Pages Navigation Menu

Breaking News

लद्दाख का पूरा हिस्सा, भारत का मस्तक है; प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की तारीख 30 नवंबर तक 

टिक टॉक सहित 59 चायनीज ऐप पर प्रतिबंध

केजरीवाल को 20 सीटों का नुकसान, भाजपा को फायदा ; चुनाव सर्वे

delhi politicsनई दिल्ली। इस बार के विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को कम से कम 20 सीटों का नुकसान होता दिख रहा है। भाजपा 25 सीटों पर मजबूत दिख रही है जबकि कांग्रेस पार्टी चार सीटों पर मजबूत दिख रही है। केजरीवाल पार्टी का पल्डा कुछ भारी है लेकिन भाजपा ने बूथ पर मोर्चाबंदी के लिए अपने कैडर और नेताओं को झोंक दिया है।दिल्ली का दंगल कौन जीतेगा इसे जानने के लिए एक राष्ट्रीय चैनल ने जो सर्वे कराया है उसमें एक बार फिर से दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार बनती दिख रही है.दिल्ली की विधानसभा के लिए वोट शेयर की बात करें तो सर्वे के मुताबिक दिल्ली में आम आदमी पार्टी को 45.6 फीसदी वोट शेयर मिल सकता है और बीजपी को 37.1 फीसदी वोट शेयर हासिल हो सकता है तो वहीं कांग्रेस के खाते में 4.4 फीसदी वोट शेयर जाने का अनुमान है.भाजपा के शेयर में जहां करीब चार फीसदी वोटों का संकेत है वहीं केजरीवाल के वोटों में कमी दिखाई दे रही है।दिल्ली की सभी 70 विधानसभा सीटों का हाल देखें तो एबीपी ओपिनियन पोल के मुताबिक, सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी को कम से कम 42 और अधिक से अधिक 56 सीट मिल सकती है. बीजेपी को कम से कम 10 और अधिक से अधिक 24 सीट पर जीत हासिल हो सकती है. वहीं कांग्रेस को 0 से लेकर 4 सीट पर संतोष करना पड़ सकता है.मीडिया एसोसिएशन फॉर सोशल सर्विस के सर्वे में बताया कि केजरीवाल की पार्टी को 2015 के विधानसभा चुनाव के मुकाबले सात फीसदी वोटो का नुकसान होता दिख रहा है वहीं भाजपा को पांच पफीसदी वोटों का फायदा होता दिख रहा है। कांग्रेस की दिल्ली में हालत खास्ता बनी हुई।

साउथ दिल्ली यानी दक्षिणी दिल्ली के वोट शेयर को देखें तो आम आदमी पार्टी को 46 फीसदी वोट शेयर मिल सकता है और बीजेपी को 38.1 फीसदी वोट शेयर मिल सकता है. कांग्रेस को 3.5 फीसदी वोट शेयर तो अन्य को 12.4 फीसदी वोट शेयर मिल सकता है.साउथ दिल्ली (दक्षिणी दिल्ली) लोकसभा क्षेत्र में आम आदमी पार्टी को जबरदस्त सफलता मिल सकती है और ये सात से नौ सीटों पर जीत दर्ज कर सकती है. वहीं इस क्षेत्र में बीजेपी को शून्य से दो सीटें मिल सकती है. वहीं कांग्रेस अधिकतम एक सीट पर जीत दर्ज कर सकती है.

Amit-Shah-Delhi-23-1-2020केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के चुनावी कैंपेन से बीजेपी को फायदा हो रहा है या नहीं तो इस सवाल के जवाब में 53 फीसदी लोगों ने माना कि हां बीजेपी को फायदा हो रहा है. वहीं 29 फीसदी लोगों ने माना कि इससे फायदा नहीं हो रहा है. 11 फीसदी लोगों ने इसका जवाब पता नहीं कहकर दिया.जब लोगों से पूछा गया कि पीएम मोदी की रैली से बीजेपी को फायदा हुआ है तो इसके जवाब में 61 फीसदी लोगों ने हां कहा, 29 फीसदी लोगों ने नहीं में जवाब दिया और 10 फीसदी लोगों ने पता नहीं में जवाब दिया.शाहीन बाग का धरना सही या गलत?27 फीसदी लोग इस धरने को सही और 62 फीसदी लोग इसे गलत मानते हैं.दिल्ली के चुनाव में शाहीन बाग से सबसे ज्यादा फायदा बीजेपी को है.बीजेपी को इस मुद्दे से फायदा हो रहा है इसके पक्ष में 39 फीसदी लोगों ने हां कहा. 25 फीसदी लोगों ने माना कि शाहीन बाग के मुद्दे से आम आदमी पार्टी को फायदा हो रहा है. शाहीन बाग के मुद्दे से कांग्रेस को फायदा हो रहा है ये 4 फीसदी लोगों ने कहा.शाहीन बाग का मुद्दा राजनीतिक मोहरा बन गया है या नहीं जब इसके लिए लोगों से बात की गई तो 83 फीसदी लोगों ने कहा कि हां, 9 फीसदी लोगों ने कहा कि ये मुद्दा राजनीतिक मोहरा नहीं बना है. वहीं 8 फीसदी लोगों ने कहा कि पता नहीं.इस सर्वे के तहत दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों पर लोगों से बात की गई है और इसके लिए 11 हजार से ज्यादा लोगों की राय ली गई है.दिल्ली का दंगल अपने चरम पर पहुंचता दिख रहा है. दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव प्रचार कल थम जाएगा और इसके बाद 8 फरवरी को होने वाली वोटिंग के लिए दिल्ली की जनता तैयार है. देश की राजधानी दिल्ली के लोग 8 फरवरी को अपना मतदान देकर दिल्ली की नई सरकार का रास्ता साफ करेंगे.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *