Pages Navigation Menu

Breaking News

31 दिसंबर तक बढ़ी ITR फाइलिंग की डेडलाइन

 

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए ना हो; पीएम नरेंद्र मोदी

सच बात—देश की बात

मैरी कॉम, मनिका और सिंधु ने बिखेरी चमक

Mary-Kom-Sindhu-Tokyo-Olympicटोक्यो ओलिंपिक 2020 (Tokyo Olympics 2020) में भारतीय एथलीटों का सफर जारी है और रविवार 25 जुलाई को भी मेडल इवेंट समेत कई खेलों में भारत ने दावेदारी पेश की, लेकिन कुछ मुकाबलों को छोड़कर ज्यादातर मौकों पर निराशा ही हाथ लगी. निशानेबाजी के दो इवेंट्स में भारत के पास मेडल जीतने का मौका था, लेकिन भारतीय शूटर्स बुरी तरह नाकाम रहे. सिर्फ शूटिंग ही नहीं, बल्कि टेनिस से लेकर बॉक्सिंग और हॉकी तक में भारत का दिन अच्छा नहीं रहा और सिर्फ निराशा ही हाथ लगी. हालांकि, मैरी कॉम (MC Mary Kom) और पीवी सिंधु (PV Sindhu) जैसे दिग्गजों ने अपने अभियान की अच्छी शुरुआत की और मेडल की उम्मीदों को बरकरार रखा.तीसरे दिन 10 खेलों के अलग-अलग इवेंट में भारतीय खिलाड़ियों ने दावेदारी पेश की, जिसमें कुछ ही मैचों में जीत मिली. टोक्यो 2020 के तीसरे दिन भारत का लेखा-जोखा कुछ ऐसा रहा-

बॉक्सिंग

  • छह बार की विश्व चैंपियन और लंदन ओलिंपिक की ब्रॉन्ज मेडलिस्ट दिग्गज बॉक्सर एमसी मैरी कॉम ने 51 किलोग्राम वर्ग के अपने पहले राउंड के मुकाबले में डोमिनिका की बॉक्सर को 4-1 से मात देकर दूसरे राउंड में जगह बनाई.
  • हालांकि, पुरुषों में भारत को लगातार दूसरे दिन हार मिली. 63 किलोग्राम भारवर्ग में मनीष कौशिक को ग्रेट ब्रिटेन के बॉक्सर ने 4-1 से शिकस्त दी.

टेबल टेनिस

  • महिला सिंगल्स में मनिका बत्रा का बेहतरीन प्रदर्शन जारी रहा. पहले राउंड में 4-0 से आसान जीत दर्ज करने के बाद मनिका ने आज दूसरे राउंड में युक्रेन की खिलाड़ी के खिलाफ जबरदस्त वापसी की. मनिका 0-2 से पीछे चल रही थी, लेकिन फिर कड़े मुकाबले में उन्होंने 4-3 से जीत दर्ज की.
  • वहीं पुरुष सिंगल्स में पहले राउंड में बाय हासिल कर सीधे दूसरे राउंड में खेलने उतरे जी साथियन को 7 गेम तक चले मुकाबले में हार मिली. हॉन्ग कॉन्ग के खिलाड़ी के खिलाफ इस मैच में वह 3-1 से आगे चल रहे थे, लेकिन फिर लगातार 3 गेमों में हार के बाद वह 4-3 से शिकस्त के साथ बाहर हो गए.

बैडमिंटन

सिंगल्स में भारत की आखिरी चुनौती पीवी सिंधु के रूप में रह गई है. रियो की सिल्वर मेडलिस्ट सिंधु ने शानदार जीत के साथ अपने अभियान की शुरुआत की. सिंधु ने महज 28 मिनट में इजराइल की सेनिया को 21-7,21-10 से हरा दिया.

रोइंग

अरविंद सिंह और अर्जुन लाल लाइटवेट मेंस डबल्स स्कल के रेपेचेज राउंड में 6:51:36 के टायमिंग के साथ तीसरे स्थान पर रहे और सेमीफाइनल के लिए क्वालिफाई किया

शूटिंग

  • महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल में भारत की दो युवा शूटर मनु भाकर और यशस्विनी देसवाल क्वालिफिकेशन राउंड में ही बाहर हो गईं. भाकर की किस्मत ने साथ नहीं दिया और क्वालिफिकेशन के दौरान उनकी पिस्टल खराब हो गई, जिसके कारण उनका काफी वक्त खराब हुआ और आखिर वह फाइनल में पहुंचने में नाकाम रहीं.
  • वहीं, पुरुषों की 10 मीटर एयर राइफल में भी भारत के हाथ निराशा ही लगी. भारत की ओर से हिस्सा ले रहे दीपक कुमार और दिव्यांश पंवार फाइनल में जगह नहीं बना पाए. दीपक 624.7 अंकों के साथ 26वें और दिव्यांश 622.8 अंकों के साथ 32वें स्थान पर रहे.
  • इनके अलावा, पुरुषों के स्कीट राउंड के क्वालिफिकेशन में पहले दिन दिन तीन राउंड खेले गए. इसमें भारत के अंगद बाजवा 73/75 अंक के साथ 11वें स्थान पर हैं, जबकि मेराज खान 71/75 के स्कोर के साथ 25वें स्थान पर हैं. सोमवार 26 जुलाई को चौथे और पांचवें राउंड के मुकाबले होंगे, जिसके बाद फाइनल की लाइन-अप तय होगी.

टेनिस

सानिया मिर्जा और अंकिता रैना की जोड़ी पहले ही राउंड में बाहर हो गई है. यूक्रेन की जोड़ी के खिलाफ उन्होंने पहला सेट 6-0 से अपने नाम किया था. इसके बाद युक्रेन की जोड़ी ने अगले दो सेट 7-6,8-10 से अपने नाम किए और मुकाबला जीत लिया.

सेलिंग

  • महिला सिंगल्स वन डिंघी रेडियल की पहली रेस 33वां रैंक हासिल किया, जबकि दूसरी रेस में वह 16वीं रैंक पर रहीं. अभी इस मुकाबले की 8 और रेस बाकी हैं.
  • वहीं पुरुषों में भारत के सरवनन विष्णु ने दावेदारी पेश की. इस इवेंट की 10 में से सिर्फ एक ही रेस रविवार को हुई, जिसमें वह 14वीं रैंक पर रहे. अभी 9 रेस होनी बाकी हैं.

जिम्नास्टिक

आर्टिस्टिक जिमनास्ट प्रणति नायक ऑल राउंड फाइनल्स के लिए क्वालिफाई नहीं कर पाई हैं. चारों कैटेगरी में मिलाकर उनका स्कोर 42.565 रहा.

तैराकी

  • तैराकी में भी भारत ने रविवार को अपनी किस्मत आजमाई. माना पटेल ने महिला वर्ग में मोर्चा संभाला था लेकिन वह 100 मीटर बैकस्ट्रोक स्पर्धा में अपनी हीट में दूसरे स्थान पर रहीं और सेमीफाइनल में जगह बनाने से चूक गईं. उन्होंने एक मिनट 5.20 सेकेंड का समय निकाला.
  • श्रीहरि नटराज पुरूषों की 100 मीटर बैकस्ट्रोक स्पर्धा में तीसरी हीट में उतरे थे लेकिन वह भी सफलता हासिल नहीं कर कर पाए. उन्होंने 54.31 सेकेंड का समय निकाला और छठा स्थान हासिल किया. वह ओवरऑल 27वें स्थान पर रहे.

हॉकी

शूटिंग के बाद भारत के लिए सबसे ज्यादा निराशाजनक प्रदर्शन हॉकी में रहा. भारतीय पुरुष हॉकी टीम को पूल-ए के अपने दूसरे मैच में मजबूत ऑस्ट्रेलियाई टीम के सामने करारी शिकस्त झेलनी पड़ी. ऑस्ट्रेलिया ने पूरे मैच में भारतीय गोल पर हमले किए और 7-1 के बड़े अंतर से मुकाबला जीता.

 

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »