Pages Navigation Menu

Breaking News

राम मंदिर के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिए 5 लाख 100 रुपये

 

भारत में कोरोना टीकाकरण अभियान शुरू

किसानों के भविष्य के साथ खिलवाड़ न करें, उन्हें गुमराह न करें; प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

” बॉलीवुड गैंग ने गोविंदा को साइड लाइन किया, फिल्म छीन ली ”

shatrughan with govindaनई दिल्लीl फिल्म अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने खुलासा किया कि बॉलीवुड गैंग ने गोविंदा को साइड लाइन किया और उनसे एक फिल्म भी छीन ली गईl बॉलीवुड अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने रिपब्लिक टीवी से बातचीत के दौरान बॉलीवुड में व्याप्त गैंग कल्चर और भाई-भतीजावाद के बारे में बात की। शत्रुघ्न ने इंडस्ट्री में इस मुद्दे पर कंगना रनोट की जमकर तारीफ की, उन्होंने अभिनेता गोविंदा को भी इस उद्योग में इसी शातिर गतिविधि का शिकार होने का उल्लेख किया।अपनी बातचीत में उन्होंने बताया कि कैसे उनके करियर के गोते खाने के बाद उन्हें इंडस्ट्री से हटा दिया गया। शत्रुघ्न सिन्हा ने अभिनेता गोविंदा की प्रशंसा की, जिन्होंने अपनी प्रतिभा से फिल्म इंडस्ट्री पर राज किया और अपने दम पर चीजें सीखीं।

शत्रुघ्न ने गोविंदा को एक स्व-निर्मित सितारा करार दिया, जिन्होंने एक छात्र होने के साथ-साथ शिक्षक होने के अपने जीवन में दोहरी भूमिका निभाईl उन्होंने कहा, ‘जिस तरह से गोविंदा ने खुद को एक कलाकार के रूप में विकसित किया। उन्होंने खुद को सिखाया है और इंडस्ट्री में बने रहे हैं .. जिस तरह से वे सीखते रहे .. खासकर अपने डांसिंग और अपनी टाइमिंग के बारे में .. वह अपने आप में एक संस्थान बन गए .. हर तरफ के अभिनेता उनसे प्रेरित थे.. जो उनकी नकल कर रहे थे और उनका अनुसरण कर रहे थे।’शत्रुघ्न सिन्हा ने आगे कहा, ‘लेकिन जब गोविंदा अपने जीवन में कठिन दौर से गुजरने लगे तो लोगों ने उन्हें दबाना शुरु कर दिया..’ उन्होंने इस बात का भी उल्लेख किया कि फिल्म इंडस्ट्री ने उन्हें कैसे परेशान किया गया, शॉटगन को यह कहते हुए सुना जाता है कि कुली नंबर 1 अभिनेता की फिल्मों को दूसरों ने कैसे झपट लिया। शत्रुघ्न सिन्हा कहते है, ‘वे उससे दूर होने लगे .. मैंने सुना, और गोविंदा ने खुद सुना, कि एक चल रही फिल्म पर कुछ लोगों ने कब्जा कर लिया था.. फिल्म का एक हिस्सा पहले ही शूट किया गया था .. यह पहले भी हुआ है .. और अब अधिक ज्यादा होने लगा है।’ उन्होंने यह भी उल्लेख किया कि हालांकि उनके समय में भी ये प्रथाएं प्रचलित थीं लेकिन इस पैमाने पर नहीं थीं जैसा कि वर्तमान में इंडस्ट्री में चल रही है।’

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *