Pages Navigation Menu

Breaking News

संघ कार्यालय पर संघी-कांग्रेसियों ने फहराया तिरंगा
पंपोर में मुठभेड़ में तीनों आतंकवादी मारे गए  
वाराणसी में केजरीवाल को दिखाए काले झंडे

शिवसेना का तंज; ‘क्या अब यशवंत बनेंगे देशद्रोही’

sanjay-raut-shiv-sena-mp_650x400_41490868783नई दिल्ली:  गिरती अर्थव्यवस्था पर छिड़ी बहस के बीच अब शिवसेना ने मोदी सरकार पर हमला किया है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में कहा है उसने साल भर पहले ही यह बात कह दी थी, तब उसे देशद्रोही कहा गया। अब ऐसा ही यशवंत सिन्हा के साथ भी होगा।सामना में कहा गया है, ‘यह सब हमने साल भर पहले ही कह दिया था। तब हमें देशद्रोही कहा गया था। अब यशवंत सिन्हा ठहराए जाएंगे।’लेख में यशवंत सिन्हा के लेख में लिखे विकास दर के गणित को समझाने की बात पर कहा गया, ‘यशवंत सिन्हा ने बताया है कि जब भाजपा देश का विकास दर 5.7 फीसदी होने की बात कह रही हैं जबकि भारत का विकास दर प्रत्यक्षरूप से 3.7 फीसदी है। अब यशवंत सिन्हा बेईमान या राष्ट्रद्रोही ठहराए जा सकते है।’शिवसेना के मुताबिक नोटबंदी के कारण अर्थव्यवस्था की धज्जियां उड़ी और देश मे जो आर्थिक मंदी जैसी स्थिति बनी हुई है, उस पर सिन्हा ने प्रकाश डाला है।

 शिवसेना के मुताबिक नोटबंदी के कारण अर्थव्यवस्था की धज्जियां उड़ी और देश मे जो आर्थिक मंदी जैसी स्थिति बनी हुई है, उस पर सिन्हा ने प्रकाश डाला है।सामना में कहा गया है कि विकास दर जब नीचे गिर रही थी, उसी समय नोटबंदी का फैसला लिया गया जो आग में घी डालने जैसा हुआ।सामना में कहा गया है कि इन दिनों कई मामलों में सरकारी योजना की धज्जियां उड़ रही है फिर भी विज्ञापनों का डोज देकर सफलता का ढोल पीटा जा रहा है।सामना के मुताबिक, ‘देश में उद्योग धंधे घट रहे हैं, जिसकी वजह से रोजगार के नए मौकों के निर्माण के बजाए जो नोकरी में है उनका भी रोजगार डूब रहा है। बैंक के कई खाते डूब चुके है, पेट्रोल डीजल का भयंकर रूप से दाम बढ़ रहा है, निजी निवेश में गिरावट आई है, पिछले दो दशकों में इतना कम निवेश कभी नही हुआ, कृषि क्षेत्र भी संकट में है।’इसके साथ ही सामना में सिन्हा के लेख के हवाले से कहा गया है कि निर्यात की भारत में बुरी दशा है।शिवसेना ने सामना में कहा हैं कि, ‘सिन्हा ने जो आरोप लगाए हैं, अगर वो गलत है तो भाजपा इसे सिद्ध करे।’एनडीए में बीजेपी की साथी शिवसेना ने किया मोदी सरकार पर अपने मुखपत्र सामना में एक लेख के ज़रिए हमला किया है। इस लेख में शिवसेना ने मोदी सरकार पर EVM घोटाले का आरोप लगाया है। सामना में लिखा गया है, ‘पैसों का इस्तेमाल कर चुनाव जीतने से विकास हो गया है।’

इसके अलावा सामना में कहा गया है कि रूस में स्टेलिन राज में सरकार के खिलाफ विचार रखने वाले, सत्य बोलनेवाले लोग 1 रात में गायब हो जाते हैं, या उनके रवानगी श्रम छावनी में हो जाती है, अब देखना है यशवंत सिन्हा को इस सच के लिए क्या सामना करना होगा।शिवसेना ने अपने लेख में कथित ईवीएम घोटाले का भी जिक्र किया है। लेख में कहा गया है कि ईवीएम मशीन में घोटाला करके तथा पैसो का इस्तेमाल करके चुनाव जीत गया तो विकास हो गया, ऐसा कुछ लोगों को लगता हैं पर इससे आर्थिक विकास की स्थिति और विकट हो गई है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *