Pages Navigation Menu

Breaking News

31 दिसंबर तक बढ़ी ITR फाइलिंग की डेडलाइन

 

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए ना हो; पीएम नरेंद्र मोदी

सच बात—देश की बात

भारतीय रेसलर बजरंग पूनिया ने जीता ब्रॉन्ज मेडल

bajrang puniyaभारतीय पहलवान बजरंग पूनिया ने पुरुषों की 65 किग्रा फ्रीस्टाइल में ब्रॉन्ज मेडल जीत लिया है, जो जारी खेलों के महाकुंभ में भारत का छठा पदक रहा. वैसे ओलिंपिक में बजरंग का यह पहला मेडल है. ब्रॉन्ज मेडल मैच में बजरंग ने कजाखिस्तान के पहलवान दौलत नियाजबेकोव को एकतरफा मुकाबले में पटखती देते हुए उन्हें 8-0 से धूल चटा दी. महाकुंभ में अपनी पिछले मुकाबलों से अलग इस बार बजरंग ने शुरुआत से ही अटैकिंग रणनीति को तरजीह दी और आखिर तक इसका साथ नहींं छोड़ा, जिसका उन्हें पूरा फायदा मिला. बजरंग ने कमाल का परफॉर्मेंस किया और दोनों राउंड में विरोधी पहलवान पर हावी रहे. इस जीत के साथ ही कुश्ती में इस ओलिंपिक में दो मेडल आ गए हैं. बजरंग से पहले रवि दहिया ने सिल्वर मेडल पर कब्जा जमाया है.

पहला गेम (3 मिनट): बजंरग ने बना ली 2-0 बढ़त

बजरंग ने अपनी पिछले मुकाबले के उलट बजरंग ने इस बार कांस्य के लिए कजाखिस्तान के दौलत नियाजबेकोव के खिलाफ अटैकिंग रणनीति अपनायी. इसका फायदा भी भारतीय पहलवान को मिला और उन्होंने जल्द ही एक प्वाइंट लेकर 1-0 की बढ़त बना ली. इसके बाद बजरंग डबल लेग के लिए गए, पर दौलत ने बजरंग के दांव को बेकार कर दिया, लेकिन बजरंग की अटैकिंग रणनीति जारी रही और प्रतिद्वंद्वी पहलवान की गलती के कारण बजरंग को एक अंक और मिल गया और उन्होंने पहली बाउट 2- 0 से अपने नाम कर ली दूसरा गेम (3 मिनट): नहीं छोड़ी अटैकिंग रणनीति..और पस्त हो गए दौलत पहली टक्कर में 2-0 की बढ़त के रथ पर सवार बजरंग पुनिया ने फिर से अटैक बनाते हुए दौलत के पैरों पर बहुत ही मजबूत पकड़ बना ली, लेकिन कजाखिस्तान के पहलवान ने शानदार डिफेंस करते हुए संभावित अंक को टाल दिया. बजरंग ने फिर से सिंगल लेग पकड़ा, लेकिन दौलत फिर से पैर छुड़ाने में कामयाब रहे. बजरंग ने इसके बाद जल्द ही दो अंक और लिया और पुनिया ने 4-0 की बढ़त बनाकर काफी हद तक सुनिश्चित किया कि कांस्य भारत के पास आने जा रही है. और इस बढ़त को बजरंग ने कुछ ही सेकेंड बाद 6-0 कर दिया. बजरंग ने पिछले चार अंक टेक डाउन रणनीति से लिए, लेकिन बस वे दौलत को पलट ही नहीं पाए. इसके बाद बजरंग ने सिंगल लेग रणनीति से दो अंक और लिए और बढ़त भारतीय पहलवान ने बढ़त को 8-0 कर दिया. आखिरी 20 सेकेंड में कजाखिस्तान पहलवान ने कोशिश की, लेकिन दौलत को सफलता नहीं मिली और बजरंग ने 8-0 से दूसरी बैटल जीतकर भारत के लिए छठा कांस्य जीत लिया.

सेमीफाइनल में हारे में थे  बजरंग पूनिया को सेमीफाइनल में अजरबैजान के पहलवान हाजी अलीव से 12-5 से हार का सामना करना पड़ा था. पूनिया को मेडल का सबसे बड़ा दावेदार माना जा रहा था लेकिन सेमीफाइनल में मिली हार ने भारतीय फैन्स को भी काफी निराश किया है. बजरंग पूनिया के सपोर्ट में योगेश्वर दत्त ने भी ट्वीट कर उन्हें शुभकामनाएं दी है.

रवि दहिया ने जीता सिल्वर मेडल

इस बार भारतीय रेसलर में रवि दहिया ने कमाल का परफॉर्मेंस करते हुए सिल्वर मेडल जीतने का कमाल कर दिखाया. टोक्‍यो ओलिंपिक खेलों (Tokyo Olympics 2020) में भारत के रेसलर रवि दहिया ने सिल्वर मेडल जीता है. पुरुषों के फ्री स्टाइल 57 किलो रेसलिंग स्पर्धा के फाइनल में हरियाणा के रवि को रूस ओलिंपिक कमिटी के बैनर तले उतरने वाले रेसलर जवुर उगुवेय (Ravi Kumar Dahiya vs Zavur Uguev) से 4-7 हार का सामना करना पड़ा. राज्‍य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने घोषणा की है कि प्रदेश की खेल नीति के अनुसार सिल्‍वर जीतने पर रवि को 4 करोड़ रुपये की नकद राशि, क्लास वन की नौकरी और रियायती दर पर हुड्डा का प्लॉट

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »