Pages Navigation Menu

Breaking News

अयोध्या विकास प्राधिकरण की बैठक में सर्वसम्मति से राम मंदिर का नक्शा पास

मानसून सत्र 14 सितंबर से 1 अक्टूबर तक चलेगा, दोनों सदन अलग-अलग समय पर चलेंगे

  7 सितंबर से चरणबद्ध तरीके से मेट्रो सेवाएं होंगी शुरू, 12 सितंबर तक सभी मेट्रो लगेंगीं चलने 

साल के पहले दिन घरेलू गैस और ट्रेन किराया महंगा

railwayनई दिल्ली साल 2020 के पहले दिन जनता को महंगाई का डबल डोज मिला है। आज से बिना सब्सिडी वाला घरेलू गैस सिलिंडर महंगा हो गया और ट्रेन का किराया भी बढ़ गया है। लगातार पांचवें महीने एलपीजी गैस सिलिंडर की कीमत में इजाफा हुआ है। महानगरों में इसकी कीमत में 21.50 रुपये तक का इजाफा हुआ है। वहीं रेलवे ने किराये में 1 पैसे से लेकर 4 पैसे प्रति किलोमीटर तक की बढ़ोतरी की है। किराये में बढ़ोतरी का ज्यादा असर उन यात्रियों पर पड़ेगा जो लंबी दूरी की यात्रा करते हैं। दूरी जितनी अधिक होगी किराया उतना ही अधिक होगा।

14.2 किलोग्राम वाला इंडेन गैस 22 रुपये तक महंगा
महानगरों में 14.2 किलोग्राम वाला इंडेन गैस 22 रुपये तक महंगा हो गया है। इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, 14.2 किलोग्राम वाले एलपीजी सिलिंडर की कीमत दिल्ली में 714 रुपये, कोलकाता में 747 रुपये, मुंबई में 684.50 रुपये और चेन्नै में 734 रुपये है। अगस्त महीने से घरेलू गैस करीब 140 रुपये तक महंगा हो चुका है।

महानगरों के नाम 1 जनवरी 2020 को कीमत दिसंबर 2019 में कीमत कीमत में बदलाव
दिल्ली ₹714 ₹695 +19 रुपये
मुंबई ₹684.50 ₹665 +19.50 रुपये
कोलकाता ₹747 ₹725.50 +21.50 रुपये
चेन्नै ₹734 ₹714 +20 रुपये

दिसंबर में 14.2 किलोग्राम वाले घरेलू गैस की कीमत दिल्ली में 695 रुपये, कोलकाता में 725.50 रुपये, मुंबई में 665 रुपये और चेन्नै में 714 रुपये थी।
अगस्त के महीने में रसोई गैस सिलिंडर करीब 62 रुपये सस्ता हुआ था। उसके बाद हर महीने कीमत में उछाल आया। अगस्त महीने से घरेलू गैस करीब 140 रुपये तक महंगा हो चुका है।

19 किलोग्राम वाला सिलिंडर 33 रुपये तक महंगा
19 किलोग्राम वाले सिलिंडर की कीमत में भी करीब 33 रुपये तक का इजाफा हुआ है। 1 जनवरी से इस सिलिंडर की कीमत दिल्ली में 1241 रुपये, कोलकाता में 1308.50 रुपये, मुंबई में 1190 रुपये और चेन्नै में 1363 रुपये है। दिसंबर में 19 किलोग्राम वाले सिलिंडर की कीमत दिल्ली में 1211.50 रुपये, कोलकाता में 1275.50 रुपये, मुंबई में 1160.50 रुपये और चेन्नै में 1333 रुपये थी।

सब अर्बन किराये में बढ़ोतरी नहीं
रेलवे ने सब अर्बन किराये में कोई बढ़ोतरी नहीं की है, जबकि ऑर्डिनरी नॉन एसी, नॉन-सब अर्बन किराये में प्रति किलोमीटर 1 पैसे की बढ़ोतरी की गई है। रेलवे ने मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों को नॉन-एसी ट्रेनों के किराये में 2 पैसे, जबकि वातानुकूलित श्रेणी के किराये में 4 पैसे प्रति किलोमीटर की बढ़ोतरी की गई है।

शताब्दी और राजधानी के किराये पर असर नहीं
नए किराये में शताब्दी, राजधानी तथा दूरंतो जैसी ट्रेनें भी शामिल हैं। रिजर्वेशन फी तथा सुपरफास्ट चार्ज में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है। पहले से बुक की गई टिकटों पर किराये में बढ़ोतरी का कोई असर नहीं पड़ेगा। किराये में बढ़ोतरी को हम उदाहरण द्वारा समझने की कोशिश करते हैं। दिल्ली-कोलकाता राजधानी एक्सप्रेस 1,447 किलोमीटर की दूरी तय करती है, जिसके किराये में 4 पैसे प्रति किलोमीटर की बढ़ोतरी की गई है, जिसके हिसाब से किराये में 58 रुपये की बढ़ोतरी हो जाएगी।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *