Pages Navigation Menu

Breaking News

इस्लामिक आतंकवाद पर नकेल कसने की जरूरत; डोनाल्ड ट्रंप

राष्ट्रपति ट्रंप की लीडरशिप में दोनों देशों के रिश्ते गहरे हुए; नरेंद्र मोदी

डोनाल्ड ट्रंप के लिए आयोजित डिनर का कांग्रेस ने किया बहिष्कार

प्रियंका गांधी ने पुलिस पर लगाया अराजकता फैलाने का आरोप

priyanka gandhiलखनऊ. पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी और कांग्रेस  की महासचिव प्रियंका गांधी  ने लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राज्य की बीजेपी सरकार पर हमला बोला. प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जब एक मीडियाकर्मी ने सीआरपीएफ की रिपोर्ट में उनके अपने सुरक्षा प्रोटोकॉल को तोड़ने के आरोप पर सवाल पूछा तो प्रियंका ने यह कहते हुए सवाल को टाल दिया कि उनकी सुरक्षा छोटी बात है. सीआरपीएफ की रिपोर्ट  पर प्रियंका गांधी ने कहा कि मेरी सुरक्षा छोटी बात है. प्रदेश की सुरक्षा बड़ी बात है. इस सवाल का कोई महत्व नहीं है.सीआरपीएफ ने अपनी रिपोर्ट में प्रियंका गांधी पर सुरक्षा संबंधी प्रोटोकॉल का उल्‍लंघन करने का आरोप लगाया है. सीआरपीएफ ने सोमवार को कहा कि कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी के लखनऊ के हालिया दौरे में उनकी सुरक्षा को लेकर चूक नहीं हुई. सीआरपीएफ ने कहा है कि कांग्रेस नेता ने पूर्व सूचना के बिना यात्रा की. इसलिए अग्रिम सुरक्षा इंतजाम नहीं किए जा सके. बता दें कि सीआरपीएफ प्रियंका गांधी को मिली ‘जेड प्लस’ सुरक्षा घेरे के तहत उन्हें सशस्त्र कमांडो मुहैया कराता है.प्रियंका गांधी ने पुलिस पर अराजकता फैलाने का आरोप लगाया तो भाजपा ने प्रियंका गांधी पर दंगाईयों का समर्थन करने की लिए की निंदा।

राज्यपाल को ज्ञापन दिया
प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बताया कि उन्‍होंने नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हुई हिंसा के दौरान पुलिस और प्रशासन की अराजकता के संबंध में राज्यपाल को ज्ञापन दिया है. उन्होंने कहा कि ज्ञापन के साथ ही चार मांगें भी रखी गई हैं.

राज्यपाल आनंदीबेन को सौंपा 14 पेज का ज्ञापन
यूपी कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मुलाकात कर संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ राज्य के विभिन्न जिलों में हुए प्रदर्शनों के दौरान पुलिस के ‘गैरकानूनी आचरण’ की न्यायिक जांच की मांग की. पार्टी प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की अगुवाई में एक प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल आनंदीबेन से मुलाकात की और उन्हें 14 पेज का ज्ञापन सौंपा.

योगी सरकार पर प्रियंका गांधी का हमला

कांग्रेस की राष्‍ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा  ने योगी सरकार  पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान पुलिस और जिला प्रशासन ने जमकर अराजकता फैलाई. प्रियंका गांधी ने कहा कि यह तब हुआ जब मुख्यमंत्री ने ‘बदला’ लेने वाला बयान दिया. पुलिस और जिला प्रशासन इसी बयान पर काम कर रही है. कांग्रेस नेता ने कहा कि यह देश के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है, जब किसी मुख्यमंत्री ने ऐसा बयान दिया हो. प्रियंका गांधी ने कहा कि कांग्रेस उन सभी लोगों का समर्थन करेगी और विरोध-प्रदर्शन के आरोप में जेल भेजे गए आरोपियों की लड़ाई लड़ेगा.उन्होंने आगे कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भगवा धारण किया है. यह भगवा उनका नहीं है. भगवा हिंदुस्तान की आध्यात्मिक संस्कृति और हिन्दू धर्म का प्रतीक है. कृष्ण, राम और शिव के देश में हिंसा और बदले की जगह नहीं है. महाभारत में भी कृष्ण ने रण क्षेत्र में बदला लेने की बात नहीं की. बदले की भावना इस देश की परंपरा नहीं रही है. यह देश प्रेम, करुणा और अहिंसा की बात करता है. कांग्रेस नेता ने कहा कि यह बात मुख्यमंत्री को समझनी चाहिए.

योगी का प्रियंका को जवाब- विरासत में राजनीति पाने वाले सेवा का अर्थ क्या समझेंगे

yogi_aadityanath_2017318_125953_18_03_2017उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पर पलटवार किया है. मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से ट्वीट किया गया कि योगी आदित्यनाथ ने भगवा लोक सेवा के लिए धारण किया है. सब कुछ त्याग कर. वह न केवल भगवा धारण करते हैं, बल्कि उसका प्रतिनिधित्व भी करते हैं.मुख्यमंत्री कार्यकालय की ओर से कहा गया कि भगवा वेशभूषा लोक कल्याण और राष्ट्र निर्माण के लिए है और सीएम योगी उस पथ के पथिक हैं.ट्वीट में आगे लिखा कि संन्यासी की लोक सेवा और जन कल्याण के निरंतर जारी यज्ञ में जो भी बाधा उत्पन्न करेगा उसे दण्डित होना ही पड़ेगा. विरासत में राजनीति पाने वाले और देश को भुलाकर तुष्टिकरण की राजनीति करने वाले लोक सेवा का अर्थ क्या समझेंगे?

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *