Pages Navigation Menu

Breaking News

लद्दाख का पूरा हिस्सा, भारत का मस्तक है; प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की तारीख 30 नवंबर तक 

टिक टॉक सहित 59 चायनीज ऐप पर प्रतिबंध

पाकिस्तान में ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हमला, पत्थरबाजी

guradwara pakलाहौर पाकिस्तान के ननकाना साहिब में शुक्रवार को सैकड़ों की भीड़ ने सिखों के सबसे पवित्र धर्मस्थलों में से एक ननकाना साहिब गुरुद्वारा पर हमला कर दिया और घेर कर पत्थरबाजी की। दोपहर से ही भीड़ ने गुरुद्वारे को घेर लिया। मौके पर बड़ी तादाद में पुलिस बल तैनात है, मगर हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं। घटना से जुड़े विडियो में एक कट्टरपंथी सिखों को ननकाना साहिब से भगाने और इस पवित्र शहर का नाम बदलकर गुलाम अली मुस्तफा करने की धमकी देते दिख रहा है।भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा- पाकिस्तान स्थित ननकाना साहिब गुरुद्वारा में हुई पत्थरबाजी को लेकर हम चिंतित हैं। ननकाना साहिब जैसे पवित्र स्थान पर अल्पसंख्यक सिख समुदाय को निशाना बनाया गया, जो कि गुरु नानक देव जी की जन्मभूमि है।गुरुद्वारा ननकाना साहिब पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में लाहौर के करीब स्थित है। मान्यता है कि इसी स्थान पर 1469 में सिख धर्म के संस्थापक गुरुनानक देव का जन्म हुआ था। इस जगह को पहले राय भोई की तलवंडी कहा जाता था, लेकिन गुरु नानक के सम्मान में इस जगह का नाम बदल दिया गया। गुरुवार को यहां सिख श्रद्धालुओं ने गुरु गोविंद सिंह जयंती मनाई थी।

guru_govind_singh_jayanti_1577939616भीड़ ने गुरुद्वारे का नाम बदलने के नारे लगाए
पाक मीडिया में दिखाए जा रहे एक वीडियो में भीड़ यह कहती दिख रही है कि वह इस इलाके में गुरुद्वारा नहीं चाहती। नारे लगाए जा रहे थे कि जल्द ही इस जगह का नाम गुरुद्वारा ननकाना साहिब से बदलकर गुलमान-ए-मुस्तफा कर दिया जाएगा और यहां एक भी सिख नहीं रहेगा।

हाइलाइट्स

  • पाकिस्तान में ननकाना सिंह गुरुद्वारा पर सैकड़ों की भीड़ ने की पत्थरबाजी, सिख विरोधी नारेबाजी
  • शुक्रवार दोपहर से ही भीड़ ने गुरुद्वारे को घेर रखा है, सिखों को शहर से भगाने की दी जा रही धमकी
  • इलाके में तनाव का माहौल, मौके पर बड़ी तादाद में पुलिस बल तैनात
  • घटना से जुड़े विडियो में एक कट्टरपंथी ननकाना साहिब का नाम बदल गुलाम अली मुस्तफा करने की धमकी देते दिख रहा है

pak nanak gurdwaraपहली बार ननकाना साहिब में रद्द हुआ भजन-कीर्तन
कट्टरपंथियों की भीड़ ने गुरुद्वारे को घेर रखा है। इस वजह से पहली बार गुरुद्वारा जन्म स्थान ननकाना साहिब में भजन-कीर्तन को रद्द करना पड़ा है। गुरु गोविंद सिंह जी के गुरुपरब के मौके पर अखंड पाठ शुरू होने वाला था। सिख समुदाय के लोग गुरुद्वारे के अंदर फंसे हुए हैं। पूरे इलाके में दहशत का माहौल है। खौफ की वजह से सिख समुदाय के कई लोग घरों में भी छिपे हुए हैं।

सिख लड़की का जबरन धर्मांतरण करने वाले कर रहे हैं भीड़ का नेतृत्व
भीड़ का नेतृत्व पिछले साल ननकाना साहिब की एक सिख लड़की जगजीत कौर को अगवा करने और जबरन धर्मांतरण कर निकाह करने के आरोपी मोहम्मद हसन का परिवार कर रहा है। उनका आरोप है कि ‘अपनी मर्जी से इस्लाम कबूलने’ और ‘शादी करने वाली’ लड़कियों को लेकर सिख समुदाय बेवजह हंगामा खड़ा करता है। बता दें कि पिछले साल जिस जगजीत कौर का जबरन धर्मांतरण हुआ था, वह ननकाना साहिब गुरुद्वारे के ही ग्रंथी की बेटी हैं।

nanak sahibअकाली दल ने गुरुद्वारे पर हमले की निंदा की
अकाली दल ने ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर भीड़ के हमले की निंदा की है। दिल्ली के विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने ट्विटर पर हमले का विडियो शेयर करते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से तत्काल ऐक्शन लेने की मांग की है। सिरसा ने एक अन्य ट्वीट में कहा है कि गुरुद्वारे पर हमले के बाद पूरे पाकिस्तान में सिख समुदाय के बीच दहशत का माहौल है और कई पाकिस्तानी सिख उन्हें फोन कर अपना डर जता रहे हैं।

दिल्ली में पाक दूतावास के बाहर शनिवार को प्रदर्शन करेंगे सिख
पाकिस्तान में गुरुद्वारा जन्म स्थान ननकाना साहिब पर हमले के विरोध में दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति और अकाली दल ने शनिवार को दिल्ली में पाकिस्तानी दूतावास के बाहर प्रदर्शन का ऐलान किया है। DSGMC और अकाली दल शनिवार 4 जनवरी को पाकिस्तानी दूतावास के बाहर शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन करेंगे।

पाकिस्तान में धार्मिक अल्पसंख्यकों पर अत्याचार की पोल खोल रहा विडियो
पाकिस्तान के ननकाना साहिब में यह वाकया ऐसे वक्त हुआ है जब भारत में संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन हो रहे हैं। संशोधित कानून के तहत पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से धार्मिक आधार पर प्रताड़ना का शिकार हो भारत आए हिंदू, सिख, ईसाई, पारसी, जैन और बौद्ध शरणार्थियों को नागरिकता देने का प्रावधान किया गया है।

इमरान ने शेयर किए फेक न्यूज, बाद में डिलीट करने पड़े ट्वीट

भारत के खिलाफ दुष्प्रचार की मुहिम में पाकिस्तान किस कदर लगा हुआ है, इसका अंदाजा इसी से लग सकता है कि खुद उसके प्रधानमंत्री भी फेक न्यूज फैला रहे हैं। ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर भीड़ के हमले की घटना से ध्यान हटाने के लिए इमरान खान ने शुक्रवार रात को एक के बाद एक कई विडियो ट्वीट कर ‘भारत में मुस्लिमों पर पुलिस के अत्याचार’ का झूठा दावा किया। बांग्लादेश के करीब 7 साल पुराने विडियो को ट्वीट कर इमरान ने दावा किया कि भारतीय पुलिस मुस्लिमों पर अत्याचार कर रही है। हालांकि, बाद में उन्होंने इन ट्वीट्स को डिलीट कर दिया।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *