Pages Navigation Menu

Breaking News

31 दिसंबर तक बढ़ी ITR फाइलिंग की डेडलाइन

 

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए ना हो; पीएम नरेंद्र मोदी

सच बात—देश की बात

कुछ लोग किसानों को गुमराह कर रहे हैं ; दुष्यंत चौटाला

dushyant-chautala-1610521749हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने शनिवार को ऐलान किया कि अगर एमएसपी को कोई खतरा हुआ तो वह पार्टी के सभी विधायकों के साथ इस्तीफा दे देंगे। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि न तो किसी की जमीन पर कब्जा होगा और न ही मंडियां बंद होंगी और ना एमएसपी खत्म होगी और अगर ऐसा हुआ तो वह खुद और जेजेपी के सभी विधायक एक पल के लिए भी अपने पदों पर नहीं रहेंगे और इस्तीफा दे देंगे। उन्होंने यह भी कहा कि 15 अक्टूबर तक प्राइवेट जॉब में 75 फीसदी आरक्षण हो जाएगा।

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पिछले 10 महीनों से राजनीतिक दलों से जुड़े कुछ लोग किसानों को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं। जिसमें तीन प्रमुख बातों का उल्लेख किया गया था- एमएसपी खत्म हो जाएगा, मंडियां बंद हो जाएंगी और किसानों की जमीन पर कब्जा कर लिया जाएगा-। मैं दोहराना चाहता हूं कि अगर इन तीनों में से किसी को भी कोई खतरा हुआ तो हमारी पार्टी के सभी 10 विधायक इस्तीफा दे देंगे। अगर किसानों की जमीन हड़प ली गई या एमएसपी नहीं दिया गया तो हम एक मिनट में इस्तीफा दे देंगे।

दरअसल, दुष्यंत चौटाला नूंह के हिलालपुर गांव में ये बातें कहीं, जहां पूर्व डिप्टी पीएम चौधरी देवीलाल की 42 फुट की प्रतिमा का अनावरण शनिवार को उनकी 108वीं जयंती पर किया गया। इस मौके पर जजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ अजय सिंह चौटाला और पार्टी के वरिष्ठ नेता मौजूद थे। उन्होंने कहा कि हरियाणा पहला राज्य है जिसने किसानों को पैसा भेजने के लिए सीधे बैंक ट्रांसफर का उपयोग किया है।  उन्होंने कहा कि हमने पिछले एक साल में किसानों को एमएसपी के सीधे बैंक ट्रांसफर के माध्यम से 31,000 करोड़ रुपये दिए हैं। हमने आढ़तियों को पैसे नहीं दिए। पहले पैसा आढ़तियों के पास जाता था और किसानों को अपने पैसे के लिए कई महीनों तक इंतजार करना पड़ता था।

यह रेखांकित करते हुए कि उनकी पार्टी ने हरियाणा के बेरोजगार युवाओं के लिए विधानसभा में 75 प्रतिशत आरक्षण के लिए एक कानून पारित करना सुनिश्चित किया है, उन्होंने कहा कि यह कानून राज्य में 15 अक्टूबर को लागू किया जाएगा और हर कंपनी पर लागू होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना की वजह से कानून के कार्यान्वयन में देरी हुई, मगर हमने रोजगार के मुद्दे पर विदेशी कंपनियों के साथ करीबी बातचीत की है। रोज का मेव (मेवात) में 180 एकड़ जमीन पर एक छोटा फोन बैटरी निर्माण संयंत्र लगेगा, जिससे 7500 नौकरियां पैदा होंगी और 75 फीसदी नौकरियां हरियाणा के युवाओं के लिए आरक्षित होंगी। गुड़गांव में एशिया के कुछ सबसे बड़े गोदाम बनाए गए हैं, जिससे 11000 नौकरियां पैदा होंगी और वे हरियाणा के युवाओं के लिए 75 प्रतिशत नौकरियां आरक्षित करेंगे।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »