Pages Navigation Menu

Breaking News

बंगाल में ममता,असम में बीजेपी, तमिलनाडु में डीएमके तो केरल में लेफ्ट की जीत

 

सुप्रीम कोर्ट में समय से पहले गर्मी की छुट्टियां, दिल्ली में एक सप्ताह और बढ़ा लॉकडाउन

एसबीआई ने आवास ऋण पर ब्याज दर 6.70 प्रतिशत की

सच बात—देश की बात

लाल किला हिंसा के आरोपी ने बताई हैरान करने वाली वजह

Deep-Sidhuगणतंत्र दिवस पर लाल किले में हुई हिंसा को लेकर गिरफ्तार किए गए अभिनेता-कार्यकर्ता दीप सिद्धू ने पुलिस को बताया है कि आखिर वह इतने दिनों तक क्यों छुपा था। लाल किला हिंसा मामले में गिरफ्तार किए गए पंजाबी एक्टर दीप सिद्धू ने पुलिस को बताया है कि वह इसलिए छिप रहा था क्योंकि उसकी जान जोखिम में थी और उसे डर था कि उसे मार दिया जाएगा, क्योंकि किसान नेताओं ने हिंसा का सारा दोष उसी पर मढ़ा है। इस मामले से जुड़े पुलिस अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी।

पुलिस अफसरों ने कहा कि सिद्धू ने यह भी कहा है कि लाल किला और आईटीओ के लिए निकला ट्रैक्टर मार्च स्पॉनटेनियस (स्वत:) नहीं था। उसने कहा कि गणतंत्र दिवस की रैली से 15 दिन पहले पंजाब में और सिंघु सीमा पर किसान नेता किसानों को बता रहे थे कि वे नई दिल्ली, संसद, इंडिया गेट और लाल किले के लिए अपनी ट्रैक्टर रैली निकालेंगे। बता दें कि लाल किले पर हिंसा के बाद से ही दीप सिद्धू गायब था, जिसे कई दिनों की तलाश के बाद मंगलवार को गिरफ्तार किया गया।

हालांकि, पुलिस ने कहा कि दीप सिद्धू द्वारा लगाए गए आरोपों और किए गए खुलासों का सत्यापन किया जाएगा। वहीं किसान नेताओं ने कहा कि वे जब तक दीप सिद्धू के बयानों को नहीं सुनते और पढ़ते तब तक वे इस पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे। भारतीय किसान यूनियन (BKU) दोआबा समूह के अध्यक्ष मंजीत राय ने कहा कि जब तक हम आधिकारिक तौर पर यह नहीं जानते कि दीप सिद्धू ने पुलिस से क्या कहा है, तब तक हम इस पर टिप्पणी नहीं कर सकते।

अधिकारियों ने कहा कि दीप सिद्धू ने कहा कि उसका कोई बुरा इरादा नहीं था और जैसे सभी वहां जा रहे थे तो वह भी चला गया था।  सिद्धू ने शुरू में 25 जनवरी को सिंघू बॉर्डर पर अपनी मौजदूगी से इनकार किया लेकिन जब उसे पुलिस ने सबूत दिखाया तो उसने माना कि वह किसान प्रदर्शन स्थल पर था लेकिन वह वहां से थोड़ी दूरी पर सोया था। दीप ने दावा किया कि जब वह 26 जनवरी को जगा तो उसके मोबाइल फोन पर लोगों के लालकिले की ओर बढ़ने के बारे में तीन मिस्ड कॉल और संदेश थे,तो वह भी अपने तीन दोस्तों के साथ वहां पहुंच गया। उसने कहा कि वह पूर्वान्ह्र 11 बजे अपने दोस्तों के साथ गाड़ी से सिंघू बार्डर से चला और एक बजे लाल किला पहुंचा। उसने कहा कि हिंसा फैलने के बाद वह उसी गाड़ी से लौट आया।

अधिकारी ने बताया कि दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने बुधवार को सिद्धू से उसके ठिकानों और 26 जनवरी को लालकिले में कृत्य के बारे में पूछताछ की। दिल्ली की एक अदालत ने मंगलवार को सिद्धू को सात दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया था। उससे एक दिन पहले उसे लालकिला हिंसा के सिलसिले में करनाल बाइपास से गिरफ्तार किया गया था।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »