Pages Navigation Menu

Breaking News

नड्डा ने किया नई टीम का ऐलान,युवाओं और महिलाओं को मौका

कांग्रेस में बड़ा फेरबदल ,पद से हटाए गए गुलाम नबी

  पाकिस्तान में शिया- सुन्नी टकराव…शिया काफिर हैं लगे नारे

मुंबई: भारत बंद के दौरान प्रदर्शनकारी और लोगों के बीच झड़प

Mumbai_Protestनई दिल्ली: नागरिकता संसोधन कानून , NRC के विरोध में बहुजन क्रांति मोर्चा ने आज भारत बंद का आव्हान किया है. मुंबई में बंद कराने की कोशिश में प्रदर्शनकारियो को आम मुम्बई के लोगो के गुस्से का सामना करना पड़ा. मुंबई की लोकल ट्रेन रोकने गए प्रदर्शनकारियों और आम लोकल ट्रेन यात्रियों में बहस हो गई जिसके बाद प्रदर्शन करियों को रेलवे ट्रैक से हटना पड़ा.कई जगहों पर प्रदर्शनकारी और आम लोगों के बीच झड़प भी हुई बहुजन क्रांति मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने सेंट्रल रेलवे लाइन के विद्या विहार रेलवे स्टेशन पर ट्रेन रोकने की कोशिश की. आरपीएफ और रेलवे पुलिस मूकदर्शक बनी रही. पर कुछ देर बाद आम लोग लोकल ट्रेन से बाहर आए और प्रदर्शनकारियों को सुनाने लगे. लोकल ट्रेन की महिला यात्रियों ने प्रदर्शनकारियों को खरी खोटी सुनाई. कॉलेज जाने वाली छात्राओं ने प्रदर्शन कारी लड़को से अपनी उम्र देखने और पढ़ाई करने की सलाह भी दी.बहुजन क्रांति मोर्चा ने मुंबई बंद को सफल बनाने का पूरा प्रयास किया पर कोई खास सफलता नही मिली. मुंबई की लोकल ट्रेन में रोज़ाना लाखो लोग सफर करते है. मुम्बई की लोकल ट्रेन मुम्बई की लाइफलाइन है. केवल सेंट्रल रेलवे लाइन पर 75 लाख यात्री यात्रा करते है. 15 से 20 लोग लोकल ट्रेन रोककर काम पर जाने वाले लोगो को रोक रहे थे.दरअसल 2 दिन पहले भी वंचित बहुजन आघाड़ी ने भारत बंद का आव्हान किया था जिसका कोई प्रभाव नही पड़ा. आज कुर्ला, चेम्बूर जैसे इलाकों से प्रदर्शन कारी निकले वहा कुछ लोगो ने दुकाने बंद की पर प्रदर्शन कारियो के जाते ही दुकाने खुल गई. रेल यात्रियों में इस बात का गुस्सा है कि आए दिन CAA, NRC के नाम पर मुठ्ठी भर लोग बंद के नाम पर आम लोगो को परेशान करते है और प्रशासन मूकदर्शक बनी रहती है.

हैदराबाद में मिला-जुला असर

बहुजन क्रांति मोर्चा द्वारा बुलाए गए भारत बंद का हैदराबाद व तेलंगाना के दूसरे शहरों में मिला-जुला प्रभाव रहा। हैदराबाद के मुस्‍लिम बहुल इलाकों में दुकानों व अन्‍य प्रतिष्‍ठानों के साथ तमाम शिक्षण संस्‍थान बंद रहे। वहीं, पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में बुधवार को दो समूहों के बीच हुई झड़प में दो लोगों की मौत हो गई। पुणे में विरोध प्रदर्शन कर रहे 250 लोगों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

बिहार के सीतामढ़ी में हिंसा

बिहार के सीतामढ़ी में नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के विरोध में बुलाए गए भारत बंद के दौरान दो पक्षों में झड़प हो गई, जिसमें 15 लोग घायल हो गए। बता दें कि बहुजन क्रांति मोर्चा के इस भारत बंद को एनआरसी-सीएए का विरोध करने वाले अन्य संगठनों का भी सहयोग मिला। वहीं, दिल्ली के जंतर-मंतर पर भी नागरिकता कानून और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन हुआ।महाराष्ट्र के यवतमाल में एक दुकानदार ने कई संगठनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद के दौरान सीएए, एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ आंदोलनकारियों को आज अपनी दुकान बंद करने से रोकने के लिए लाल मिर्च पाउडर का उपयोग किया।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *