Pages Navigation Menu

Breaking News

यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों को निकालने के लिए ऑपरेशन गंगा

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

हरियाणा: 10 साल पुराने डीजल, पेट्रोल वाहनों पर प्रतिबंध नहीं

सच बात—देश की बात

जून में कोविशील्ड की 9 से 10 करोड़ डोज की सप्लाई; सीरम इंस्टीट्यूट

Corona-Vaccine-3नई दिल्ली देश में कोरोना वैक्‍सीन की किल्‍लत के बीच बड़ी राहत की खबर है। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) ने जून में कोविशील्ड वैक्‍सीन की नौ से 10 करोड़ डोज के प्रोडक्‍शन और सप्‍लाई का दावा किया है। इस बारे में उसने सरकार को सूचित किया है। कई राज्य कोविड-19 वैक्‍सीन की कमी की शिकायत करते रहे हैं। ऐसे में एसआईआई का यह आश्‍वासन केंद्र सरकार को बड़ी राहत देगा। आधिकारिक सूत्रों ने रविवार को यह जानकारी दी।हाल ही में गृह मंत्री अमित शाह को एसआईआई ने एक पत्र भेजा था। इसमें उसने कहा था कि महामारी के कारण खड़ी हुई चुनौतियों के बावजूद उसके कर्मचारी 24 घंटे काम कर रहे हैं।

पत्र में क्‍या ल‍िखा?
एसआईआई में सरकारी और नियामक मामलों के निदेशक प्रकाश कुमार सिंह ने पत्र में कहा, ‘हमें यह बताते हुए प्रसन्नता है कि हम जून के महीने में कोविशील्ड टीके की नौ से 10 करोड़ डोज का उत्पादन और आपूर्ति करने में सक्षम होंगे। यह मई में हमारी उत्पादन क्षमता 6.5 करोड़ डोज की तुलना में अधिक है।’उन्होंने कहा, ‘हम आपको भरोसा दिलाते हैं कि भारत सरकार के समर्थन और आपके मार्गदर्शन में हम आने वाले महीनों में भी टीका उत्पादन की क्षमता को बढ़ाने के लिए अपने संसाधनों का सर्वोत्तम उपयोग करने का प्रयास कर रहे हैं।’
अभी कौन सी वैक्‍सीन हैं उपलब्‍ध
मई की शुरुआत में पुणे की कंपनी ने केंद्र को बताया था कि वह जून में कोविशील्‍ड का उत्‍पादन बढ़ाकर 6.5 करोड़, जुलाई में 7 करोड़ व अगस्‍त और सितंबर में 10-10 करोड़ कर देगी।भारत में अभी वैक्‍सीनेशन के लिए सीरम इंस्‍टीट्यूट की कोविशील्‍ड और भारत बायोटेक की कोवैक्‍सीन का इस्‍तेमाल हो रहा है। स्‍पूतनिक V तीसरी वैक्‍सीन है जिसे दवा नियामक डीजीसीए से इमर्जेंसी इस्‍तेमाल के लिए मंजूरी मिली है। इसका इस्‍तेमाल कुछ प्राइवेट अस्‍पतालों में हो रहा है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »