Pages Navigation Menu

Breaking News

31 दिसंबर तक बढ़ी ITR फाइलिंग की डेडलाइन

 

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए ना हो; पीएम नरेंद्र मोदी

सच बात—देश की बात

दैनिक भास्कर सूमह के ठिकानों पर छापे, कर चोरी के आरोप

danik bhaskarभोपाल देश के नामी मीडिया संस्थान दैनिक भास्कर ग्रुप के दफ्तरों पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने छापेमारी की है। पूरे मामले की जानकारी रखने वाले सूत्रों ने बताया कि यह छापेमारी टैक्स चोरी के मामले की जांच के लिए की जा रही है। इसके तहत आईटी विभाग की टीम ने दिल्ली, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और राजस्थान में स्थित दैनिक भास्कर समूह के ठिकानों पर छापेमारी की है। आयकर विभाग की ओर से यह जानकारी नहीं दी गई है कि किस मामले में यह छापेमारी की जा रही है। इसके अलावा यह भी नहीं बताया गया है कि किन दफ्तरों और परिसरों पर रेड डाली गई है।

समाचार पत्र दैनिक भास्कर पर मारे गए छापे पर अनुराग ठाकुर ने कहा कि हम इस पर संसद में भी जवाब देंगे. उन्होंने कहा कि एजेंसियां अपना काम करती हैं. इस पर हम कोई टिप्पणी नहीं करते, जो जानकारी दी जा रही है वह जरूरी नहीं कि सच हो. टैक्स चोरी के आरोप में मीडिया ग्रुप दैनिक भास्कर और उत्तर प्रदेश के एक न्यूज चैनल पर आज सुबह कई शहरों में इनकम टैक्स की टीमों ने छापेमारी की. जैसे ही महत्वपूर्ण मीडिया आउटलेट्स पर छापेमारी शुरू हुई विपक्षी दलों ने सरकार पर सोशल मीडिया पर हमले और निंदा शुरू कर दी.सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने सरकार की इस कार्रवाई पर जवाब दिया कि वे इस पर संसद में जवाब देंगे.

अनुराग ठाकुर ने कैबिनेट ब्रीफिंग में संवाददाताओं से कहा, “एजेंसियां अपना काम करती हैं, हम उनके कामकाज में हस्तक्षेप नहीं करते हैं. मैं यह भी कहना चाहूंगा कि किसी भी घटना के बारे में रिपोर्ट करने से पहले तथ्यों को जानना होगा. कभी-कभी जानकारी की कमी भ्रम पैदा होती है.” .इनकम टैक्स के करीब 100 लोगों की टीम ने दिल्ली, मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र में दैनिक भास्कर के करीब 30 स्थानों की तलाशी ली. समूह के प्रमोटरों के घरों और कार्यालयों पर भी छापेमारी की गई. दैनिक भास्कर के एक वरिष्ठ संपादक ने एनडीटीवी को बताया कि समूह के जयपुर, अहमदाबाद, भोपाल और इंदौर कार्यालयों में छापेमारी चल रही है.उत्तर प्रदेश के एक टेलीविजन चैनल ‘भारत समाचार’ पर भी छापा मारा गया. सूत्रों के अनुसार आयकर की एक टीम ने कर दस्तावेजों की जांच के लिए लखनऊ कार्यालय और संपादक के घर की तलाशी ली.अधिकारियों ने कहा कि छापे चैनल द्वारा “कर धोखाधड़ी के निर्णायक सबूत” पर आधारित थे. भारत समाचार की हालिया रिपोर्टिंग में यूपी सरकार की आलोचना की गई है. विपक्ष ने आरोप लगाया कि छापे सरकार द्वारा कोविड के “कुप्रबंधन” पर रिपोर्टों से जुड़े थे.

सामने आई जानकारी के मुताबिक दैनिक भास्कर समूह विभिन्न क्षेत्रों में शामिल है, जिनमें प्रमुख रूप से मीडिया, बिजली, कपड़ा और रियल एस्टेट है। यह समूह सालाना 6000 करोड़ रुपये से अधिक का कारोबार करता है। समूह में होल्डिंग और सहायक कंपनियों सहित 100 से अधिक कंपनियां हैं। बता दें कि इस समूह की प्रमुख कंपनी डीबी कॉर्प लिमिटेड है, जो दैनिक भास्कर समाचार प्रकाशित करती है।इसके अलावा यह समूह में कोयला आधारित बिजली उत्पादन व्यवसाय मेसर्स डीबी पावर लिमिटेड के नाम से किया जाता है। समूह के मुख्य व्यक्तियों में 3 भाई शामिल हैं। जिनके नाम सुधीर अग्रवाल, पवन अग्रवाल और गिरीश अग्रवाल हैं।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »