Pages Navigation Menu

Breaking News

31 दिसंबर तक बढ़ी ITR फाइलिंग की डेडलाइन

 

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए ना हो; पीएम नरेंद्र मोदी

सच बात—देश की बात

वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

Corona-Vaccine-3कोरोना वायरस को मात देने के लिए वैक्सीनेशन ही एक मात्र उपाय है। यही वजह है कि देश में लोगों का तेजी से वैक्सीनेशन किया जा रहा है। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के महानिदेशक डॉ बलराम भार्गव ने गुरुवार को कहा कि कोविड-19 टीके की एक डोज लेने पर 96.6 फीसदी तक मौत की संभावना कम हो जाती है, जबकि दोनों डोज मृत्यू को 97.5 प्रतिशत तक रोकती है।18 अप्रैल से 15 अगस्त 2021 तक एकत्र किए गए आंकड़ों का हवाला देते हुए बलराम भार्गव ने कहा कि टीकाकरण मौतों को रोकता है। उन्होंने यह भी कहा कि अप्रैल-मई में कोवि-19 की दूसरी लहर में अधिकांश मौतें बिना टीकाकरण के दर्ज की थी। टीका लगवाने के मिलने वाली यह सुरक्षा सभी आयु वर्ग के लोगों के लिए है। चाहे वो 60 साल या फिर उससे अधिक के हो या फिर 45-59 या फिर 18-44 साल के लोग हो।

अब तक लगभग 72 करोड़ वैक्सीन डोज दी गई

नीति आयोग के सदस्य और कोविड टास्क फोर्स के प्रमुख डॉ वीके पॉल ने कहा कि यह स्पष्ट है कि दो खुराक पूरी सुरक्षा प्रदान करती है। उन्होंने आगे कहा कि 18 साल से ऊपर के 58 फीसदी लोगों को सिंगल डोज दी गई, जो कि 100 प्रतिशत होनी चाहिए। पॉल ने कहा कि कोई भी पीछे नहीं रहना चाहिए। लगभग 72 करोड़ वैक्सीन डोज दी गई। जो बचे हैं उन्हें हर्ड इम्युनिटी विकसित करने के लिए प्रशासित किया जाना चाहिए।

एक दिन में लग रहे 78 लाख डोज

वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि टीकाकरण की गति तेजी से बढ़ रही है। औसतम प्रतिदिन दी जाने वाली खुराक मई में 20 लाख थी जो कि सितंबर में 78 लाख हो गई है। वैक्सीनेशन की गति अभी और बढ़ने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि हमने सितंबर के पहले सात दिनों में मई के 30 दिनों की तुलना में अधिक टीके लगाए हैं। पिछले 24 घंटों में छत्तीस लाख खुराकें दी गई हैं। हमें त्योहारों से पहले टीकाकरण की गति बढ़ानी चाहिए।

35 जिलों में संक्रमण दर 10 फीसदी से अधिक

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश के 35 जिलों में साप्ताहिक कोविड संक्रमण दर 10 प्रतिशत से अधिक है जबकि 30 जिलों में यह दर 5 से 10 प्रतिशत के बीच है। उन्होंने देश के विभिन्न हिस्सों से सामने आ रहे नए मामलों का ब्योरा उपलब्ध कराते हुए कहा कि पिछले हफ्ते सामने आए कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों में से 68.59 प्रतिशत केरल से थे।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »