Pages Navigation Menu

Breaking News

लव जेहाद: उत्तर प्रदेश में 10 साल की सजा का प्रावधान

पाकिस्तान संसद ने माना, हिंदुओं का कराया जा रहा जबरन धर्मातरण

जम्‍मू-कश्‍मीर में 25 हजार करोड़ का भूमि घोटाला

उपलब्धि ; सेल-भिलाई स्टील प्लांट से हुआ सर्वाधिक विक्रय

steelसेल के जून महीने की रिकार्ड बिक्री और निर्यात, देश की अर्थव्यवस्था में तेजी से हो रहे सुधार और उछाल को दर्शाता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत इस्पाती इरादे के साथ प्रत्येक चुनौती को अवसर में बदलेगा और सफल आत्मनिर्भर भारत की गाथा लिखेगा।’केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस और इस्पात मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने इस उपलब्धि के लिए ‘सेल’ परिवार को समूहिक रूप से बधाई देते हुए यह बात कही। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) ने जून, 2020 में, अब तक के किसी भी जून महीने के मुकाबले सर्वाधिक विक्रय दर्ज किया है।‘सेल’ ने जून, 2020 में पिछले वर्ष की समान अवधि के मुकाबले 18 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज करते हुए 12.77 लाख टन का घरेलू विक्रय और निर्यात किया है। इसी के साथ कंपनी ने जून, 2020 में अब तक के किसी भी महीने के मुकाबले सर्वाधिक निर्यात करने की भी उपलब्धि हासिल की है। कंपनी ने जून, 2020 के दौरान  3.4 लाख टन स्टील का निर्यात किया। इसी जून महीने के दौरान, ‘सेल’ ने भारतीय रेलवे को अब तक के किसी भी जून महीने के मुकाबले सर्वाधिक रेल की आपूर्ति की है।यही नहीं, ‘सेल’ ने भारत में पहली बार भारतीय रेलवे को आर 260 ग्रेड की वैनेडियम अलॉयड स्पेशल ग्रेड प्राइम रेल की पहली खेप की आपूर्ति की है, जो और अधिक स्पीड एवं एक्सल लोड को संभालने में सक्षम है।इसके साथ ही ‘सेल’ ने जून 2020 में 42 हजार टन पिग आयरन का भी विक्रय किया है।

सेल अध्यक्ष अनिल कुमार चौधरी ने कहा –
‘देश के अनलॉक-2 के फेज में पहुँचने से धीरे-धीरे औद्योगिक गतिविधियों में तेजी आने लगी है। इस समय बाजार माँग और खपत को लेकर आशान्वित है। ‘सेल’ अपनी पूरी क्षमता के साथ देश की जरूरतों और बाजार की माँग को पूरा करने के लिए तैयार है। इसी दौरान, ‘सेल’ के निर्यात बाजार का भी विस्तार हुआ है, जिसे ‘सेल’ अपने समर्पित कार्यबल और योजनागत उत्पादन के जरिये पूरा करने में लगातार जुटा हुआ है।’चौधरी ने आगे कहा, ‘चुनौतियाँ हमारे लिए कई बार अवसरों के नए राह भी खोल देती है। हम चुनौतियों को कितना अवसर में बदल पाते हैं, दरअसल उसी से हमारी असली क्षमता पता चलती है। हम बाजार की माँग के अनुरूप धीरे-धीरे अपना उत्पादन बढ़ा रहे हैं। ‘सेल’ कार्मिक कार्यस्थलों पर सुरक्षा मानकों का पूरी तरह पालन करते उत्पादन गतिविधियों में लगातार लगे हुए हैं, जिससे हम मौजूदा चुनौतियों के बावजूद लगातार आगे बढ़ रहे हैं। हम अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए प्रतिबद्ध और समर्पित हैं।’सेल का यह शानदार प्रदर्शन आत्मनिर्भर भारत के लिए कंपनी की प्रतिबध्द्ता की गवाही है और ‘वोकल फॉर लोकल’ में योगदान सबूत है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *