Pages Navigation Menu

Breaking News

 आत्मनिर्भर भारत के लिए 20 लाख करोड़ के पैकेज का ऐलान

इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की तारीख 30 नवंबर तक बढ़ी

कोरोना के साथ आर्थिक लड़ाई भी जीतनी है ; नितिन गडकरी

देश में कोरोना मरीजों की संख्या 2500 के पार, 62 लोगों की मौत

Nizamuddin-markazदेश में कोरोना वायरस के नए मामले बढ़कर 2547 हो गए हैं, जबकि इस वायरस की वजह से अबतक 62 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, 2547 मामलों में 2322 कोरोना के सक्रिय केस हैं और 162 ऐसे मरीज हैं जिन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार (3 अप्रैल) को यह जानकारी दी। मंत्रालय ने बताया कि पिछले दिनों दिल्ली स्थित निजामुद्दीन इलाके में तबलीगी जमात के धार्मिक आयोजन में हिस्सा लेने वालों में से अब तक कुल 647 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। ये लोग 14 राज्यों के हैं।स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने नियमित संवाददाता सम्मेलन में बताया कि पिछले दो दिनों में तबलीगी जमात के 647 लोगों में कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। ये लोग असम, अंडमान निकोबार, दिल्ली, जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश से हैं।

दिल्ली में कोरोना संक्रमितों की संख्या हुई 386, 259 सिर्फ तबलीगी जमात के

kejriwalदिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले में तेजी से बढ़ोत्तरी हो रही है। राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 के 93 नए केस सामने आए हैं। इसके साथ ही इस महामारी के शिकार हुए लोगों की संख्या 386 तक पहुंच गई है। इसमें से 259 मामले सिर्फ और सिर्फ तबलीगी जमात से जुड़े हैं। दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के अनुसार मृतकों की संख्या बढ़कर 6 हो गई है। मौत के दो मामले आज सामने आए हैं।386 केस में 58 मामले ट्रेवल हिस्ट्री वाले हैं। वहीं 38 केस संक्रमित लोगों के संपर्क में आने वाले लोगों के हैं। कुल संक्रमितों में से 369 हॉस्पिटल में भर्ती हैं और 10 ठीक होकर घर लौट चुके हैं। वहीं एक व्यक्ति सिंगापुर जा चुका है। अबतक सामने आए आंकड़ों में 259 के साथ सबसे ज्यादा संख्या निजामुद्दीन मरकज में हिस्सा लेने गए तबलीगी जमात के लोगों की है।इससे पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में स्थिति अभी भी नियंत्रण में है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने 57,000 लोगों के रहने के लिए 328 राहत केंद्र तैयार किए हैं। कोई भी इन राहत केंद्रों में आ सकता है और यहां रह सकता है। हम उनका ध्यान रखेंगे।दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों में चलाए जा रहे राहत कार्यों पर चर्चा के लिए पार्टी के सभी विधायकों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये शुक्रवार को एक बैठक की। केजरीवाल के साथ उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने भी पार्टी को विधायकों को संबोधित किया।इस दौरान केजरीवाल ने सभी विधायकों से अपने-अपने क्षेत्रों में चल रहे सभी राहत कार्यों की प्रगति के बारे में पूछा। साथ ही उन्होंने यह भी पूछा कि राहत कार्य कितनी प्रभावी ढंग से किए जा रहे हैं। इसके साथ ही सभी विधायकों को और सुधार के तरीके भी बताए गए। विधायकों ने भी अपने अनुभव साझा करते हुए अपनी शंकाओं को दूर किया। मुख्यमंत्री ने दिल्ली सरकार की (राहत कार्य से संबंधित) सभी योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया। उन्हें यह भी बताया गया कि सभी को क्या करना है और यह कैसे किया जा सकता है। उल्लेखनीय है कि 70 सदस्यीय विधानसभा में आप के 62 विधायक हैं।

आंध्र प्रदेश ने कोरोना से पहली मौत की पुष्टि की
आंध्र प्रदेश सरकार ने शुक्रवार (3 अप्रैल) को कोरोनोवायरस के कारण राज्य में पहली मौत की पुष्टि की। राज्य के नोडल अधिकारी श्रीकांत अरजा ने बताया कि सोमवार (30 मार्च) को पूर्वाहन 11.30 बजे विजयवाड़ा के जनरल हॉस्पिटल में भर्ती 55 वर्षीय शेख सुभानी ने एक घंटे बाद दोपहर 12.30 बजे दम तोड़ दिया था।हालांकि, मौत की वजह की पुष्टि में देरी हुई क्योंकि अधिकारियों को मृत्यु के संभावित कारणों के रूप में पहले से मौजूद स्थितियों को खारिज करने की आवश्यकता थी। परीक्षण के बाद, अधिकारियों ने निष्कर्ष निकाला कि सुभानी की मौत कोरोना की वजह से हुई थी और शुक्रवार (3 अप्रैल) को यह घोषणा की गई।

तमिलनाडु में कोरोना संक्रमण कुल 411 पॉजिटिव केस
तमिलनाडु में शुक्रवार (3 अप्रैल) को 102 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई, जिसके बाद राज्य में इस महामारी के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 411 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्री सी विजय भास्कर ने यह जानकारी दी। उन्होंने ट्वीट के जरिये बताया कि अब तक जांच के लिए भेजे गए 3,684 नमूनों में से 411 में विषाणु की पुष्टि हुई है जबकि 2,789 नमूनों में कोरोना वायरस नहीं पाया गया। शुक्रवार को कोरोना पॉजिटिव मिले 102 मामलों में से 100 ऐसे हैं, जो कि दिल्ली में आयोजित तबलीगी जमात के कार्यक्रम से लौटे थे। इस तरह से कुल 411 में से 364 ऐसे केस हैं, जो तबलीगी जमात से जुड़े हैं।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *