Pages Navigation Menu

Breaking News

मोदी मंत्रिमंडल : 43 मंत्रियों की शपथ, 36 नए चेहरे, 12 का इस्तीफा

 

भारत में इस्लाम को कोई खतरा नहीं, लिंचिंग करने वाले हिन्दुत्व के खिलाफ: मोहन भागवत

देश में समान नागरिक संहिता हो; दिल्ली हाईकोर्ट

सच बात—देश की बात

योगी सरकार; रोहिंग्या कैंप तोड़कर खाली कराई 150 करोड़ की जमीन

Yogis-bulldozer-on-Rohingya-settlementनई दिल्ली: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने देश की राजधानी दिल्ली में बड़ी कार्रवाई की है. दिल्ली के मदनपुर खादर में अवैध रूप से रह रहे रोहिंग्याओं के कैंपों पर सुबह के चार बजे कार्रवाई करते हुए सिंचाई विभाग की करीब 150 करोड़ की जमीन को उनसे मुक्त कराई गई. इस कार्रवाई में उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग की 5.21 एकड़ जमीन को मुक्त कराई गई है.दिल्ली स्थित मदनपुर खादर में जलशक्ति सिंचाई विभाग के हेडवर्क्स खण्ड आगरा नहर ओखला द्वारा अभियान चलाया गया जिसके अंतर्गत कुल 5.21 एकड़ जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराया गया. वहीं,अतिक्रमण हटाओ अभियान के तहत शीघ्र ही और बड़ी कार्यवाहियां की जाएगी. गौरतलब है कि दिल्‍ली के मदनपुर खादर श्मशान घाट के सामने रोहिंग्या मुसलमान लंबे समय ये अवैध रूप से ये रह रहे थे. यहां रोहिंग्या मुसलमानों ने यूपी सिंचाई विभाग की जमीन पर अवैध बस्ती बसा रखी थी. बाकायदा यहां सभी सरकारी सुविधाएं दी जा रही थी.

सिंचाई विभाग की जमीन पर थी रोहिंग्या बस्ती

अधिशासी अभियंता वीके सिंह ने बताया कि इस भूमि से सटी जकात फाउडेशन की भूमि पर पहले रोहिंग्याओं की बस्ती बसी हुई थी. इन लोगों ने सिंचाई विभाग की आज खाली कराई गई भूमि पर स्थायी/अस्थायी कब्जा कर लिया था. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और जलशक्ति मंत्री महेन्द्र सिंह ने इन अवैध कब्जों को हटाने के लिए अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए थे. इन अधिकारियों ने दिल्ली प्रशासन के अधिकारियों के साथ 20 जुलाई, 2021 को बैठक करके इस जमीन को खाली कराए जाने का निर्णय लिया.इस निर्णय के तत्काल अनुपालन के लिए गुरुवार सुबह उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग के अधिकारियों/कर्मचारियों एवं दिल्ली पुलिस, सिविल डिफेंस स्वयं सेवकों की मदद से ग्राम मदनपुर खादर में सिंचाई विभाग की विभागीय भूमि खसरा नं0- 612 को अतिक्रमण मुक्त करा लिया गया. इस कार्रवाई के दौरान सिंचाई विभाग के अधिकारियों में सहायक अभियंता धीरज कुमार प्रथम, जिलेदार शशिभान सिंह के अलावा अन्य राजस्व कर्मी मौजूद थे.

यमुना एक्सप्रेस-वे के किनारे दौड़ेगी बुलेट ट्रेन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ड्रीम प्रोजेक्‍ट मानी जानी वाली बुलेट ट्रेन परियोजना एक और कदम आगे बढ़ गई है. दिल्ली के सराय काले खां से पीएम के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के बीच चलने वाली बुलेट ट्रेन  के लिए एलिवेटेड ट्रैक यमुना एक्सप्रेस-वे के किनारे बिछाया जाएगा. जबकि इसके यूपी के नोएडा में दो स्‍टेशन होंगे. साफ है कि बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए सैद्धांतिक सहमति बुधवार को नियाल और रेलवे अधिकारियों के बीच हुई बैठक में बन गई है.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »