Pages Navigation Menu

Breaking News

 अपने CM को शुक्रिया कहना कि मैं जिंदा लौट पाया; प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

 

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

देश में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर

सच बात—देश की बात

16 अगस्त से मां बैष्णो देवी की यात्रा शुरू करने की इजाजत

vaishno-deviजम्मू-कश्मीर प्रशासन ने 16 अगस्त से मां बैष्णो देवी की यात्रा को शुरू करने की इजाजत दे दी है. देश में कोरोना संक्रमण शुरू होने के बाद मार्च में ही वैष्णो देवी की यात्रा बंद कर दी गई थी. यात्रा में शामिल होने के लिए जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने कई नियम बनाए हैं. सोशल डिस्टेंसिंग का नियमों का पालन सुनिश्चित हो इसके देखते हुए जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने एक दिन में 5000 लोगों को ही माता के दर्शन की इजाजत दी है.कुछ ही दिन पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता मनोज सिन्हा जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल नियुक्त किए गए हैं. इसके बाद उन्होंने केंद्र शासित प्रदेश के सभी तीर्थस्थलों को खोलने का फैसला किया है. इसके लिए 16 अगस्त की तारीख तय की गई है.

60 साल से अधिक उम्र के व्यक्तियों को प्रवेश नहीं

कोरोना संक्रमण के दौर में वैष्णो देवी की यात्रा सुचारू रूप से चलाई जा सके इसके लिए प्रशासन ने कई नियम बनाए हैं. 60 साल के अधिक उम्र के व्यक्ति, बीमारियों से जूझ रहे व्यक्ति, गर्भवती महिलाएं, 10 साल से कम उम्र के बच्चों को धार्मिक स्थलों के अंदर प्रवेश नहीं दिया जाएगा.

एक दिन में 5000 लोग ही कर सकेंगे दर्शन

वैष्णो देवी में सामाजिक दूरी का पालन किया जा सके, इसके लिए एक दिन में 5000 लोगों को ही माता के दर्शन की इजाजत होगी. 5000 की संख्या में मात्र 500 दूसरे राज्यों के श्रद्धालुओं को दर्शन की इजाजत होगी.माता के भवन में एक बार में 600 से ज्यादा लोग जमा नहीं हो सकेंगे. जम्मू-कश्मीर प्रशासन के ये दिशानिर्देश 30 सितंबर तक लागू रहेंगे. सामाजिक दूरी का पालन, मास्क पहनना अनिवार्य होगा.

चढ़ावा चढ़ाने की अनुमति नहीं

इसके अलावा श्रद्धालु मंदिर परिसर में किसी प्रकार का चढ़ावा नहीं चढ़ा सकेंगे. देवी-देवताओं की प्रतिमाओं को छूना भी वर्जित होगा. बता दें कि सामान्य दिनों में वैष्णो देवी मंदिर में श्रद्धालुओं की काफी भीड़ उमड़ती है.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »