Pages Navigation Menu

Breaking News

यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों को निकालने के लिए ऑपरेशन गंगा

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

हरियाणा: 10 साल पुराने डीजल, पेट्रोल वाहनों पर प्रतिबंध नहीं

सच बात—देश की बात

योगी का किसानों को तोहफा, 25 रुपए प्रति क्विंटल बढ़ा गन्ना मूल्य

yogi-adityanath-1580881692लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Government) ने अपने कैबिनेट विस्तार (Cabinet Expansion) से पहले प्रदेश के गन्ना किसानों (Sugarcane Farmers) को बड़ा तोहफा दिया है. सीएम योगी आदित्यनाथ  ने गन्ने के मूल्य में 25 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोत्तरी का ऐलान कर दिया है. अब गन्ने का मूल्य 325 रुपए से बढ़ाकर 350 रुपए कर दिया गया है. गन्ने का मूल्य बढ़ने से गन्ना किसानों की आय में 8% की वृद्धि होगी.सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को लखनऊ में किसान सम्मेलन में कहा कि राज्य में अब तक जिस गन्ने का 325 रुपए प्रति क्विंटल भुगतान होता था. अब सरकार 350 रुपए प्रति क्विंटल भुगतान करेगी. यही नहीं सामान्य गन्ने का भुगतान जो 315 रुपए प्रति क्विंटल होता था, उसमें भी 25 रुपये की वृद्धि होगी.

सीएम योगी का ऐलान

सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को लखनऊ में किसान सम्मेलन में कहा कि राज्य में अब तक जिस गन्ने का 325 रुपए प्रति क्विंटल भुगतान होता था. अब सरकार 350 रुपए प्रति क्विंटल भुगतान करेगी. यही नहीं सामान्य गन्ने का भुगतान जो 315 रुपए प्रति क्विंटल होता था, उसमें भी 25 रुपये की वृद्धि होगी. 340 रुपये का भुगतान उसमें भी होगा. अनुपयुक्त गन्ना जिस किसान के भी पास है, प्रति क्विंटल उन्हें भी 25 रुपए की बढ़ोत्तरी का लाभ दिया जाएगा.

सीएम योगी ने कहा कि बसपा सरकार में 21 चीनी मिलें बंद हुईं थीं. पिछले साढ़े 4 सालों के अंदर हमने किसानों से अन्न की रिकॉर्ड खरीद की है. जो काम यूपी सरकार में हुए हैं, वह पिछले की सरकारें भी कर सकती थीं. 2004 से लेकर 2014 तक का शासन देश और प्रदेश के लिए अंधकार युग था. अराजकता, गुंडागर्दी का बोलबाला था. प्रदेश के किसान आत्महत्या और गरीब भूख से मर रहा था. जो आज किसानों के हितैषी बने हैं, वो तब कहां थे? पिछली सरकार ने 19,02,08 किसानों को 12,808 करोड़ रुपये का गेहूं भुगतान किया था. हमारी सरकार ने 43,75,574 किसानों को 36,504 करोड़ रुपये का गेहूं भुगतान उनके खाते में किया है.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »