Pages Navigation Menu

Breaking News

नड्डा ने किया नई टीम का ऐलान,युवाओं और महिलाओं को मौका

कांग्रेस में बड़ा फेरबदल ,पद से हटाए गए गुलाम नबी

  पाकिस्तान में शिया- सुन्नी टकराव…शिया काफिर हैं लगे नारे

उद्धव ठाकरे ने राम मन्दिर ट्रस्ट के लिए मोदी के कदम का किया स्वागत

udhav_shivsena_731380033मुम्बई. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अयोध्या में राम मंदिर  बनाने के लिए केंद्रीय कैबिनेट द्वारा ट्रस्ट बनाने को मंजूरी देने के लिए बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  को बधाई दी. पीएम मोदी ने मंदिर बनाने के लिए ट्रस्ट के गठन की घोषणा लोकसभा में की. सुप्रीम कोर्ट  ने पिछले वर्ष नवम्बर में रामजन्मभूमि- बाबरी मस्जिद मामले में ऐतिहासिक फैसला देते हुए ट्रस्ट के गठन का निर्देश दिया था. उद्धव ठाकरे ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए ऐतिहासिक निर्णय दिया था.शिवसेना के राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने ठाकरे को उद्धृत करते हुए ट्वीट किया, ‘सरकार के लिए निर्णय को लागू करना अनिवार्य था. अदालत के निर्णय को लागू करने के लिए कदम उठाने की खातिर मैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को धन्यवाद देता हूं.’ राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेन्द्र फडणवीस ने भी केंद्र के निर्णय की प्रशंसा करते हुए इसे ‘ऐतिहासिक’करार दिया. निर्णय की प्रशंसा करते हुए मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने उम्मीद जताई कि मंदिर निर्माण की प्रक्रिया में तेजी आएगी.उच्चतम न्यायालय ने सरकार को निर्देश दिया था तीन महीने के अंदर ट्रस्ट का गठन करें और इसकी समय सीमा नौ फरवरी को समाप्त हो रही थी.

जगतगुरु स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने जतायी खुशी

प्रयागराज. अयोध्या  में भव्य राम मंदिर  निर्माण के लिए पीएम मोदी  ने श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट  की घोषणा कर दी है. इस ट्रस्ट में जगतगुरु स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती  को भी शामिल किया गया है. राम मंदिर ट्रस्ट में शामिल किए जाने पर स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने खुशी जताई है. उन्होंने कहा है कि अयोध्या में जनता के पैसे से ही भव्य राम मंदिर का निर्माण होगा.

विहिप के मॉडल पर होगा राम मंदिर का निर्माण
उन्होंने बताया कि अब तक जनता से इकट्ठा किए गए 30 करोड़ से ज्यादा की धनराशि मंदिर निर्माण के लिए पत्थर तराशने पर खर्च हो चुकी है. जबकि एक करोड़ 9 हजार अभी भी राम जन्मभूमि न्यास के खाते में धनराशि बची है. उन्होंने कहा कि बची हुई यह धनराशि भी मंदिर निर्माण के लिए नव गठित ट्रस्ट को सौंप दी जायेगी.राम मंदिर निर्माण कब तक शुरू होगा के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि हिन्दू नव वर्ष से लेकर हनुमान जयंती तक शुरु हो सकता है मंदिर का निर्माण कार्य जिसका निर्माण विहिप के मॉडल पर ही किया जाएगा. स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने कहा है कि विहिप के प्रस्तावित मॉडल पर ही जन आकांक्षाओं के अनुरुप अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण होगा. उन्होंने कहा है कि हिंदू नव वर्ष के प्रारम्भ से लेकर हनुमान जयंती के बीच मंदिर का निर्माण कार्य प्रारम्भ हो सकता है. स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने कहा है कि मंदिर निर्माण के लिए आम लोगों से सवा रुपए से लेकर 11 रुपए तक का सहयोग भी लिया जाएगा. लेकिन किसी व्यक्ति विशेष के पैसे से राम मंदिर का निर्माण नहीं किया जायेगा. हम आपको बता दें कि स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती विहिप से जुड़े धर्म गुरु हैं और राम मंदिर आंदोलन में 1984 से ही सक्रिय भी रहे हैं.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *