Pages Navigation Menu

Breaking News

यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों को निकालने के लिए ऑपरेशन गंगा

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

हरियाणा: 10 साल पुराने डीजल, पेट्रोल वाहनों पर प्रतिबंध नहीं

सच बात—देश की बात

बाइडन ने दी चेतावनी- तुम्‍हें खोजकर मारेंगे आतंकियों

amricaअफगानिस्‍तान  की राजधानी के काबुल एयरपोर्ट  के बाहर कल गुरुवार को हुए दो आत्‍मघाती हमलों में 13 अमेरिकी सैनिकों  की भी मौत हो गई है. इस आतंकवादी हमले से गुस्‍साए अमेरिका के राष्‍ट्रपति (US President ) जो बाइडन ने (Joe Biden) जिम्‍मेदार आतंकवादियों (terrorists organization) को चेतावनी देते हुए कहा- हम तुम्‍हें खोज कर मारेंगे. तुम्‍हें इसकी कीमत चुकानी होगी. एस राष्‍ट्रपति जो बाइडन ने काबुल के हमलावरों को कहा- हम आपको माफ नहीं करेंगे, हम भूलेंगे नहीं. हम खोजकर तुम्‍हारा शिकार करेंगे और तुम्‍हें कीमत चुकानी होगी.

व्हाइट हाउस से अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, ”हम अफगानिस्तान से अमेरिकी नागरिकों को बचाएंगे. हम अपने अफगान सहयोगियों को बाहर निकालेंगे और हमारा मिशन जारी रहेगा. व्हाइट हाउस के हवाले से एएफपी न्‍यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, 14 अगस्त से अब तक अफगानिस्तान से 100,000 से अधिक लोगों को निकाला गया है.अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा, “काबुल हवाईअड्डे पर हुए हमलों में तालिबान और इस्लामिक स्टेट के बीच मिलीभगत का अब तक कोई सबूत नहीं है.बता दें कि कल काबुल एयरपोर्ट के पास के दो आत्मघाती हमलावरों और बंदूकधारियों ने भीड़ को निशाना बनाकर हमला किया था, जिसकी जिम्‍मेदारी आतंकवादी संगठन आईएसआईएस खुरासान (SIS-Khorasan) ने जिम्‍मेदारी ली है. इस आतंकवादी संगठन को ISIS-K के नाम से जाना जाता है.अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी जे ब्लिंकन ने कहा- हम 2,300 से अधिक अमेरिकी सेवा सदस्यों का सम्मान करते हैं, जो संघर्ष में 2001 से अफगानिस्तान में मारे गए हैं, 20,000 से अधिक जो घायल हुए हैं, और 800,000 से अधिक जिन्होंने अमेरिका के सबसे लंबे युद्ध में सेवा की है, साथ ही साथ अन्य अमेरिकी मारे गए या घायल हुए हैं.

अमेरिका काबुल हवाईअड्डे के साजिशकर्ताओं का पता लगाएगा
अफगानिस्तान से अमेरिकी लोगों की वापसी का काम देख रहे जनरल फ्रैंक मैकेंजी ने कहा कि अमेरिका काबुल हवाईअड्डे के साजिशकर्ताओं का पता लगाएगा. उन्होंने आज कहा कि माना जा रहा है कि यह हमला इस्लामिक स्टेट समूह से अफगानिस्तान में संबद्ध लोगों ने अंजाम दिया है. उन्होने आशंका जताई कि ऐसे और हमले हो सकते हैं.

घायलों की बढ़ती संख्या को देखते हुए बिस्तरों की संख्या बढ़ाई जा रही है
वहीं अफगानिस्तान में अस्पतालों का संचालन करने वाली इटली की एक संस्था ने कहा कि वे हवाईअड्डे पर हमले में घायल 60 लोगों का उपचार कर रहे हैं, जबकि 10 घायल ऐसे थे, जिन्होंने अस्पताल लाने के दौरान दम तोड़ दिया. अफगानिस्तान में संस्था के प्रबंधक मार्को पुनतिन ने कहा कि सर्जन रात में भी सेवा देंगे. उन्होंने कहा कि घायलों की बढ़ती संख्या को देखते हुए बिस्तरों की संख्या बढ़ाई जा रही है.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »