Pages Navigation Menu

Breaking News

राम मंदिर के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिए 5 लाख 100 रुपये

 

भारत में कोरोना टीकाकरण अभियान शुरू

किसानों के भविष्य के साथ खिलवाड़ न करें, उन्हें गुमराह न करें; प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

भारतीय मीडिया को चीन की नसीहत, ताइवान का जवाब- दफा हो जाओ

Indian media china-3चीन के दूतावास की तरफ से बुधवार को भारत की मीडिया को कुछ नसीहतें दी गई थीं। चीनी दूतावास ने भारत की मीडिया से कहा था कि वह वन चाइना पॉलिसी का सम्‍मान करे और ताइवान नेशनल डे की कवरेज पर चीन ने अपनी नाराजगी जताई थी। अब ताइवान की तरफ से चीन को जवाब दिया गया है। ताइवान के नेशनल डे कवरेज को लेकर चीन की ओर से भारतीय मीडिया को चेतावनी भरी नसीहत का ताइवानी विदेश मंत्री ने करारा जवाब दिया है। ताइवान के विदेश मंत्रालय ने भारत के लोकतंत्र और फ्री प्रेस का जिक्र करते हुए कहा कि कम्युनिस्ट चाइना को ताइवान के भारतीय दोस्त एक ही जवाब देंगे- दफा हो जाओ।

 

taiwanताइवान के नेशनल डे कवरेज को लेकर चीन की ओर से भारतीय मीडिया को चेतावनी भरी नसीहत का ताइपे ने करारा जवाब दिया है। ताइवान के विदेश मंत्रालय ने भारत के लोकतंत्र और फ्री प्रेस का जिक्र करते हुए कहा कि कम्युनिस्ट चाइना को ताइवान के भारतीय दोस्त एक ही जवाब देंगे- दफा हो जाओ। गौरतलब है कि बुधवार को ताइवान ने नेशनल डे को लेकर भारतीय अखबारों में पुल पेज विज्ञापन दिया था। इससे बौखलाए चीनी दूतावास ने भारतीय मीडिया आउटलेट्स को चेताते हुए कहा कि दुनिया में केवल एक चीन है और वन चाइना पॉलिसी का सम्मान किया जाए। चीनी दूतावास ने यह भी कहा कि ताइवान चीन का हिस्सा है, इसलिए ताइवान को अलग देश ना बताएं और ताइवान के नेता को राष्ट्रपति ना कहें।

ताइवान के विदेश मंत्री जोसेफ वू ने विदेस मंत्रालय के आधिकारिक ट्विटर पेज पर लिखा, ”भारत पृथ्वी पर सबसे बड़ा लोकतंत्र है, जहां जीवंत प्रेस और आजादी पंसद लोग हैं। लेकिन लगता है कि कम्युनिस्ट चीन इस पर सेंशर लगाना चाहता है। ताइवान के भारतीय दोस्तों का केवल एक जवाब होगा- दफा हो जाओ।” इसके बाद उन्हें अपना इनिशियल लिखा है, ताकि यह स्पष्ट हो कि विदेश मंत्रालय की ओर से उनका बयान जारी किया गया है।दूसरी तरफ भारतीय मीडिया की तरफ से भी चीन की इस नापाक कोशिश पर कड़ी प्रतिक्रिया वक्त की गई है। ट्विटर और फेसबुक पर कई बड़े पत्रकारों ने चीन की इस कोशिश की आलोचना की है और कहा है कि ड्रैगन अपने दखल को मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स तक सीमित रखे। हालांकि, सरकार की ओर से अब तक कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं आई है।

भारत के साथ पूर्वी सीमा पर तनाव में उलझा चीन ताइवान पर लंबे वक्त से दावा ठोंकता रहा है। यहां तक कि वह ताइवान के साथ संबंध रखने पर दूसरे देशों को भी धमकाता रहता है। बावजूद इसके भारत ताइवान के साथ दोस्ताना संबंध रखता है। इसे लेकर बौखलाए चीन को ताइवान ने एक बार फिर दो टूक सुनाई है। दरअसल, 10 अक्टूबर यानी शनिवार को ताइवान का नैशनल डे है जिसके जश्न में शामिल होने के लिए भारतीयों को शुक्रिया कहते हुए ताइवान के विदेश मंत्रालय ने एक बार फिर चीन को इशारा किया है- भाड़ में जाओ।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *