने का अनुमान है। फिलहाल रबी फसल के दौरान एकत्रित प्याज बाजार में बेचा जा रहा है। आम तौर पर खपत वाले क्षेत्रों में कीमतें इस दौरान बढ़ जाती हैं, लेकिन प्रमुख उत्पादक क्षेत्रों में बारिश ने तबाही मचा दी है, जिससे आपूर्ति में कमी आई है।

चेन्नै में प्याज 70 पार
मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक चेन्नै में प्याज की कीमतें तेजी से बढ़कर 73 रुपये प्रति किलोग्राम रही, जबकि एक साल पहले यह कीमत 33 रुपये प्रति किलोग्राम थी। मुंबई में भी प्याज की कीमत पिछले साल के 56 रुपये प्रति किलोग्राम से बढ़कर अब 67 रुपये प्रति किलोग्राम रही। जबकि कोलकाता में यह कीमत 60 रुपये प्रति किलोग्राम से बढ़कर 65 रुपये प्रति किलोग्राम हो गयी। दिल्ली में कीमतें एक साल पहले की समान अवधि में 46 रुपये प्रति किलोग्राम थी जो अब बढ़कर 51 रुपये प्रति किलोग्राम हो गईं है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *