Pages Navigation Menu

Breaking News

भारत ने 45 दिनों में किया 12 मिसाइलों का सफल परीक्षण

पाकिस्तान संसद ने माना, हिंदुओं का कराया जा रहा जबरन धर्मातरण

सिनेमा हॉल, मल्टीप्लैक्स, इंटरटेनमेंट पार्क 15 अक्टूबर से खोलने की इजाजत

दिल्ली-एनसीआर में हुई मानसून की पहली बारिश

rain_delhi_1585321723_618x347दिल्ली-एनसीआर में मानसून के आगमन के साथ ही पहली बारिश भी हो गई है। तेज हवाओं और काले बादलों ने जहां दोपहर में ही शाम जैसा माहौल बना दिया, वहीं बारिश ने लोगों को उमस से राहत दी है।मौसम विभाग ने दिल्ली-एनसीआर में मानसून के आने की औपचारिक घोषणा कर दी है। विभाग ने बताया कि इस बार मानसून तयशुदा तारीख 27 जून से पहले आया है। आने वाले दिनों में बारिश होगी। इस बार दिल्ली-एनसीआर में सामान्य से ज्यादा बारिश होने का अनुमान है।मौसम विभाग ने दिल्ली के लिए बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है और साथ ही यह भी अनुमान जताया था कि राजधानी और आसपास केे इलाकों में शाम तक तेज बारिश हो सकती है, जो सच हुई है।उत्तर भारतीय राज्यों में दक्षिण-पश्चिम मानसून अब छाने लगा है। जम्मू-कश्मीर, लद्दाख और उत्तराखंड को पूरी तरह से कवर कर लिया है। वहीं, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, पंजाब और हरियाणा के कई इलाकों में बुधवार को मानसूनी बारिश हुई। भारतीय मौसम विभाग ने बताया कि राजस्थान के कुछ और हिस्सों, उत्तर प्रदेश के शेष हिस्सों, हरियाणा और पंजाब के अधिकांश हिस्सों में अगले 24 घंटों के दौरान मानसून के आगे बढ़ने और बारिश की परिस्थितियां अनुकूल हैं।

वहीं, असम में बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई है और अब तक 38,000 लोग इससे प्रभावित हुए हैं। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की प्रतिदिन की रिपोर्ट के मुताबिक राज्य में बाढ़ में एक और व्यक्ति की मौत हो जाने के साथ कुल मृतक संख्या बढ़ कर 12 हो गई।  राष्ट्रीय राजधानी में बुधवार मानसून पहुंचने के साथ हल्की बारिश दर्ज की गई।  भारत मौसम विज्ञान विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय मोहपात्रा ने कहा कि दिल्ली में मानसून ने दस्तक दे दी है और कुछ स्थानों पर बारिश हुई। पूर्वानुमान के अनुसार शहर में मानसून के आगमन की घोषणा गुरुवार को होगी। दिल्ली के मौसम और बारिश का प्रतिनिधि माने जाने वाले सफदरजंग वेधशाला के आंकड़ों के मुताबिक यहां 14.6 मिमी बारिश दर्ज की और अधिकतम तापमान 34.6 डिग्री सेल्सियस रहा।

राजस्थान के 14 जिलों में बारिश 
मानसून निर्धारित समय से एक दिन पहले ही बुधवार को राजस्थान में प्रवेश कर गया। राज्य के 14 जिलों में मानसून की पहली बारिश हो चुकी है। मौसम केंद्र, जयपुर के निदेशक शिव गणेश ने बताया कि बीते 10 साल में तीसरी बार मानसून समय से पहले राजस्थान पहुंचा है।

हिमाचल के पहाड़ी इलाकों में चेतावनी 
हिमाचल प्रदेश में बुधवार को ज्यादातर क्षेत्रों में मानसूनी बारिश हुई। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने कहा कि राज्य में 30 जून तक बारिश होने का अनुमान है। मध्यम ऊंचाई वाली पहाड़ियों पर गुरुवार को तेज हवाओं और बिजली कड़कने के साथ भारी बारिश होने की चेतावनी है।

यूपी के अधिकांश हिस्सों में पहुंचा मानसून, जौनपुर में दो की मौत 
मानसून उत्तर प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में पहुंच गया है। मौसम निदेशक जेपी गुप्त ने बताया कि अगले एक हफ्ते में पूरे प्रदेश में कहीं सामान्य तो कहीं भारी बारिश होगी। गुरुवार को राज्य के कुछ हिस्सों में भारी बारिश होने की चेतावनी भी जारी की गई है। वहीं, जौनपुर जिले में बुधवार दिन में बारिश के दौरान वज्रपात से दो लोगों की मौत हो गई। बिजली गिरने से दो किशोर भी झुलसे हैं।

पूरे उत्तराखंड में मानसून सक्रिय
मानसून तय समय पर पूरे उत्तराखंड में सक्रिय हो गया है। इसके साथ ही राज्य से लगे हिमाचल प्रदेश में भी मानसून ने प्रवेश कर लिया है। कुमाऊं में मंगलवार रात बारिश से नदियों का जलस्तर बढ़ गया। हल्द्वानी के गौला में खनन के लिए गए सात डंपर बह गए। पिथौरागढ़, चम्पावत और अल्मोड़ा में कई जगह सड़कें टूट गईं। मुनस्यारी के महरपानी में पहाड़ी से मलबा गिरने से 50 से अधिक बकरियां दफन हो गईं।  काली नदी उफना गई है। वह खतरे के निशान से महज एक मीटर नीचे बह रही है। थल-मुनस्यारी सड़क में घंटों यातायात ठप रहा। वहीं अल्मोड़ा में बारिश के बाद सुबह अल्मोड़ा-बागेश्वर में बसोली, कोसी-कौसानी मार्ग पर पत्थरिया के पास बोल्डर गिरने से मार्ग करीब एक घंटे तक बड़े वाहनों के लिए बंद रहा। सरयू नदी का जलस्तर भी बढ़ गया। हल्द्वानी डिवीजन के डीएलएम जेपी भट्ट ने बताया कि गौला में पानी को देखते हुए हमने डंपर चालकों से गौला में जाने को मना किया, लेकिन कुछ डंपर चालक जबरन डंपर लेकर खनन के लिए चले गए और गौला में फंस गए। बाद में सभी डंपर को जेसीबी और पोकलैंड मशीनों की मदद से निकाल लिया गया।

भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी
25 जून को देहरादून सहित प्रदेश के पांच जिलों में कहीं-कहीं भारी से बहुत भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट मौसम विभाग ने जारी किया है। देहरादून में बुधवार की सुबह मानसून की पहली बारिश शुरू हुई। सुबह करीब नौ बजे से हल्की बारिश शुरू हुई और कुछ समय बाद बारिश तेज होने लगी। वहीं कुमाऊं के रास्ते प्रदेश में बीते 23 जून को प्रवेश करने के बाद बुधवार को मानसून पूरे प्रदेश में पहुंच गया है।

 

 

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *