Pages Navigation Menu

Breaking News

यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों को निकालने के लिए ऑपरेशन गंगा

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

हरियाणा: 10 साल पुराने डीजल, पेट्रोल वाहनों पर प्रतिबंध नहीं

सच बात—देश की बात

कर्नाटक में मचा है बवाल ! क्या होता है हिजाब ?

hijab leadकर्नाटक में मुस्लिम लड़कियों के हिजाब  पहनने के अधिकार को लेकर विवाद छिड़ा हुआ है. अब तो मामला कोर्ट में है और विवाद इतना बढ़ गया है कि इस पर सियासत भी लगातार जारी है. हाल ही में मुस्लिम महिलाओं ने पूरी दुनिया में जागरूकता पैदा करने, धार्मिक सहिष्णुता को बढ़ावा देने और हिजाब  की अहमियत बताने के लिए 1 फरवरी को विश्व हिजाब दिवस मनाया था. अब इसके बाद से विवाद बढ़ गया है. हिजाब के पक्ष में मुस्लिम महिलाएं प्रदर्शन कर रही हैं और जिन कॉलेज में महिलाओं  को एंट्री नहीं दी जा रही थी, वहां एक कॉलेज ने हिजाब पहनी हुईं लड़कियों को अलग बैठाया है. हिजाब पर लगातार विवाद जारी है.

कर्नाटक में हिजाब पहनने के मामले ने मंगलवार को हिंसक मोड़ ले लिया. हालांकि पथराव और नारेबाजी की कुछ घटनाओं के बाद पुलिस ने हालात काबू कर लिए. कर्नाटक हाई कोर्ट में इस मामले की सुनवाई के दौरान जज ने लोगों से अमन-चैन बनाए रखने की अपील की.मंगलवार को हिजाब मामले में कर्नाटक हाई कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई. लेकिन इससे पहले सुबह ही दावणगेरे, हरिहर और शिवमोगा जिले में छात्रों और उपद्रवी तत्वों ने पुलिस पर पत्थर बरसाने शुरू कर दिए. टकराव तब शुरू हुआ, जब सुबह हिजाब पहन कर अपने-अपने कॉलेजों में जा रही लड़कियों को कुछ छात्र रोकने की कोशिश कर रहे थे.शिवमोगा, बनहट्टी और बगलकोट (उत्तरी कर्नाटक ) में दोनों ओर से झड़प हुई. एक वीडियो में एक छात्रा के अभिभावक भी पत्थर फेंकते नज़र आए. उत्तेजना तब फैली जब छात्राओं को हिजाब पहनने की वजह से कॉलेज के बाहर रोक दिया गया. बगलकोट के एसपी बी जगलासर ने बीबीसी से कहा, ” बनहट्टी में हालात काबू में हैं. ”हिंसा और झड़प के मामले सामने आने के बाद राज्य सरकार ने स्कूल-कॉलेजों को तीन दिन बंद रखने का आदेश दिया है.

ऐसे में सवाल ये है कि आखिर मुस्लिम लड़कियों में हिजाब क्यों जरूरी है और हिजाब क्यों होता है. साथ ही आपको बता दें कि हिजाब, किस तरह से नकाब, बुर्का, दुपट्टे से अलग होता है. ऐसे में आज जानते हैं हिजाब से जुड़ी खास बातें…

World-Hijab-Dayक्या होता है हिजाब?

हिजाब नकाब से काफी अलग होता है. हिजाब का मतलब पर्दे से है. बताया जाता है कि कुरान में पर्दे का मतलब किसी कपड़े के पर्दे से नहीं बल्कि पुरुषों और महिलाओं के बीच के पर्दे से है. वहीं, हिजाब में बालों को पूरी तरह से ढकना होता है यानी हिजाब का मतलब सिर ढकने से है. हिजाब में महिलाएं सिर्फ बालों को ही ढकती हैं. किसी भी कपड़े से महिलाओं का सिर और गर्दन ढके होना ही असल में हिजाब कहा जाता है, लेकिन महिला का चेहरा दिखता रहता है.

फिर क्या होता है बुर्का और नकाब?

बुर्का- बुर्का एक चोले की तरह होता है, जिसमें महिलाओं का शरीर पूरी तरह से ढका होता है. इसमें सिर से लेकर पांव तक पूरा शरीर ढकने का साथ आंखों पर एक पर्दा किया जा सकता है. इसके लिए आंखों के सामने एक जालीदार कपड़ा लगा होता है, जिससे कि महिला बाहर का देख सके. इसमें महिला के शरीर का कोई भी अंग दिखाई नहीं देता. कई देशों में इसे अबाया भी कहा जाता है.

नकाब- नकाब एक तरह से कपड़े का परदा होता है, जो सिर और चेहरे पर लगा होता है. इसमें महिला का चेहरा भी नज़र नहीं आता है. लेकिन, नकाब में आंखें कवर नहीं होती हैं. हालांकि, चेहरे पर यह बंधा होता है.

दुपट्टा- दुपट्टा काफी आम परिधान है. यह एक तरह से लंबा स्कार्फ होता है, जिससे सिर ढका होता है और यह कंधे पर रहता है. यह महिला की ड्रेस से मैचिंग का भी हो सकता है. साउथ एशिया में इसका इस्तेमाल ज्यादा किया जाता है और इसे शरीर पर इसे ढिले-ढाले तरीके से ओढ़ा जाता है. यह हिजाब की तरह नहीं बांधा जाता है.

अल-अमीरा- रिपोर्ट्स के अनुसार, यह दो कपड़ों का सेट होता है. एक कपड़े को टोपी की तरह सिर पर पहना जाता है. दूसरा कपड़ा थोड़ा बड़ा होता है जिसे सिर पर लपेटकर सीने पर ओढ़ा जाता है.

क्या है पूरा विवाद? कर्नाटक में हिजाब का विवाद दिसंबर 2021 में एक कॉलेज से शुरू हुआ था, जब एक कॉलेज में क्‍लास के भीतर हिजाब पहनने के लिए मना कर दिया था. इस पर 8 मुस्लिम छात्राओं ने विरोध किया और कहा कि कॉलेज उन्‍हें हिजाब पहनने से नहीं रोक सकता क्‍योंकि ये उनकी धार्मिक स्‍वतंत्रता है. इसके बाद हिजाब के विरोध में कुछ बच्चों ने भगवा गमछे या शॉल पहनने शुरू कर दिए, जिससे विवाद और बढ़ गया. इसके बाद यह विवाद कई अन्य कॉलेजों में शुरू हो गया. हाल ही में कुछ कॉलेज ने छुट्टी करके इसका हल निकाला तो एक कॉलेज में हिजाब पहनी लड़कियों को अलग बैठा दिया गया. वहीं, इस मामले को लेकर लगातार विरोध प्रदर्शन भी जारी है.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »