Pages Navigation Menu

Breaking News

नड्डा ने किया नई टीम का ऐलान,युवाओं और महिलाओं को मौका

कांग्रेस में बड़ा फेरबदल ,पद से हटाए गए गुलाम नबी

  पाकिस्तान में शिया- सुन्नी टकराव…शिया काफिर हैं लगे नारे

पाकिस्तान एयरलाइंस की उड़ानों पर अमरीका ने लगाई रोक

Pakistan_International_Airlinesअमरीका ने पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस या पीआईए के चार्टर विमानों के अमरीका आने पर रोक लगा दिया है.अमरीकी परिवहन मंत्रालय ने पाकिस्तानी पायलटों के प्रमाणपत्रों को लेकर फ़ेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन (एफ़एए) की जताई गई चिंता के बाद ये आदेश जारी किया है.पाकिस्तान में बीते महीने हुई एक जांच में पाया गया कि उसके एक-तिहाई पायलटों ने अपनी योग्यता संबंधित ग़लत जानकारियाँ और काग़ज़ात दिखाए थे.यूरोपीय यूनियन एविएशन सेफ़्टी एजेंसी ने भी पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइन्स के संचालन को छह महीने के लिए रोक दिया है.हालांकि इस संदर्भ में पाकिस्तान इंटरनेशल एयरलाइन्स की ओर से अभी तक कोई टिप्पणी नहीं की गई है.पाकिस्तानी टीवी चैनल जियो न्यूज़ ने बताया कि पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइन्स ने अमरीका के प्रतिबंधों की पुष्टि की है और कहा है कि यह एयरलाइन्स के भीतर चल रही परेशानियों को दूर करने की कोशिश करेगा.इससे पहले जून में वियतनाम के विमानन प्राधिकरण ने कहा था कि स्थानीय एयरलाइंस के लिए काम कर रहे सभी पाकिस्तानी पायलट को हटा दिया गया है.जबकि यूरोपीय संघ के उड्डयन प्राधिकरण ने भी 32 सदस्य देशों को फ़र्जी लाइसेंस मामले में सलाह दी है कि वे ऐसे पायलटों की सेवाएँ न लें. ये क़दम ऐसे वक़्त में उठाया गया है जब वैश्विक नियामकों ने चिंता जताई थी कि कुछ पायलट “संदिग्ध” लाइसेंस इस्तेमाल कर रहे हैं.

दरअसल, हाल में वैश्विक एयरलाइंस संस्था आईएटीए ने कहा था कि पाकिस्तानी अंतरराष्ट्रीय एयरलाइंस के पायलटों के लाइसेंस में अनियमितताएं पाई गई हैं, “जो सेफ्टी कंट्रोल में गंभीर चूक है.” इसके बाद पाकिस्तान ने पिछले हफ़्ते कहा था कि वो उन 262 एयरलाइन पायलटों को हटा रहा है, जिनकी विश्वसनीयता फर्ज़ी हो सकती है.पाकिस्तान के उड्डयन मंत्री ग़ुलाम सरवर ख़ान ने उस दौरान संसद में कहा था कि बड़ी संख्या में पेशेवर पायलटों के पास फ़र्जी लाइसेंस या उन्होंने परीक्षाओं में धोखेबाज़ी की है.ग़ुलाम सरवर ख़ान ने ये भी कहा था कि जाँच में ये पाया गया है कि 860 पायलटों में से 260 से ज़्यादा के पास या तो फ़र्जी लाइसेंस थे या उन्होंने परीक्षाओं में धांधली की थी.इस साल मई में कराची में पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस का एक विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था. इस हादसे में 97 लोग मारे गए थे.हादसे की जाँच के लिए गठित की गई कमेटी की शुरुआती रिपोर्ट में ये कहा था कि हादसे के लिए एयर ट्रैफ़िक कंट्रोल (एटीसी) और पायलट ज़िम्मेदार थे.ग़ुलाम सरवर ख़ान ने संसद को बताया था कि वे प्रोटोकॉल का पालन नहीं कर रहे थे. उन्होंने ये भी कहा था कि पायलट और को-पायलट दुनिया भर में फैली कोरोना महामारी के बारे में बातचीत कर रहे थे और इसी कारण हवाई जहाज़ के पायलटों का ध्यान बंट गया था.

पाकिस्तानी पायलटों को अचानक बैन क्यों करने लगे कई देश

वियतनाम के विमानन प्राधिकरण ने सोमवार को कहा कि स्थानीय एयरलाइंस के लिए काम कर रहे सभी पाकिस्तानी पायलट को हटा दिया गया है.ये क़दम ऐसे वक़्त में उठाया गया है जब वैश्विक नियामकों ने चिंता जताई है कि कुछ पायलट “संदिग्ध” लाइसेंस इस्तेमाल कर रहे हैं.दरअसल, हाल में वैश्विक एयरलाइंस संस्था आईएटीए ने कहा था कि पाकिस्तानी अंतरराष्ट्रीय एयरलाइंस के पायलटों के लाइसेंस में अनियमितताएं पाई गई हैं, “जो कि सेफ्टी कंट्रोल में गंभीर चूक है.” इसके बाद पाकिस्तान ने पिछले हफ़्ते कहा था कि वो उन 262 एयरलाइन पायलटों को हटा रहा है जिनके विश्वसनीयता फर्ज़ी हो सकती है. वियतनाम के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (सीएएवी) ने सोमवार को एक बयान में कहा, “सीएएवी के प्रमुख ने वियतनामी एयरलाइंस के लिए काम कर रहे सभी पाकिस्तानी पायलटों को निलंबित करने के आदेश दिए हैं.”ये निलंबन सीएएवी के अगले आदेश तक जारी रहेगा. बयान के मुताबिक़, प्रशासन पायलट के प्रोफ़ाइल समीक्षा करने के लिए पाकिस्तानी प्रशासन से बात कर रहा है.सीएएवी के मुताबिक़, वियतनाम ने 27 पाकिस्तानी पायलटों को लाइसेंस दिया था और उनमें से 12 अब भी सक्रिय हैं. हालांकि अन्य 15 पायलटों के कॉन्ट्रैक्ट या तो एक्सपायर हो चुके हैं या वो कोरोना महामारी की वजह से निष्क्रिय हैं.12 सक्रिय पायलट में से 11 बजट एयरलाइंस वियतजेट एविएशन और एक जेटस्टार पैसिफिक के लिए काम कर रहे थे. जेटस्टार पैसिफिक, वियतनाम एयरलाइन की यूनिट है.सीएएवी ने बताया कि वियतनाम एयरलाइन और बैम्बो एयरवेज़ पाकिस्तान के किसी पायलट की सेवाएं नहीं ले रहे थे.

वियतनाम की एयरलाइन्स में फ़िलहाल 1,260 पायलट हैं. सीएएवी के मुताबिक़, इनमें से आधों के पास विदेशी नागरिकता है.मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार खाड़ी में पाकिस्तान के पारंपरिक सहयोगी – कुवैत, क़तर, संयुक्त अरब अमीरात के अलावा ओमान ने कथित तौर पर पाकिस्तान मूल के पायलटों को फर्ज़ी लाइसेंस मामले की वजह से हटाने का फ़ैसला किया है.ख़बरे भी आईं कि पश्चिम एशिया के सबसे पुराने एयरवेज़ में से एक कुवैत एयरलाइन ने अपने सभी सातों पाकिस्तानी मूल के पायलटों को हटा दिया है.ब्रिटेन स्थित एक पाकिस्तानी मूल के पत्रकार गुल बुखारी ने ट्वीट किया, “फर्ज़ी लाइसेंस मामले को लेकर कुवैत एयरवेज़ ने सभी 7 पाकिस्तानी पायलटों को हटा दिया है, 56 इंजीनियर को निलंबित कर दिया है और हैंडलिंग स्टाफ को भी हटा दिया है. ऐसी ही ख़बरें क़तर, ओमान, अमीरात और वियतनाम से भी आ रही हैं.”सिविल एविएशन सेक्टर पर नज़र रखने वाले एक विशेषज्ञ ने इकोनॉमिक टाइम्स से कहा कि अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संस्था को इसका संज्ञान लेना चाहिए और बल्कि यात्रियों के व्यापक हित को देखते हुए पाकिस्तानी इंटरनेशनल एयरलाइन्स को सस्पेंड करने के बारे में भी सोचना चाहिए.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *