Pages Navigation Menu

Breaking News

यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों को निकालने के लिए ऑपरेशन गंगा

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

हरियाणा: 10 साल पुराने डीजल, पेट्रोल वाहनों पर प्रतिबंध नहीं

सच बात—देश की बात

दिल्ली, उत्तराखंड समेत कई राज्यों में बारिश के आसार

rain_delhi_1585321723_618x347अगले कुछ दिनों में मौसम रोज करवट बदलेगा। कभी बारिश तो कभी उमस भरी गर्मी से लोग दो-चार होंगे। मौसम विभाग के अनुसार, देश में 3 जून को मॉनसून के दस्‍तक देने की उम्‍मीद है। सबसे पहले केरल में इसका आगमन होता है। राज्‍य में सामान्य रूप से एक जून को मॉनसून दस्तक दे देता है। इसके साथ ही देश में चार महीने तक चलने वाली वर्षा ऋतु शुरू हो जाती है। मौसम विभाग ने इस महीने की शुरुआत में केरल में 31 मई को मॉनसून के दस्तक देने का अनुमान जताया था। इस साल मॉनसून के सामान्य रहने का अनुमान है। विभाग ने बताया था कि कर्नाटक तट पर ‘साइक्‍लोनिक सर्कुलेशन’ के चलते दक्षिण-पश्चिम मॉनसून की चाल प्रभावित हुई है। यही इसके आने में देरी की मुख्‍य वजह है। हालांकि, कई जगह प्री-मॉनसून की बारिश हो रही है।

​अगले कुछ दिनों में कैसा रहेगा दिल्‍ली का मौसम?

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, अगले तीन दिनों में दिल्‍ली में गरज के साथ बारिश की उम्‍मीद है। दिल्‍ली में जून के आखिर तक मॉनसून पहुंच सकता है। सितंबर के महीने में दिल्‍ली में अच्‍छी-खासी बारिश हो सकती है। हालांकि, बाकी सीजन के दौरान बारिश में ’10-15% की कमी’ का अनुमान है। पिछले साल मॉनसून 30 सितंबर को गया था और बारिश 20% कम रही थी। सोमवार को राजधानी में न्‍यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्‍सियस दर्ज किया। यह सामान्‍य से तीन डिग्री सेल्सियस कम है। अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस था। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया कि दिल्ली में मई के महीने में औसत अधिकतम तापमान 37.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, जो इस महीने में पिछले 13 वर्षों में सबसे कम है। 2014 के बाद यह पहली बार है कि सफदरजंग वेधशाला में मानसून पूर्व अवधि में लू का चलना रिकॉर्ड नहीं किया गया। शहर में 19 मई को अधिकतम तापमान 23.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, जो सामान्य से 16 डिग्री कम और मई के महीने में 1951 के बाद सबसे कम था।

​उत्‍तराखंड के कई इलाकों में भारी बारिश की संभावना

उत्‍तराखंड के कई जिलों में भारी बारिश की संभावना है। इनमें देहरादून, बागेश्‍वर, नैनीताल, पिथौरागढ़ शामिल हैं। यहां 1 जून को भीषण बारिश हो सकती है। राज्‍य के बाकी इलाकों में भी हल्‍की से तेज बारिश होने की संभावना है। राज्‍य में पहाड़ के ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी का भी अनुमान है। आंचलिक मौसम केंद्र ने यह जानकारी दी है।

​यूपी में कैसा रहेगा मौसम?

अगले 24 घंटों के दौरान उत्‍तर प्रदेश में कुछ स्थानों पर बारिश होने और तेज हवाएं चलने का अनुमान है। पिछले दिनों बारिश और तेज हवा के कारण राहत मिलने के बाद राज्य के ज्यादातर मंडलों में तापमान एक बार फिर बढ़ने लगा है। आंचलिक मौसम केंद्र की रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य के गोरखपुर, अयोध्या, प्रयागराज, लखनऊ, बरेली और झांसी मंडलों में दिन के तापमान में खासी बढ़ोतरी दर्ज की गई। इसके अलावा वाराणसी और कानपुर मंडलों में तापमान में वृद्धि हुई। पिछले 24 घंटों के दौरान झांसी राज्य का सबसे गर्म स्थान रहा जहां अधिकतम तापमान 41.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। इस दौरान कुछ स्थानों पर हल्की बारिश और बूंदाबांदी भी हुई।

​राजस्‍थान में आंधी-बारिश का अनुमान

मौसम विभाग की मानें तो अब राजस्थान में पश्चिम विक्षोभ सक्रिय हो गया है। इसके असर के चलते चार से पांच तक आंधी-बारिश का दौर चलेगा। रविवार को भी प्रदेश के कई जगह आंधी- तूफान और ओलावृष्टि की सूचना मिली थी। प्रदेश के श्रीगंगानगर में कई जगह टीनशेड उड़ने और ओलावृष्टि की खबर मिली है। मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ से बने साइक्लोनिक सर्कुलेशन के कारण दो- तीन दिन दोपहर बाद आंधी- बारिश की संभावनाएं हैं। 5 जून तक अधिकतम तापमान गिरकर 36 डिग्री के आसपास रहेगा।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »