Pages Navigation Menu

Breaking News

31 दिसंबर तक बढ़ी ITR फाइलिंग की डेडलाइन

 

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए ना हो; पीएम नरेंद्र मोदी

सच बात—देश की बात

घाटी और दिल्ली में ‘दिल का रिश्ता’ रखने पर जोर

jk leadersनयी दिल्ली : जम्मू कश्मीर के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  की सर्वदलीय बैठक आज संपन्न हुई. बैठक में शामिल होने के लिए जम्मू-कश्मीर के नेता कल से ही दिल्ली पहुंच रहे थे. इस बैठक में चार पूर्व मुख्यमंत्रियों सहित 14 से ज्यादा नेताओं को आमंत्रित किया गया था. बैठक में जम्मू-कश्मीर के नेताओं ने पीएम मोदी के सामने पांच मांग रखी है.जम्मू-कश्मीर के राजनीतिक नेताओं के साथ आज की बैठक महत्वपूर्ण कदम है. उक्त बातें पीएम नरेंद्र मोदी ने बैठक के बाद कहा. उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर के विकास के लिए यह वार्ता जरूरी साबित होगी.

कश्मीर समस्या के हल के लिए स्वर्गीय प्रधानमंत्री अटल बिहारी ने इंसानियत, जम्हूरियत और कश्मीरियत की नीति दी थी. प्रधानमंत्री रहते हुए अटल बिहारी वाजपेयी के कई दफा कश्मीर समस्या के समाधान की कोशिश थी. अब, जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 के हटने के दो साल बाद पीएम नरेंद्र मोदी की कोशिश घाटी और दिल्ली के बीच jk-meetingदिल का रिश्ता बनाने की है. इसकी बानगी गुरुवार को दिखी. पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर कश्मीरी नेताओं से तीन घंटे की मैराथन मीटिंग की. बैठक में घाटी से जुड़े कई मुद्दों पर चर्चा की गई. इस मीटिंग में तमाम कश्मीरी नेता, जम्मू कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा, केंद्रीय अधिकारियों समेत कई गणमान्य लोग मौजूद रहें.प्रधानमंत्री के साथ बैठक के बाद कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हमने पीएम मोदी के सामने पांच मांग रखी, जिसमें जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा देने, लोकतंत्र की बहाली के लिए अविलंब विधानसभा चुनाव कराने, कश्मीरी पंडितों का पुनर्वास, सभी राजनीतिक बंदियों की रिहाई और डोमिसाइल नियमों की मांग शामिल है.पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक में भी आर्टिकल 370 का राग अलापा और कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोग 5 अगस्त 2019 के बाद बहुत मुश्किलों में हैं. वे गुस्से में हैं, परेशान हैं और भावनात्मक रूप से टूट चुके हैं. वे आर्टिकल 370 की बहाली चाहते हैं.सर्वदलीय बैठक के बाद बीजेपी रविंदर रैना ने कहा- ‘पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर के सभी नेताओं को विश्वास दिलाया है कि जम्मू-कश्मीर के उज्ज्वल भविष्य के लिए सभी मिलकर कार्य करेंगे. जम्मू-कश्मीर की मजबूती और जनता की भलाई के लिए हर कार्य किया जाएगा जिससे लोगों का भला हो.

हम जम्मू कश्मीर के संपूर्ण विकास के लिए प्रतिबंध हैं. बैठक में जम्मू कश्मीर के भविष्य पर चर्चा हुई. हमने परिसीमन और शांतिपूर्ण चुनाव के मुद्दे पर बात की, जैसा कि हमने संसद में वादा किया था

अमित शाह, गृह मंत्री

—–

हमारी प्राथमिकता है कि जम्मू कश्मीर में निचले स्तर तक लोकतंत्र को मजबूत किया जाए. जल्द से जल्द परिसीमन किए जाने की जरूरत है ताकि जल्दी चुनाव कराए जा सकें. इससे जम्मू कश्मीर को चुनी हुई सरकार मिलेगी जो जम्मू कश्मीर के विकास में मजबूती देगी.

पीएम मोदी
Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »