Pages Navigation Menu

Breaking News

नड्डा ने किया नई टीम का ऐलान,युवाओं और महिलाओं को मौका

कांग्रेस में बड़ा फेरबदल ,पद से हटाए गए गुलाम नबी

  पाकिस्तान में शिया- सुन्नी टकराव…शिया काफिर हैं लगे नारे

कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने की लॉकडाउन बढ़ाने की मांग की

cm meeting with pmनई दिल्ली: प्रधानमंत्री के साथ मुख्यमंत्रियों की बैठक खत्म हो गई है. पीएम ने बैठक में कहा कि आप लोगों के उत्साह की बदौलत हम ये लडाई जीतेंगे. जो लोग पूरी बात नहीं रख पाए वो अपने सुझाव 15 मई तक भेज दें और आर्थिक गतिविधियां कैसे चालू हों उस पर हम विचार कर रहे हैं. पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना के बाद एक नई जीवनशैली विकसित होगी. देश में पर्यटन की असीम संभावनाएं हैं उसको भी नए नजरिए से देखना होगा. तकनीक को ध्यान में रखकर शिक्षा के नए मॉड्यूल विकसित करने होगें. गृह मंत्री अमित शाह ने बैठक की शुरूआत की. उसके बाद पहले आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री और फिर अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री ने अपनी बात रखी. देश में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है. इस बीच केंद्र सरकार लॉकडाउन में लगातार छूट दे रही है. प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई के मुद्दे पर सोमवार को एक बार फिर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात की. मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में पीएम मोदी ने राज्यों की तारीफ करते हुए कहा कि लॉकडाउन पर जरूरत के हिसाब से फैसले बदलने पड़े हैं. इस बैठक में कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने पीएम मोदी से लॉकडाउन बढ़ाने की मांग की है. इन राज्यों में तेलंगाना, बिहार, असम, राजस्थान, मध्य प्रदेश, पंजाब, मध्य प्रदेश और पश्चिम बंगाल शामिल है.पीएम मोदी ने कहा, लॉकडाउन में ढील के बाद हमारे सामने सबसे बड़ी चुनौती है कि गांवों में कोरोना संकट ना पहुंचे. हमें इसे सुनिश्चित करना ही होगा. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि दुनिया कोरोना संकट से निपटने के लिए भारत के उठाए गए कदमों की चारों ओर तारीफ हो रही है. इसमें राज्यों ने अपनी पूरी जिम्मेदारी निभाई है.

मामले से जुड़ी अहम जानकारियां :

  1. पीएम ने बैठक में कहा कि आप लोगों के उत्साह की बदौलत हम ये लडाई जीतेंगे. जो लोग पूरी बात नहीं रख पाए वो अपने सुझाव 15 मई तक भेज दें और आर्थिक गतिविधियां कैसे चालू हों उस पर हम विचार कर रहे हैं.
  2. सूत्रों के अनुसार पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कहा कि हमारे प्रयास रहे कि जो जहां है वहीं रहे, लेकिन मनुष्य का मन है और हमें कुछ निर्णय बदलने भी पड़े. राज्य मिलकर काम कर रहे हैं. कैबिनेट सचिव, राज्यों के सचिव से लगातार संपर्क में हैं. अधिक फोकस रखें, सक्रियता बढ़ाएं.
  3. पीएम ने कहा, संतुलित रणनीति से आगे बढ़ें और चुनौतियां क्या हैं और मार्ग क्या है इस पर काम करें. आप सभी के सुझावों से दिशानिर्देश निर्धारित होंगे.
  4. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘भारत इस संकट से अपने आप को बचाने में बहुत हद तक सफल हुआ, राज्यों ने अपनी जिम्मेदारी निभाई. दो गज की दूरी ढीली हुई तो संकट बढ़ेगा. हम लॉकडाउन कैसे लागू कर रहे हैं यह बड़ा विषय रहा, हम सब की भूमिका महत्वपूर्ण रही. गांव तक यह संकट न पहुंचे यही चुनौती अब भी है. आप सब आर्थिक विषयों पर अपने सुझाव दें.
  5. सूत्रों के अनुसार बैठक में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र पर राजनीति करने का आरोप लगाया. ममता बनर्जी का केंद्र पर कोरोना के बहाने राजनीति करने का आरोप लगाया. ममता ने कहा कि केंद्र सरकार सब कुछ पहले ही तय कर लेती है, हमसे तो कभी पूछा तक नहीं जाता है. ममता ने इस दौरान केंद्र पर भेदभाव करने का भी आरोप लगाया.
  6. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुख्यमंत्रियों की बैठक में बिहार सरकार ने इस महीने के अंत तक लॉकडाउन बढ़ाने की मांग की. नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने हालांकि सामान्य रेल सेवा बहाल करने का विरोध भी किया. इसके साथ-साथ उन्होंने प्रवासी बिहारियों को वापस घर लाने के लिए और ट्रेनों कि मांग भी की. इसके अलावा नीतीश कुमार ने हर दिन दस हज़ार लोगों के सैम्पल टेस्ट करने के लिए मशीन और किट की भी मांग दोहराई.
  7. बैठक के दौरान तमिलनाडु में कोरोनावायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री के. पलानीसामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध किया कि वे 31 मई तक राज्य में ट्रेन और हवाई सेवाएं शुरू ना करें. सरकार की ओर से जारी विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गई. बता दें कि तमिलनाडु में अभी तक 7,000 से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. पलानीसामी ने प्रधानमंत्री मोदी से कहा, ‘हमें मीडिया के जरिए पता चला है कि चेन्नई-दिल्ली-चेन्नई ट्रेनों की आवाजाही 12 मई से शुरू होगी. चूंकि चेन्नई में कोरोनावायरस संक्रमण के मामलों में वृद्धि हो रही है, ऐसे में मेरे राज्य में 31 मई, 2020 तक ट्रेन सेवा शुरू करने की अनुमति ना दें.’ उन्होने कहा, ‘मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि 31 मई, 2020 तक सामान्य हवाई यातायात भी बहाल ना करें.’
  8. आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि कृषि बाजार खुलने चाहिए. उन्होंने लोन में नरमी का सुझाव भी दिया ताकि लोगों को लॉकडाउन की मुश्किलों से निपटने में मदद मिल सके. उन्होंने यह भी कहा कि सार्वजनिक परिवहन, खरीदारी और मॉल को सभी वायरस प्रोटोकॉल बनाए रखने के लिए एसओपी के साथ अनुमति दी जानी चाहिए.
  9. तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सोमवार को आग्रह किया कि वह इस समय यात्री ट्रेन सेवा को शुरू नहीं करें. इससे लोगों की आवाजाही होगी, जिससे कोरोनावायरस की जांच करने और उन्हें क्वारेंटीन करने में परेशानी आएगी. प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली वीडियो कॉन्फ्रेंस में केसीआर ने कहा कि कोविड-19 का प्रभाव दिल्ली, मुंबई, चेन्नई और हैदराबाद समेत बड़े शहरों में ज्यादा है. मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने प्रधानमंत्री मोदी से आग्रह किया है कि यात्री ट्रेन सेवा को शुरू नहीं करें जिन्हें देश में कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के उपाय के तहत स्थगित किया गया था.
  10. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि राज्य सरकारों को अपने राज्यों के भीतर आर्थिक गतिविधियों से निपटने के बारे में निर्णय लेने का अधिकार मिलना चाहिए. उन्होंने कहा कि उन्हें भी रेड, ग्रीन और ऑरेंज जोन के निर्धारण का दायित्व मिलना चाहिए. बघेल ने कहा कि रेल सेवा शुरू होने से वर्तमान स्थिति में बदलाव आएगा. नियमित रेल, हवाई सेवा तथा अंतरराज्यीय बस परिवहन की शुरुआत राज्य सरकारों से विचार विमर्श करके की जानी चाहिए. उन्होंने श्रमिकों के परिवहन के लिए एसडीआरएफ (राज्य आपदा राहत कोष) से खर्च की अनुमति देने का भी सुझाव दिया.
Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *