Pages Navigation Menu

Breaking News

यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों को निकालने के लिए ऑपरेशन गंगा

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

हरियाणा: 10 साल पुराने डीजल, पेट्रोल वाहनों पर प्रतिबंध नहीं

सच बात—देश की बात

पाकिस्तानी सेना पर आतंकी हमला, 12 सैनिकों की मौत, कई बंधक

pak armyइस्लामाबाद पाकिस्तान के पाले हुए आतंकी अब उसी को बड़ा जख्म दे रहे हैं। इमरान खान के गृह राज्य खैबर पख्तूनख्वा में आतंकी हमले में पाकिस्तानी सेना के 12 जवानों के मारे जाने की खबर है। रिपोर्ट में यह भी दावा किया जा रहा है कि तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के आतंकियों ने कई लोगों को बंधक भी बनाया है, जिसमें पाकिस्तानी सेना के जवान भी शामिल हैं। हालांकि, पाकिस्तान सेना की मीडिया विंग डीजी आईएसपीआर ने केवल दो सैनिकों के मौत की ही पुष्टि की है।आईएसपीआर की बयान में बताया गया है कि पाकिस्तानी सेना ने खैबर पख्तूनख्वा के कुर्रम जिले में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद सर्च ऑपरेशन चलाया था। इस दौरान पाकिस्तानी सेना और आतंकवादियों के बीच भीषण मुठभेड़ हुई। जिसमें तीन आतंकी मारे गए, जबकि पाकिस्तानी सेना का एक कैप्टन अब्दुल बासित और सिपाही हजरत बिलाल की मौत हो गई।

पाकिस्तानी सेना ने इलाके में मौजूद दूसरे आतंकियों के खात्मे के लिए बड़े पैमाने पर ऑपरेशन चलाया है। Pak-Army-captain-11-soldiers-killed-in-terror-attack-inपिछले महीने इसी राज्य के जिला होशब के शापक के पास एम-8 पर आतंकियों के हमले में फ्रंटियर कोर बलूचिस्तान का एक जवान मारा गया था। इसके अलावा 25 जून को बलूचिस्तान के सिबी में आतंकवादियों के हमले में फ्रंटियर कोर के पांच जवानों की मौत हुई थी।पाकिस्तानी मिल्ट्री के मीडिया विंग इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशन्स (आईएसपीआर) के हवाले से पाकिस्तानी न्यूज चैनल Geo TV ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि पाकिस्तानी सैनिकों ने तीन आतंकवादियों को मौत की नींद सुला दिया है। इसके अलावा इलाके में सर्च ऑपरेशन भी चलाया जा रहा है। आईएसपीआर के हवाले से यह भी बताया गया है कि यहां सुरक्षा बलों को इस इलाके में आतंकवादियों की उपस्थिति का पता चला था जिसके बाद सेना ने आतंकवादियों के खिलाफ ऑपरेशन चलाया था। इसी दौरान आतंकवादियों ने अचानक सुरक्षा बलों पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दीं।

आतंकियों ने मारे थे पांच जवान
जुलाई के शुरुआत में ही आतंकियों ने दो हमलों में पाकिस्तानी सेना के पांच जवानों को मार गिराया था। पहला हमला अफगानिस्तान के अंदर से आतंकवादियों ने उत्तरी वजीरिस्तान कबायली जिले के द्वातोई इलाके में एक सैन्य चौकी पर किया था। इस हमले में पाकिस्तानी सेना के दो जवान 43 साल के हवलदार सलीम और 35 साल के लांस नायक परवेज मारे गए थे। जबकि दूसरा हमला, दक्षिण वजीरिस्तान कबायली जिले के तिआर्जा तहसील के न्यू कला में पाकिस्तानी सुरक्षा बलों पर किया गया था। इस हमले में तीन जवान मारे गए थे जबकि कई अन्य घायल हो गए थे।

पाकिस्तान ने आतंकवाद के लिए अफगानिस्तान की निंदा की
इस्लामाबाद लगातार काबुल से अपनी तरफ प्रभावी सीमा नियंत्रण सुनिश्चित करने के लिए कहता रहा है। दिखावे के लिए पाकिस्तान ने कहा कि वह आतंकवादी गतिविधियों के लिए अफगानिस्तान की धरती के लगातार इस्तेमाल की कड़ी निंदा करता है। जबकि, पूरी दुनिया यह सच्चाई जानती है कि अफगानिस्तान के आतंकियों को पालने-पोसने में पाकिस्तानी सेना और खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ है।

तालिबानी दहशतगर्दों ने किया हमला?

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी कहा जा रहा है कि इस नरसंहार को तहरीक-ए-तालिबान-पाकिस्तान के दहशतगर्दों ने अंजाम दिया है। कहा जा रहा है कि पाकिस्तान की थल-स्कॉउट की जिस पैट्रोलिंग-पार्टी पर हमला हुआ है, उसने तालिबान के कुछ लड़ाकों को गिरफ्तार कर लिया था और एक लड़ाके को गोली मार दी थी। इससे गुस्साएं तालिबान ने थल स्कॉउट्स के 11 सैनिक और एक कैप्टन की हत्या कर दी। यह भी कहा जा रहा है कि थल-स्कॉउट के 4 सैनिकों को तालिबानी लड़ाकूओं के सामने सरेंडर किया था। जिन्हें तालिबानी लड़ाके अपने साथ ले गए। अगवा किये गये सैनिकों के बारे में अभी कोई जानकारी नहीं मिल पाई है। हालांकि, यह हमला तालिबानी लड़ाकुओं ने ही किया है? अभी इसके बारे में पाकिस्तान की तरफ से आधिकारी तौर से कुछ भी नहीं कहा गया है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »