Pages Navigation Menu

Breaking News

जेपी नड्डा बने भाजपा के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष

जिनको जनता ने नकार दिया वे भ्रम और झूठ फैला रहे है; प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

भारत में शक्ति का केंद्र सिर्फ संविधान; मोहन भागवत

लंदन ब्रिज हमला: आतंकवादी के तार पाकिस्‍तान से जुड़े

london terrorलंदन । लंदन ब्रिज हमले के संदिग्ध के रूप में पहचाना गया आरोपी उस्मान खान के तार पाकिस्‍तान से जुड़े हैं। लंदन पुलिस का दावा है कि उस्मान पहले भी आतंकी गतिविधियों में शामिल रहा है और अल-कायदा जैसे खुंखार आतंकवादी समूह की विधारधारा से प्रभावित है।लंदन पुलिस का दावा है कि आरोपी ने अपना किशोरावस्‍था पाकिस्‍तान में व्‍यतीत किया था। उसकी प्रारंभिक शिक्षा पाकिस्‍तान में हुई थी। पाकिस्‍तान में वह अपनी बीमार मां के साथ रहता था। इसके अलावा वह अल-कायदा की विचारधारा से प्रभावित है। अल-कायदा एक खुंखार आतंकी संगठन है। इसके कार्यकर्ता कई देशों में सक्रिय है।बता दें कि लंदन ब्रिज हमले का आरोपी पिछले साल ब्रिटेन की जेल से रिहा किया गया था। लंदन पुलिस का दावा है कि उसे पहले 1990 में लंदन स्टॉक एक्सचेंज में बम विस्फोट में उसकी भूमिका के लिए 16 साल की जेल की सजा सुनाई गई थी। इसमें दो लोगोंं की मौत हुई थी। द टेलीग्राफ के अनुसार वर्ष 2012 में सजा सुनाए जाने के वक्‍त न्यायाधीश ने चेतावनी दी थी कि वह एक गंभीर जिहादी है। इसे रिहा नहीं किया जाना चाहिए। यह शख्‍स आम नागरिक के लिए खतरा है।

लंदन के एक मशहूर ब्रिज पर चाकुओं से हमला, छह लोग घायल 

बता दें कि शुक्रवार को ब्रिटेन की राजधानी में उस समय सनसनी फैल गई, जब एक संदिग्‍ध व्‍यक्ति ने लोगों पर चाकुओं से प्रहार शुरू कर दिया। यह हमला लंदन के एक मशहूर ब्रिज पर किया गया था। इस हमले में छह लोग घायल हो गए। फ‍िलहाल मौके पर तैनात पुलिस ने उसे पकड़ने की कोशिश की, लेकिन आत्‍मघाती जैकेट देखकर पुलिस ने उसे गोलियों से उड़ा दिया। घटना के बाद सुरक्षा बलों ने ब्रिज की घेराबंद कर प्रशासन ने पूरे इलाके में हाईअलर्ट जारी कर दिया। ऐहतियात के तौर पर की आस-पास के इलाके को खाली करा लिया गया।इसके बाद पुलिस ने पूरे इलाके की सघन तलाशी ली। पुलिस ने इस सिलसिले में एक और व्यक्ति को और गिरफ्तार किया है। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। शनिवार को लंदन पुलिस ने दावा किया है कि ब्रिज पर चाकुओं से प्रहार करने वाला शख्‍स पूर्व आतंकवादी था। सहायक आयुक्त नील बसु ने एक बयान में कहा कि इस व्यक्ति को आतंकवाद के अपराधों के लिए 2012 में दोषी ठहराया गया था। उसे दिसंबर 2018 में जेल से रिहा कर दिया गया था।

सतर्क हुआ प्रशासन, इलाके को खाली कराया गया

पुलिस को संदिग्‍ध आतंकी के पास एक आत्‍मघाती जैकट मिला है। इसके चलते प्रशासन ने खासकर सार्वजनिक स्‍थानों को तत्‍काल बंद कर दिया गया। स्‍काॅटलैंड यार्ड ने कहा कि हमने लंदन ब्रिज पर हुई घटना की जांच शुरू कर दिया है। यह एक आतंकी हमला है। हमलावर को मार गिराया गया है। पुलिस ने ब्रिज को पूरी तरह बंद कर दिया है। हालांकि ट्रेन सेवाओं पर कोई रोक नहीं लगाई गई। एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि हमने पुलिस की की कई गाड़ियों को ब्रिज की तरफ जाते देखा। परिसर में एक व्यक्ति की तरफ पुलिस बंदूक ताने हुए थी।

सीसीटीवी फुटेज में राहगीरों की बहादुरी दिखी 

सीसीटीवी फुटेज में हमलावर दौड़ता हुआ ब्रिज पर पहुंच गया था। फुटेज में दिख रहा है कि पांच राहगीरों ने बहादुरी दिखाते हुए उसे दबोच लिया था। उसके दो मिनट बाद पुलिस वहां पहुंची। बाद में पुलिस ने लोगों को वहां से हटाते हुए उसे गोली मार दी।

प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने घटना की निंदा की

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने इस घटना की निंदा की है। उन्होंने कहा कि वे घटना पर नजर बनाए हुए हैं। घटना के बाद बोरिस अपना दौरा छोड़कर वेस्टमिंस्टर लौट आए हैं। आसपास के क्षेत्र में सुरक्षा और कड़ी कर दी गई है। बता दें कि लंदन ब्रिज उन इलाकों में से एक है जहां जून 2017 में आईएसआईएस के आतंकी हमले में 11 लोगों की मौत हो गई थी।

 

 

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *