Pages Navigation Menu

Breaking News

भारत ने 45 दिनों में किया 12 मिसाइलों का सफल परीक्षण

पाकिस्तान संसद ने माना, हिंदुओं का कराया जा रहा जबरन धर्मातरण

सिनेमा हॉल, मल्टीप्लैक्स, इंटरटेनमेंट पार्क 15 अक्टूबर से खोलने की इजाजत

पाकिस्तानी सेना में भ्रष्टाचार का बड़ा खुलासा

pakistan armyइस्लामाबाद: आर्थिक बदहाली से जूझ रहे पाकिस्तान  में सेना में भ्रष्टाचार का बड़ा खुलासा हुआ है. एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि पूर्व जनरल असीम सलीम बाजवा  ने सेना में रहने के दौरान खूब पैसा कमाया. उनके परिवार के पास 133 रेस्टोरेंट और 99 कंपनियां हैं. इतना ही नहीं, उनका कारोबार कई देशों में फैला हुआ है.पाकिस्तानी पत्रकार अहमद नूरानी  ने यह खुलासा किया है. नूरानी ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि पूर्व जनरल का कारोबार पाकिस्तान, यूएई, कनाडा और अमेरिका में फैला हुए है. उन्होंने सेना में रहने के दौरान बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार किया, जिसकी बदौलत वह करोड़ों का एम्पायर खड़ा कर सके. बाजवा चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर के चेयरमैन हैं और प्रधानमंत्री इमरान खान के विशेष सहायक की जिम्मेदारी भी निभा रहे हैं. कहा जाता है कि चीन से नजदीकियों के चलते ही उन्हें रिटायर होने के बाद CPEC का चेयरमैन नियुक्त किया गया.

असीम बाजवा 6 भाई और तीन बहनें हैं. रिपोर्ट के अनुसार, बाजवा के छोटे भाइयों ने 2002 में अपना पहला पापा पिज्जा रेस्तरां खोला. इसी साल उन्होंने लेफ्टिनेंट कर्नल के रूप में जनरल परवेज मुशर्रफ के लिए काम शुरू किया था. किसी जमाने में उनके भाई नदीम बाजवा पिज्जा रेस्टोरेंट में डिलीवरी बॉय थे. आज नदीम और असीम बाजवा की पत्नी 99 कंपनियों के मालिक हैं. बाजवा परिवार के पास पिज्जा कंपनी के 133 रेस्टोरेंट हैं, जिनकी कीमत करीब 4 करोड़ डॉलर है. इन 99 कंपनियों में 66 मुख्य कंपनियां हैं जबकि 33 ब्रांच कंपनियां हैं. रिपोर्ट बताती है कि बाजवा के परिवार ने उनके जनरल रहते हुए $52.2 मिलियन अपने बिजनेस को विकसित करने में खर्च किया था. साथ ही अमेरिका में $14.5 मिलियन की संपत्ति खरीदी थी. अपनी इस रिपोर्ट में पत्रकार अहमद नूरानी ने तथ्तों के साथ पाकिस्तानी सेना के पूर्व जनरल असीम सलीम बाजवा के भ्रष्टाचार का खुलासा किया है. ऐसे वक्त में जब पाकिस्तान आर्थिक तंगी का सामना कर रहा है यह रिपोर्ट निश्चित तौर पर सरकार और सेना के लिए बड़े झटके की तरह है.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *