Pages Navigation Menu

Breaking News

लव जेहाद: उत्तर प्रदेश में 10 साल की सजा का प्रावधान

पाकिस्तान संसद ने माना, हिंदुओं का कराया जा रहा जबरन धर्मातरण

जम्‍मू-कश्‍मीर में 25 हजार करोड़ का भूमि घोटाला

दिल्ली सहित बड़े शहरों में बेकाबू हो रहा कोरोना

modi-april-14कोरोना वायरस महामारी को लेकर भारत के मौजूदा हालात और आगे की तैयारी को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कैबिनेट के वरिष्ठ मंत्रियों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ चर्चा की। पीएमओ की ओर से बताया गया है कि प्रधानमंत्री मोदी ने अधिकारियों के साथ बैठक में दिल्ली सहित विभिन्न राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में महामारी की स्थिति की समीक्षा की।यह बैठक ऐसे समय में हुई है जब आज ही देश में कोरोना वायरस केसों की संख्या 3 लाख के पार चली गई है। देश में आज कोरोना से रिकॉर्ड 11 हजार से भी अधिक केस सामने आए हैं।पीएमओ की ओर से कहा गया  कि प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में हुई बैठक में जानकारी दी गई कि कोविड-19 के दो-तिहाई मामले पांच राज्यों में हैं जिनमें से अधिक मामले बड़े शहरों में सामने आए हैं।बैठक के दौरान राजधानी दिल्ली के मौजूदा हालात को लेकर भी चर्चा हुई और अगले दो महीने की के अनुमानों पर भी बात हुई। इस दौरान पीएम मोदी ने सलाह दी कि केंद्र गृहमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री एलजी और दिल्ली के मुख्यमंत्री के साथ आपात बैठक बुलाएं, जिसमें केंद्र सरकार के वरिष्ठ अधिकारी और तीनों नगर निगमों के महापौर भी मौजूद रहेंगे। इस बैठक में मौजूदा हालात से निपटने के लिए एक साझा प्लान तैयार किया जाए।

बड़े शहरों की चुनौतियों पर चर्चा 
बड़े शहरों में बढ़ते केसों की चुनौती को देखते हुए टेस्टिंग के साथ बेड की संख्या बढ़ाने पर चर्चा हुई ताकि प्रतिदिन केसों में हो रही वृद्धि से बेहतर तरीके से निपटा जाए। पीएम मोदी ने आधिकार प्राप्त समूह की ओर से जिलेवार बेड/आइसोलेशन बेड की जरूरतों को लेकर दिए गए प्रस्ताव का संज्ञान लिया और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ आपातकालीन योजना पर काम करने को कहा।

दिल्ली में बेकाबू होते कोरोना से केंद्र सरकार चिंतित

kejriwalराजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के बेकाबू होते हालात ने दिल्ली सरकार के साथ ही केंद्र सरकार की भी चिंता बढ़ा दी है। इसे देखते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह रविवार 14 जून को दो हाईलेवल मीटिंग करेंगे।अमित शाह दिल्ली में कोविड-19 की स्थिति पर चर्चा के लिए रविवार सुबह पहले उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ बैठक करेंगे। इसके बाद शाम को वह तीनों नगर निगमों के महापौरों के साथ भी बैठक करेंगे। यह दोनों बैठकें दिल्ली में कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते मामलों के मद्देनजर बुलाई गई है। गृहमंत्री कार्यालय की तरफ से ट्वीट कर यह जानकारी दी गई है। ट्वीट में कहा गया है, “गृहमंत्री अमित शाह और स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन राजधानी दिल्ली में कोविड-19 के संदर्भ में स्थिति की समीक्षा के लिए दिल्ली के उप राज्यपाल, मुख्यमंत्री और एसडीएमए के सदस्यों के साथ 14 जून को सुबह 11 बजे बैठक करेंगे। एम्स के निदेशक और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी इस दौरान मौजूद रहेंगे। इसके बाद कल शाम पांच बजे गृहमंत्री अमित शाह और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन COVID-19 के संबंध में नगर निगम की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए दिल्ली की तीनों नगर निगमों के महापौरों के साथ भी बैठक करेंगे। इस बैठक में उपराज्यपाल अनिल बैजल, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, एम्स के डायरेक्टर और तीनों नगर निगमों के आयुक्त और केंद्रीय गृह और स्वास्थ्य मंत्रालयों के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।

दिल्ली में रोज नए रिकॉर्ड बना रहा कोरोना 

राजधानी में कोरोना संक्रमण ने अब अपना रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है। इस महामारी ने शुक्रवार को यह एक और नया रिकॉर्ड बनाया है। दिल्ली में एक दिन में 2137 नए मरीज मिलने के बाद यहां कुल संक्रमितों का आंकड़ा 36 हजार और 71 मरीजों की मौत से मृतकों की संख्या 12 सौ को पार कर गई है।दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार रात जारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 2137 रिकॉर्ड मामले सामने आए और संक्रमितों की कुल संख्या 36824 पर पहुंच गई। आंकड़ों में मृतक 71 बताए गए हैं और अब इनकी कुल संख्या 1214 पर पहुंच गई है। हालांकि, कल के 1085 की तुलना में वायरस से मरने वालों की कुल संख्या में 129 की बढ़ोतरी हुई है।मंत्रालय के मुताबिक, दिल्ली में वायरस से आज 667 मरीज संक्रमण मुक्त हुए और अब तक 13398 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। फिलहाल राजधानी में 22212 एक्टिव मामले हैं। दिल्ली सरकार के मुताबिक, 17261 कोरोना मरीजों को उनके घरों में ही आइसोलेशन में रखा गया है। अब तक 277436 लोगों की कोरोना की जांच की गई। अब कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़कर 222 हो गई है। दिल्ली में अस्पतालों में कुल कोरोना बेड 9558 हैं, जिसमें से 5361 भरे हुए हैं, जबकि 4197 बेड खाली हैं। आईसीयू बेड और वेंटिलेटर कुल 598 हैं जिसमें 345 पर मरीज हैं जबकि 254 रिक्त हैं।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *