Pages Navigation Menu

Breaking News

मोदी मंत्रिमंडल : 43 मंत्रियों की शपथ, 36 नए चेहरे, 12 का इस्तीफा

 

भारत में इस्लाम को कोई खतरा नहीं, लिंचिंग करने वाले हिन्दुत्व के खिलाफ: मोहन भागवत

देश में समान नागरिक संहिता हो; दिल्ली हाईकोर्ट

सच बात—देश की बात

कांग्रेस के स्टार प्रचारकों की सूची से गुलाम नबी के साथ 23 नेताओं की छुट्टी

gulam navi azadनई दिल्ली। बंगाल चुनाव के लिए कांग्रेस के स्टार प्रचारकों की सूची से प्रमुख असंतुष्ट नेताओं की छुट्टी से साफ है कि असंतुष्ट जी-23 और पार्टी नेतृत्व के बीच चल रही अंदरूनी जंग की खाई और चौड़ी हो गई है। पार्टी ने दिग्गज नेता और असंतुष्टों का नेतृत्व कर रहे गुलाम नबी आजाद के साथ आनंद शर्मा को स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल नहीं किया है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ क्रिकेटर से नेता बने नवजोत सिंह सिद्धू और मुहम्मद अजहरुद्दीन को बंगाल के पहले चरण के स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल किया है।कांग्रेस ने बंगाल के 27 मार्च के पहले चरण के चुनाव के लिए अपने स्टार प्रचारकों की सूची चुनाव आयोग को भेज दी है। इसमें गुलाम नबी आजाद के साथ जी-23 के दूसरे नेताओं-हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा, कपिल सिब्बल, मनीष तिवारी, आनंद शर्मा जैसे वाकपटु नेताओं को भी शामिल नहीं किया गया है।

हालांकि इन दिग्गजों के मामले में प्रतिशोध की बात को नकारने के लिए बिहार से राज्यसभा सदस्य अखिलेश सिंह और भूपेंद्र हुड्डा के सांसद पुत्र दीपेंद्र हुड्डा को जरूर सूची में शामिल किया गया है। पार्टी ने अभी बंगाल के बाकी पांच चरणों के साथ अन्य राज्यों के स्टार प्रचारकों की सूची चुनाव आयोग को नहीं भेजी है। मगर गुलाम नबी का लंबे अर्से बाद इस सूची में नहीं होना स्पष्ट संकेत है कि कांग्रेस नेतृत्व ने असंतुष्ट खेमे के खिलाफ सख्त रुख अपनाने का फैसला कर लिया है।

मुखर बैटिंग करने वालों को मौका 

स्टार प्रचारकों की इस सूची में कांग्रेस ने अपने सभी मुख्यमंत्रियों कैप्टन अमरिंदर सिंह, अशोक गहलोत, भूपेश बघेल के साथ पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, मल्लिकार्जुन खड़गे, जितिन प्रसाद, सचिन पायलट, अधीर रंजन चौधरी, रणदीप सुरजेवाला, बीके हरिप्रसाद, आरपीएन सिंह, पवन खेड़ा और पार्टी के मौजूदा संकट में नेतृत्व के पक्ष में मुखर बैटिंग कर रहे सलमान खुर्शीद को शामिल किया है।

126 सदस्यीय असम विधानसभा के लिए तीन चरणों में चुनाव कराए जा रहे हैं। 27 मार्च को 47 सीटों पर होने वाले पहले चरण के मतदान के लिए 269 उम्मीदवार मैदान में हैं। पहले चरण के लिए कुल 269 उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र दाखिल किया जिसमें से 10 उम्मीदवारों के नामंकन हो गए जबकि 16 ने अपने नाम वापस ले लिए। पहले चरण के प्रमुख उम्मीदवारों में माजुली से मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल, विधानसभा अध्यक्ष हितेंद्र नाथ गोस्वामी जोरहट से, असम गण परिषद के मंत्री अतुल बोरा बोकाखाट से और केशव महंत कालियाबोर से हैं।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »