Pages Navigation Menu

Breaking News

संघ कार्यालय पर संघी-कांग्रेसियों ने फहराया तिरंगा
पंपोर में मुठभेड़ में तीनों आतंकवादी मारे गए  
वाराणसी में केजरीवाल को दिखाए काले झंडे

येदियुरप्पा बने सीएम, धरने पर कांग्रेस-जेडीएस विधायक

कर्नाटक; रात के 2.30 बजे तक चले नाटकीय घटनाक्रम के बाद आज सुबह 9 बजे बी एस येदियुरप्पा ने आज कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली। एक सादे समारोह में राज्यपाल वजुभाई वाला ने उन्हें कर्नाटक के 23वें मुख्यमंत्री के रूप में पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। उनके शपथ ग्रहण के वक्त 4 केंद्रीय मंत्री अंनत कुमार, धर्मेंद्र प्रधान, जे पी नड्डा और प्रकाश जावड़ेकर राजभवन में मौजूद थे। जबकि राजभवन के बाहर बीजेपी कार्यकर्ता जश्न मना रहे थे। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने ट्वीट कर येदियुरप्पा को बधाई दी और इसे कांग्रेस के खिलाफ वोट देने वाले हर कन्नडिगा की जीत बताया। मुख्यमंत्री बनने के थोड़ी देर बाद येदियुरप्पा ने कहा कि वो किसानों के 1 लाख रुपये तक के लोन माफ करेंगे। इसके लिए 24 घंटे के अंदर बैंकों से बातचीत कर कार्रवाई के आदेश दे दिए गए हैं। शपथ ग्रहण में मौजूद बीजेपी नेता अनंत कुमार ने कहा कि येदिरप्पा सरकार आसानी से फ्लोर टेस्ट पास कर लेगी और अगले 5 साल तक चलेगी।

बी एस येदियुरप्पा को शपथ दिलाने के निर्णय के खिलाफ कांग्रेस और जेडीएस के विधायकों ने कर्नाटक विधानसभा के बाहर प्रदर्शन किया। विधानसभा परिसर में गांधी मूर्ति के पास विधायक धरने पर बैठ गए। इस धरने में 90 साल पूरे कर चुके  पूर्व प्रधानमंत्री और जेडीएस अध्यक्ष एच डी देवगौड़ा भी शामिल हुए। इस धरने में कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया, कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद और अशोक गहलौत भी शामिल हुए। धरना प्रदर्शन के बाद सभी विधायकों को वापस इगलटन रिजॉर्ट भेज दिया गया।येदियुरप्पा के शपथ लेने के साथ ही कांग्रेस और जेडीएस पर दबाव बढ़ गया है कि वो अपने पाले के विधायकों को सुरक्षित रखें। इसीलिए विधानसभा में प्रदर्शन के बाद दोनों पार्टियों के विधायकों को वापस इगलटन रिजॉर्ट भेज दिया गया है।

इससे पहले कल रात ढाई बजे तक दिल्ली में हाई वोल्टेज सियासी घटनाक्रम देखने को मिला। कांग्रेस नेता और वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने सुप्रीम कोर्ट में कर्नाटक में राज्यपाल के फैसले पर रोक लगाने के लिए अर्जेंट सुनवाई की अर्जी लगाई। मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा ने रात के 1.30 बजे सिंघवी की अर्जी पर सुनवाई के लिए जस्टिस ए के सिकरी, जस्टिस एस ए बोब्डे और जस्टिस अशोक भूषण की तीन सदस्यीय बेंच का गठन किया। दोनों पक्षों की तरफ से दलीलें सुनने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया कि वो गवर्नर के फैसले पर रोक नहीं लगा सकते, लेकिन केस की सुनवाई और अंतिम फैसले में इसे शामिल किया जाएगा। कोर्ट कल यानि शुक्रवार सुबह 10.30 बजे मामले की अगली सुनवाई करेगा।

इधर सुप्रीम कोर्ट के दिग्गज वकील राम जेठमलानी भी कर्नाटक की कानूनी लड़ाई में कूद पड़े हैं। वो अपनी तरफ से सुप्रीम कोर्ट में पक्ष रखेंगे। उन्होंने गवर्नर पर भ्रष्टाचार का रास्ता खोलने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि गवर्नर का तरीका ठीक नहीं है। गवर्नर को बताना चाहिए कि बीजेपी ने उनसे क्या कहा कि उन्होंने बीजेपी को बुला लिया। उन्होंने करप्शन को बढ़ावा दिया है। मुझे वो खुद करप्ट नजर आ रहे हैं।इस बीच कर्नाटक का किला गंवाने के बाद मायावती ने भी कांग्रेस को नसीहत दी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जेडीएस को बीजेपी की बी-टीम बताकर बहुत नुकसान कर दिया। अगर ऐसा नहीं होता तो बीजेपी को 104 सीटें भी नहीं मिल पातीं। उधर कांग्रेस प्रेसिडेंट राहुल गांधी ने आज छत्तीसगढ़ में हैं। राहुल ने यहां एक सम्मेलन में हिस्सा लिया। मंच से बीजेपी और आरएसएस पर हमला बोला। राहुल ने कहा कि कुछ लोग देश को पाकिस्तान बनाना चाहते हैं, देश में डर फैलाया जा रहा है। संस्थानों को काम नहीं करने दिया जा रहा है। इसके लिए राहुल ने सुप्रीम कोर्ट के जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस का उदाहरण दिया। राहुल ने कहा कि अबतक ऐसा सिर्फ पाकिस्तान या अफ्रीका के तानाशाही देशों में होता था। लेकिन अब भारत में ऐसा भारत में भी शुरू हो गया है। राहुल के पाकिस्तान वाले बयान पर बीजेपी में बवाल मच गया। बीजेपी की तरफ से संबित पात्रा ने राहुल गांधी को जवाब दिया। संबित पात्रा ने कहा का राहुल को देश के संविधान पर भरोसा नहीं है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *