Pages Navigation Menu

Breaking News

कोरोना वायरस; अच्‍छी खबर, भारत में ठीक हुए 100 मरीज

1.7 लाख करोड़ का कोरोना पैकेज, वित्त मंत्री की 15 प्रमुख घोषणाएं

भारतीय वैज्ञानिक ने तैयार की कोरोना वायरस टेस्टिंग किट

हिंदू समाज का कभी अंत नहीं होगा ; भैयाजी जोशी

rss joshi bhaya jiराष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के महासचिव सुरेश भैयाजी जोशी का कहना है कि  ‘जो भी (भारत में) काम करना चाहता है, उसे हिंदुओं के साथ और उनके कल्याण के लिए काम करना चाहिए. प्राचीन काल से ही हिंदुओं ने भारत के उत्थान और पतन को देखा है. भारत को हिंदू (समुदाय) से अलग करके नहीं देखा जा सकता. हिंदू हमेशा इस देश के केन्द्र में रहे हैं.’ आरएसएस का दृष्टिकोण’ विषय पर व्याख्यान दे रहे थे.उन्होंने कहा, ‘जो भी (भारत में) काम करना चाहता है, उसे हिंदुओं के साथ और उनके कल्याण के लिए काम करना चाहिए.

  • गोवा के कार्यक्रम में बोले भैयाजी जोशी ने कहा- भारत अनंत है
  • भारत की तरह हिंदू समाज का भी कभी अंत नहीं होगा

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के ‘भारत के लिए संघ के विचार पर बुद्धिजीवियों के साथ संवाद और एक व्याख्यान’ कार्यक्रम में गोवा और दमन के आर्चबिशप रीव फिलिप नेरी फेरारो को भी आमंत्रित किया था. यह कार्यक्रम पणजी के दोना पावला में आयोजित किया गया था.जोशी ने कहा, ‘भारत कभी खत्म नहीं होगा. यह अकेला ऐसा देश है, जिसने इतना अधिक दमन देखा है. इसके बाद भी यह हमेशा आगे की ओर बढ़ा है. भारत अनंत काल तक रहेगा. इसका मतलब यह है कि हिंदू समाज का कभी अंत नहीं होगा. भारत को हिंदुओं से अलग नहीं किया जा सकता। अगर आज भारत जीवंत है तो इसका कारण सिर्फ हिंदू ही हैं। इस देश के केंद्र में हिंदू हैं और जिसे भी यहां काम करना है, उसे हिंदू समुदाय के लिए काम करना होगा।’

‘किसी समुदाय के खिलाफ नहीं, हिंदुओं को मिले प्राथमिकता’
हालांकि इस बयान के बाद अपनी बात स्पष्ट करते हुए जोशी ने यह भी कहा कि उनका मतलब यह नहीं है कि वह किसी समुदाय के खिलाफ हैं। वह बस यह कहना चाहते हैं कि प्राथमिक रूप से काम हिंदुओं के लिए होना चाहिए। बता दें कि भैयाजी जोशी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के शीर्ष चेहरों में से एक रहे हैं। वह पूर्व में भी देश की तमाम वैचारिक संगोष्ठियों और अन्य मंचों पर संघ के विचारों को आम लोगों के बीच रखते रहे हैं।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *