Pages Navigation Menu

Breaking News

जेपी नड्डा बने भाजपा के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष

जिनको जनता ने नकार दिया वे भ्रम और झूठ फैला रहे है; प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

भारत में शक्ति का केंद्र सिर्फ संविधान; मोहन भागवत

लखनऊ में प्रदर्शनकारियों का बवाल, आगजनी, पुलिस चौकी फूंकी

lucknowलखनऊ यूपी की राजधानी लखनऊ में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर विरोध-प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया है। लखनऊ के कई इलाकों में हिंसा फैल गई है। उपद्रव के दौरान दो पुलिस चौकी भी जला दी गई, जबकि बाहर खड़े वाहनों को फूंक दिया गया। प्रदर्शनकारियों ने लखनऊ के डालीगंज और हजरतगंज इलाके में जमकर उत्पात मचाया। इलाके में जमकर तोड़फोड़ और पथराव हुआ। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े और लाठीचार्ज करना पड़ा। लखनऊ में उपद्रवियों ने मीडिया के ओबी वैन को भी आग के हवाले कर दिया। उधर, पश्चिमी यूपी के संभल में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प के बाद इंटरनेट बंद कर दिया गया।

लखनऊ के डालीगंज इलाके में नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने पथराव और तोड़फोड़ की। हिंसक विरोध प्रदर्शन के दौरान ठाकुरगंज में फायरिंग भी हुई है। हालांकि इसमें किसी तरह के नुकसान की खबर नहीं है। प्रदर्शन के दौरान दो पुलिस चौकी को भी निशाना बनाया गया। मदेयगंज के बाद ठाकुरगंज स्थित सतखंडा चौकी फूंकी गई। चौकी के बाहर खड़े वाहनों को भी फूंक दिया गया। खदरा इलाके में भी तोड़फोड़ और आगजनी हुई और यहां उपद्रवियों ने कई गाड़ियों में आग लगा दी।

हिरासत में लिए गए यूपी कांग्रेस चीफ अजय लल्लू
इससे पहले लखनऊ में एसपी और कांग्रेस के नेता विरोध प्रदर्शन करते हुए विधानसभा के मुख्य गेट पेर चढ़ गए। पुलिस को उन्हें वहां से हटाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। वहीं केडी सिंह बाबू मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिया गया। यूपी कांग्रेस चीफ अजय कुमार लल्लू समेत कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया गया है।

लखनऊ में कई इलाकों में भीषण जाम
नागरिकता कानून पर विरोध प्रदर्शन के चलते लखनऊ में जगह-जगह भीषण जाम लग गया है। प्रदर्शन के चलते हजरतगंज, निशातगंज पुल से लेकर परिवर्तन चौक, हनुमान सेतु तक भीषण जाम लगा हुआ है। भीषण जाम के चलते हजारों लोग फंसे हुए हैं। केडी सिंह बाबू स्टेडियम से डीएम आवास तक प्रदर्शनकारियों की भीड़ इकट्ठा हो गई।

केडी सिंह मेट्रो स्टेशन बंद, सुरक्षा कड़ी
इस बीच नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हो रहे प्रदर्शन के कारण लखनऊ मेट्रो सेवा बाधित हुई है। यूपी पुलिस के कहने पर केडी सिंह मेट्रो स्टेशन के प्रवेश और निकास द्वार बंद कर दिए गए हैं। यहां पर ट्रेन नहीं रुक रही है। लखनऊ मेट्रो रेल कॉपोर्रेशन ने केडी सिंह मेट्रो स्टेशन पर टिकटों की बिक्री बंद कर दी है। इसी के मेट्रो स्टेशन के गेट भी बंद कर दिए गए हैं।पुलिस ने प्रदर्शन के कारण सुरक्षा के लिहाज से गुरुवार को मेट्रो स्टोशनों की सुरक्षा के खास इंतजाम किए हैं। मेट्रो स्टेशन पर सुरक्षा गार्ड बढ़ा दिए गए हैं। हर आने जाने वाले यात्री पर नजर रखी जा रही है। संदिग्ध यात्रियों को रोकने के निर्देश दिए गए हैं। मेट्रो स्टेशनों पर परिचालन से जुड़े अफसर भी लगाए गए हैं। स्टेशनों पर अतिरिक्त चौकसी बरती जा रही है।

हुसैनाबाद में स्थिति नियंत्रण में: एसएसपी

लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि हुसैनाबाद में स्थिति नियंत्रण में है। भीड़ हिंसक हो गई थी लेकिन फोर्स ने धैर्य बनाए रखा। उन्होंने कहा कि बल प्रयोग के बाद भीड़ तितर-बितर हो गई इसलिए संपत्तियों को नुकसान नहीं पहुंचा। एसएसपी ने बताया कि फिलहाल, फोर्स को दूसरी जगह भेज दिया गया है। मौजूदा हालात के लिए जिम्मेदार तकरीबन 40-50 लोगों के जिले भर में गिरफ्तार किया गया है।

डीजीपी ने किया दौरा
वहीं, यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने हजरतगंज का दौरा किया और उस जगह का निरीक्षण किया जहां प्रदर्शन के दौरान प्रोटेस्टर्स हिंसक हो गए थे।

वेस्ट यूपी में इंटरनेट बंद
पश्चिम उत्तर प्रदेश के मेरठ, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, शामली, अलीगढ़ जिलों में इंटरनेट सेवाएं शुक्रवार तक बंद कर दी गई हैं। इस बीच एसएसपी मेरठ अजय साहनी ने नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन को लेकर चेतावनी दी है कि धारा 144 लागू होने पर अगर किसी संगठन या भीड़ की शक्ल में जमा हुए लोगों ने जुलूस या फिर माहौल से छेड़छाड़ की कोशिश की, अफवाहें फैलाईं तो गैंगस्टर ऐक्ट और NSA तक की कार्रवाई की जाएगी। उधर मेरठ में अफसरों ने अमन की अपील के साथ शहर में मार्च निकाला।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *