Pages Navigation Menu

Breaking News

मोदी मंत्रिमंडल : 43 मंत्रियों की शपथ, 36 नए चेहरे, 12 का इस्तीफा

 

भारत में इस्लाम को कोई खतरा नहीं, लिंचिंग करने वाले हिन्दुत्व के खिलाफ: मोहन भागवत

देश में समान नागरिक संहिता हो; दिल्ली हाईकोर्ट

सच बात—देश की बात

उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव, 71 फीसदी लोगों ने डाले वोट

up panchyat electionलखनऊ उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के पहले चरण के तहत गुरुवार को शाम पांच बजे तक औसतन 71 फीसदी वोट पड़े। इन चुनावों को उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव का सेमीफाइनल माना जा रहा है। राज्य निर्वाचन आयोग कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक, प्रदेश के 18 जिलों में दो लाख 21 हजार से ज्यादा सीटों के लिए मतदान सुबह 7 बजे शांतिपूर्ण ढंग से शुरू हुआ और  करीब 71 फीसदी मतदान दर्ज किया गया।

चुनाव अधिकारी की मौत
आयोग के मुताबिक, शाम 5 बजे तक झांसी में सबसे ज्यादा 69.75 फीसदी जबकि श्रावस्ती में सबसे कम 53 फीसदी वोट पड़े। शाम 6 बजे तक जो भी मतदाता मतदान केंद्र पर पहुंच गए उन सभी को वोट डालने की अनुमति दी जाएगी। इस बीच, झांसी में बड़ागांव ब्लॉक स्थित जौरी बुजुर्ग मतदान केंद्र में तैनात चुनाव अधिकारी निर्मला साहू की बेचैनी महसूस होने के बाद मृत्यु हो गई। अपर पुलिस अधीक्षक (नगर) विवेक त्रिपाठी ने बताया कि महिला चुनाव अधिकारी को बेचैनी महसूस हुई और अस्पताल ले जाने से पहले ही उनकी मृत्यु हो गई। उनकी मौत का कारण पोस्टमॉर्टम के बाद ही पता लग पाएगा।

आगरा में बवाल

उधर, आगरा में आगरा ग्रामीण क्षेत्र में चुनाव के दौरान रिहावली गांव से दो मत पेटियां चोरी हो गई। पुलिस अधीक्षक (पूर्वी) अशोक वेंकट ने बताया कि ग्राम प्रधान पद के दो उम्मीदवारों के समर्थकों के बीच हिंसक झड़प हो गई जिसके बाद दो मत पेटियां चोरी हो गईं। उन्होंने बताया कि इस झड़प में चार लोग जख्मी हो गए जिन्हें मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। आगरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुनिराज जी. ने बताया इस हिंसक टकराव के मामले में अब तक 26 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और मामले की जांच की जा रही है।आगरा के जिलाधिकारी प्रभु नारायण सिंह ने कहा कि वह प्रभावित बूथ पर पुनर्मतदान के लिए आयोग से गुजारिश करेंगे। पंचायत चुनाव के पहले चरण में जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम प्रधान और ग्राम पंचायत वार्ड सदस्य की दो लाख 21000 से अधिक सीटों के लिए तीन लाख 33 हजार से ज्यादा उम्मीदवार मैदान में थे। चार चरणों में होने वाले चुनाव के पहले चरण में अयोध्या, आगरा, कानपुर, गाजियाबाद, गोरखपुर, जौनपुर, झांसी, प्रयागराज, बरेली, भदोही, महोबा, रामपुर, रायबरेली, श्रावस्ती, संत कबीर नगर, सहारनपुर, हरदोई और हाथरस जिलों में मतदान हुआ।

2 मई को होगी मतगणना
पहले चरण में जिला पंचायत सदस्य के 779 पदों के लिए 11442 प्रत्याशी, क्षेत्र पंचायत सदस्य के 19313 पदों के लिए 81747 उम्मीदवार, ग्राम प्रधान के 14789 पदों के लिए 114142 प्रत्याशी तथा ग्राम पंचायत वार्ड सदस्यों के 186583 पदों के लिए 126613 उम्मीदवार मैदान में थे। मतदान कोविड-19 संबंधित कड़े प्रोटोकॉल के बीच हो रहा है। इस दौरान मतदाताओं को मास्क लगाना और सामाजिक दूरी के नियमों का अनुपालन अनिवार्य किया गया है। मतगणना आगामी दो मई को की जाएगी।इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को आगामी 25 मई तक पंचायत चुनाव की प्रक्रिया संपन्न कराने के आदेश दिए थे। इस बार चुनाव मैदान में भाजपा, सपा और कांग्रेस के साथ-साथ, आम आदमी पार्टी, आजाद समाज पार्टी तथा असदुद्दीन ओवैसी की अगुवाई वाली ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन भी है। हालांकि, प्रत्याशी किसी पार्टी के चिन्ह पर चुनाव नहीं लड़ेंगे बल्कि उन्हें आयोग द्वारा स्वतंत्र चुनाव निशान दिए गए हैं।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »